REET Level 1 Exam Paper 26 Sep 2021 (Section – I CDP) (Official Answer Key)

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान द्वारा REET (Rajasthan Eligibility Exam for Teachers) 2021 की परीक्षा का आयोजन 26 सितम्बर 2021 को किया गया, इस REET Level 1 Exam Primary Exam 2021 का खंड – I (बाल-विकास एवं शिक्षाशात्र) का प्रश्नपत्र उत्तर कुंजी के साथ यहाँ पर उपलब्ध है – 

Board of Secondary Education, Rajasthan Conduct The REET Exam 2021, this exam paper held on 26 September 2021, REET Level 1 Primary Exam 2021 Paper I (Section – I Child Development and Pedagogy) exam question paper with Official answer key Available Here. 

पोस्ट (Post) :- REET Level 1 Primary Exam 2021
विषय (Subject) : – Paper I – Section I – (बाल-विकास एवं शिक्षाशात्र  – Child Development and Pedagogy)
परीक्षा तिथि (Exam Date) :- 26 September 2021 

कुल प्रश्न (Number of Questions) :- 30
Paper Set – M

REET Level 1 Exam Paper 2021 

REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – I, C.D.P.) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – II, Language I – Hindi) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – II, Language I – English) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – II, Language I – Sanskrit) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – III, Language II – Hindi) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – III, Language II – English) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – III, Language II – Sanskrit) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – IV – Mathematics) (Answer Key)
REET Level 1 Exam – 26 Sep 2021 (Section – V – Environmental Studies) (Answer Key)
Read Also ...  REET Level 1 Exam Paper 23 July 2022 (Shift-I) (Section – III, Language – II – English) (Official Answer Key)

 

REET Level 1 Primary Level Exam Paper 2021
Paper I – (Section – I – Child Development and Pedagogy)
(Official Answer Key)

खण्ड -I (बाल-विकास एवं शिक्षाशात्र)

1. अलबर्ट बन्डूरा द्वारा प्रस्तावित अधिगम का सिद्धान्त है
(A) शास्त्रीय अनुबंधन सिद्धान्त
(B) संज्ञानात्मक सिद्धान्त
(C) अंतर्दृष्टि अधिगम
(D) सामाजिक अधिगम सिद्धान्त

2. रेमण्ड कैटेल द्वारा कितने व्यक्तित्व कारक प्रस्तावित किये गये हैं ?
(A) 05
(B) 14
(C) 16
(D) 08

3. निम्न में से कौन-सा मास्लो की आवश्यकताओं के पदानुक्रम में सम्मिलित नहीं है ?
(A) दैहिक आवश्यकताएँ
(B) व्यक्तिवाद एवम् समूहवाद
(C) स्नेह एवम् सम्बद्धता
(D) आत्मसिद्धि

4. एक व्यक्ति में एक समय पर दो विपरीत इच्छाओं का होना कहलाता है
(A) द्वन्द्व
(B) कुंठा
(C) चिन्ता
(D) दबाव

5. निम्नलिखित में से कौन-सा अनुसंधान स्टीफेन कोरे से सम्बन्धित है ?
(A) आधारभूत अनुसंधान
(B) व्यवहारात्मक अनुसंधान
(C) वैज्ञानिक अनुसंधान
(D) क्रियात्मक अनुसंधान

6. उपचारात्मक शिक्षण किस प्रकार के बालकों के लिये प्रयुक्त है?
(A) तेजी से सीखने वाले
(B) धीमे सीखने वाले
(D) रचनात्मकता से सीखने वाले
(C) प्रतिभाशाली बालक

7. शिक्षण की खेलकूद विधि किस सिद्धान्त पर आधारित है ?
(A) शिक्षण की विधियों के सिद्धान्त
(B) वृद्धि और विकास का सिद्धान्त
(C) शिक्षण का समाजशास्त्रीय सिद्धान्त
(D) शारीरिक शिक्षा कार्यक्रम

8. एन. सी. एफ., 2005 की राष्ट्रीय स्टियरिंग समिति के अध्यक्ष कौन थे ?
(A) प्रो. कोठारी
(B) प्रो. मेहरोत्रा
(C) प्रो. यशपाल
(D) प्रो. राम मूर्ति

Read Also ...  REET Level 1 Exam Paper 23 July 2022 (Shift-I) (Section – III, Language – II – Sanskrit) (Official Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (C)

9. आर.टी.ई. अधिनियम, 2009 किस आयु समूह के बालकों के
(A) 5-12
(B) 12-18
(C) 7-15
(D) 6-14

10. निम्नलिखित में से कौन-सा दैहिक अभिप्रेरक नहीं है ?
(A) उपलब्धि
(B) भूख
(C) प्यास
(D) नींद

11. शिक्षण-अधिगम का मनोवैज्ञानिक आधार किस पर निर्भर करता है ?
(A) अध्यापन शैली
(B) विषय-वस्तु
(C) भाषा
(D) सामाजिक-आर्थिक स्तर

12. आर.टी.ई. अधिनियम, 2009 के अनुसार प्राथमिक विद्यालयों के लिये विद्यार्थी-अध्यापक अनुपालन होना चाहिये
(A) 25 : 1
(B) 35 : 1
(C) 40 : 1
(D) 30 : 1

13. ‘मध्यावधि परीक्षा’ एक उदाहरण है
(A) रचनात्मक मूल्यांकन का
(B) मानदण्ड-संदर्भित मूल्यांकन का
(C) योगात्मक मूल्यांकन का
(D) नैदानिक मूल्यांकन का

14. कौन-सा रोग वंशानुगत है ?
(A) ए.डी.एच.डी.
(B) फीनाइलकिटोनूरीया
(C) पारकिन्सन्स
(D) एच.आई.वी.-एड्स

15. निम्नलिखित में से कौन-सा बुद्धि का निष्पादन परीक्षण है ?
(A) भाटिया बैटरी
(B) रोर्शा परीक्षण
(C) डब्लू.ए.आई.एस.
(D) रेवन का एस.पी.एम.

1 Comment

  1. शिक्षण की खेल-कूद विधि शिक्षण के क्रियीशीलता आधारित सिद्धांत पर आधारित है, ना कि वृद्धि और विकास के सिद्धांत पर , हालांकि खेलने से सर्वांगीण विकास होता है लेकिन वृद्धि एवं विकास के कुछ निश्चित सिद्धांत होते हैं- जैसे निरंतरता का, समान प्रतिमान का आदि| इस प्रश्न में एक से अधिक उत्तर सही है यह प्रश्न डिलीट होना चाहिए|

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!