UTET Exam 30 Sep 2022 Paper – II (CDP) (Official Answer Key)

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (UBSE – Uttarakhand Board of School Education) द्वारा 30 सितम्बर, 2022 को UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) की परीक्षा का आयोजन किया गया। UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) Exam 2022 Paper 2 – बाल विकास एवं शिक्षण विज्ञान की उत्तरकुंजी (Child Development and Pedagogy) यहाँ पर उपलब्ध है।

UBSE (Uttarakhand Board of School Education) Conduct the UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) 2022 Exam held on 30th September, 2022. Here UTET Paper 2 (Child Development and Pedagogy) Paper with Official Answer Key.

UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) Junior Level
(Class 6 to Class 8)

Exam :−  UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) Paper II
Part :−  बाल विकास एवं शिक्षण विज्ञान (Child Development and Pedagogy)
Organized
by : UBSE

Number of Question :− 30
SET – C

Exam Date :– 30th September, 2022

UTET 30 Sep 2022 (Junior Level)

UTET Junior Level Paper Answer Key Link
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (बाल विकास एवं शिक्षण विज्ञान)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Language – I : Hindi)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Language – I : English)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Language – II : Hindi)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Language – II : English)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Language – II : Sanskrit)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Mathematics & Science)  Click Here
UTET Exam 30 Sep 2022 – Paper – 2 (Social Studies)  Click Here
Read Also ...  UTET Exam 2019 Paper - 2 (Child Development and Pedagogy) in Hindi (Official Answer Key)

UTET Exam 30 Sep 2022 Paper – II (Junior Level)
बाल विकास और शिक्षा-शास्त्र
(Official Answer Key
)

1. निम्नलिखित में से कौन सा विकल्प सुमेलित नहीं है –
(A) विद्यार्थियों में संवेगों के विकास एवं सौन्दर्य बोध हेतु गतिविधियाँ – सृजनात्मक नाटक एवं नृत्य
(B) वैयक्तिक व सामाजिक कौशलों के विकास हेतु गतिविधियाँ – सामूहिक खेल, गायन में प्रतिभागिता
(C) स्थूल गत्यात्मक कौशल को बढ़ावा देने हेत गतिविधियाँ – चलना, कसरत करना
(D) सूक्ष्म गत्यात्मक कौशल को बढ़ावा देने वाली गतिविधियाँ – बागवानी, पकड़ना व भागना

2. एरिक एरिक्सन के अनुसार 6-11 वर्ष की आयु के बच्चे विकास की किस अवस्था में होते हैं?
(A) विश्वास बनाम अविश्वास
(B) परिश्रम बनाम हीनता
(C) अंतरंगता बनाम अलगाव
(D) पहल बनाम अपराध

3. सृजनात्मक चिंतन की किस अवस्था में हम यह निर्णय लेते है कि अंतर्दृष्टि मूल्यवान है और अनुसरण करने योग्य है –
(A) विस्तारीकरण
(B) अंतर्दृष्टि
(C) मूल्यांकन
(D) उद्ववन

4. रोर्शा इंक ब्लॉट परीक्षण है –
(A) व्यक्तित्व परीक्षण
(B) बुद्धि परीक्षण
(C) रुचि परीक्षण
(D) अभिक्षमता परीक्षण

5. कक्षा कक्ष में स्वस्थ वातावरण के सृजन हेतु एक शिक्षक को ये कौशल एवं गुण विकसित करने चाहिए
(1) संवेदनशीलता एवं देख-भाल
(2) विश्वसनीयता
(3) स्वयं व अन्य के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण
(A) 1, 2, 3
(B) 1, 2
(C) केवल 1
(D) 2, 3

6. विद्यालय आधारित आकलन की मुख्य विशेषताएँ है –
(A) शिक्षक केन्द्रित और व्याख्यान आधारित शिक्षणशास्त्र
(B) बाल केन्द्रित और व्याख्यान आधारित शिक्षणशास्त्र
(C) बाल केन्द्रित और गतिविधि आधारित शिक्षण शास्त्र
(D) उपरोक्त में से कोई नहीं

Read Also ...  UTET Exam 26 Nov 2021 Paper – 2 (CDP) (Official Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (C)

7. मानव विकास के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है
(A) मानव विकास से तात्पर्य मनुष्य के आकार और भार में होने वाली वृद्धि से है।
(B) मानव विकास मात्रात्मक के साथ-साथ गुणात्मक भी होता है।
(C) मानव विकास केवल मात्रात्मक होता है।
(D) मानव विकास का अर्थ केवल शारीरिक अंगों में होने वाली वृद्धि है।

8. मानसिक विकास के अंतर्गत निम्नलिखित में से कौन-कौन सी मानसिक क्रियाएँ सम्मिलित हैं
(1) स्मृति
(2) चिन्तन
(3) अभिप्रेरणा
(A) 1, 2
(B) 1, 2, 3
(C) 1, 3
(D) केवल 2

9. निम्नलिखित में से मानव विकास के सिद्धान्त से संबंधित कौन सा तथ्य सत्य है –
(A) निरन्तर विकास का सिद्धान्त
(B) विकास की विभिन्न गति का सिद्धान्त
(C) वंशानुक्रम व वातावरण की अंतःक्रिया का का सिद्धान्त
(D) उपरोक्त सभी

10. सीखने की प्रक्रिया के बाधक कारक है –
(1) तनाव
(2) थकान
(3) रुचि
(A) 1, 2
(B) 1, 2, 3
(C) 1, 3
(D) 2, 3

11. गणित के प्रश्न को हल करना या किसी के बारे में कल्पना करना किस प्रक्रिया का उदाहरण है?
(A) जैविक
(B) सामाजिक
(C) संज्ञानात्मकता
(D) संवेगात्मक

12. विकास की कौन सी अवस्था में व्यक्ति मूर्त अनुभवों से परे चले जाते हैं और अमूर्त एवं अधिक तार्किक रूप से सोचने लगते हैं?
(A) संवेदीगामक अवस्था
(B) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
(C) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(D) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था

Read Also ...  UTET Exam 26 Nov 2021 Paper – 1 (Language 2 - Hindi) (Official Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (D)

13. बच्चों के शिक्षण में पियाजे के सिद्धान्त से संबंधित कौन से विचार प्रयुक्त किए जा सकते हैं
1. सृजनवादी उपागम का प्रयोग।
2. बच्चे के ज्ञान तथा चिन्तन के स्तर को ध्यान में रखना।
3. सतत आकलन का प्रयोग।
4. कक्षा-कक्ष की व्यवस्था को अन्वेषण एवं खोज के रूप में बदलना।
(A) 1, 2
(B) 1, 2, 3, 4
(C) 1, 4
(D) 1, 2, 3

14. “यदि कोई विद्यार्थी पढ़ने की इच्छा नहीं रखता है तो उससे किसी अच्छे परिणामों की आशा नहीं रख सकते हैं”। यह कथन सीखने के किस सिद्धान्त को दर्शाता है?
(A) प्रभाव का नियम
(B) नवीनता का नियम
(C) तत्परता का नियम
(D) अभ्यास का नियम

15. किसी समस्या का समाधान करते समय यदि वह विद्यार्थी अचानक से उसी समस्या का हल ढूँढ लेता है तो इस प्रकार के अधिगम को कहते हैं
(A) अनुकरण द्वारा सीखना
(B) अभ्यास द्वारा सीखना
(C) अंतर्दृष्टि द्वारा सीखना
(D) प्रयास व त्रुटि द्वारा सीखना लपनाशील चिंतन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!