RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper – 2) Answer Key | TheExamPillar
RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper - 2) Answer Key

RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper – 2) Answer Key

61. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की निम्नलिखित में से कौन सी धारा सदोष परिरुद्ध व्यक्तियों के लिए तलाशी का प्रावधान करती है ?
(1) धारा 95
(2) धारा 97
(3) धारा 92
(4) धारा 94
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

62. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत बिना वारण्ट के बाटों और मापों का निरीक्षण करने के लिए कौन सशक्त है ?
(1) पुलिस थाने का भारसाधक अधिकारी
(2) पुलिस कॉन्सटेबल
(3) लोक अभियोजक
(4) मेडिकल ज्यूरिस्ट
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

63. धारा 96 दं.प्र.सं. के अंतर्गत किसी समाचार-पत्र के समपहरण की घोषणा को अपास्त करने के लिए राजस्थान उच्च न्यायालय को किए गए आवेदन की सुनवाई एक विशेष पीठ द्वारा की जावेगी जिसमें न्यायाधीश होंगे :
(1) सात
(2) पाँच
(3) तीन
(4) दो
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (3)

64. निम्नलिखित में से किस वाद में उच्चतम न्यायालय ने सभी राज्यों को एफ.आई.आर. वेबसाइट पर अपलोड किए जाने का निर्देश दिया है ?
(1) डिवाइन रीट्रीट सेन्टर बनाम केरल राज्य
(2) सुरेश चन्द जैन बनाम एम. पी. राज्य
(3) इम्तियाज अहमद बनाम उत्तर प्रदेश राज्य
(4) यूथ बार एसोसिएशन ऑफ इण्डिया बनाम भारत संघ
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

65. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 176 के अन्तर्गत ‘नातेदार’ पद में निम्नलिखित में से कौन सम्मिलित नहीं है ?
(1) माता-पिता
(2) दादा-दादी
(3) बहनें
(4) संतान
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

66. दं.प्र.सं. के अंतर्गत अपहृत स्त्रियों को वापस करने के लिए विवश करने की शक्ति का प्रयोग नहीं किया जा सकता है :
(1) जिला मजिस्ट्रेट द्वारा
(2) उपखण्ड मजिस्ट्रेट द्वारा
(3) प्रथम वर्ग मजिस्ट्रेट द्वारा
(4) द्वितीय वर्ग मजिस्ट्रेट द्वारा
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

67. धारा 125 दण्ड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत भरण-पोषण की देय रकम की वसूली के लिए कोई वारण्ट तब जारी किया जावेगा, जबकि उस रकम को उद्गृहीत करने के लिए कोई आवेदन न्यायालय में प्रस्तुत किया गया हो :
(1) उस दिनांक से जिसको वह देय हुई है दो वर्ष की समयावधि के भीतर
(2) उस दिनांक से जिसको वह देय हुई है एक वर्ष की समयावधि के भीतर
(3) उस दिनांक से जिसको वह देय हुई है छह माह की समयावधि के भीतर
(4) उस दिनांक से जिसको वह देय हुई हैं तीन माह की समयावधि के भीतर
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

68. धारा 125(1) दं.प्र.सं. में है :
(1) 4 उपखण्ड, तीन परंतुक एवं एक स्पष्टीकरण जिसमें दो भाग हैं ।
(2) 3 उपखण्ड, तीन परंतुक एवं तीन स्पष्टीकरण
(3) 2 उपखण्ड, दो परंतुकं एवं दो स्पष्टीकरण
(4) 3. उपखण्ड, एक परंतुक एवं एक स्पष्टीकरण
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

69. निम्नलिखित में से किस वर्ष दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 172 में उपखण्ड ( 1-क) और (1-ख) अन्तःस्थापित किए गए ?
(1) 2009
(2) 2005
(3) 2011
(4) 2013
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

70. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 174 के अन्तर्गत कौन मृत्यु समीक्षा करने के लिए सशक्त नहीं है ?
(1) कोई न्यायिक मजिस्ट्रेट
(2) जिला मजिस्ट्रेट
(3) जिला मजिस्ट्रेट द्वारा इस निमित्त विशेषतया सशक्त किया गया कोई अन्य कार्यपालक मजिस्ट्रेट
(4) उपखण्ड मजिस्ट्रेट
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

71. पत्नी जिसके पक्ष में धारा 125 दं. प्र. सं. के अधीन भरण-पोषण का आदेश दिया गया है रद्द नहीं किया जावेगा यदि वह
(1) पर्याप्त कारण के बिना अपने पति के साथ रहने से इंकार करती है ।
(2) पारस्परिक सहमति से विवाह – विच्छेद प्राप्त कर लिया है ।
(3) पारस्परिक सम्मति से पृथक् रह रही है ।
(4) जारता की दशा में रह रही है ।
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

72. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 202 में किया गया संशोधन कब प्रवर्तित हुआ ?
(1) 27 जून, 2013
(2) 26 जून, 2009
(3) 25 जून, 2007
(5) अनुत्तरित प्रश्न
(4) 23 जून, 2006

Show Answer/Hide

Answer – (4)

73. निम्न में से कौन धारा 144- क के अंतर्गत प्रतिषेधात्मक आदेश जारी करने हेतु सशक्त है ?
(1) राज्य सरकार द्वारा विशेषतया सशक्त किया गया अन्य कोई कार्यपालक मजिस्ट्रेट
(2) अपर जिला मजिस्ट्रेट
(3) उपखण्ड मजिस्ट्रेट
(4) जिला मजिस्ट्रेट
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

74. निम्नलिखित में से कौन सा वाद द.प्र.सं. की धारा 154 के अधीन टेलीफोन मेसेज द्वारा प्रथम सूचना ‘रिपोर्ट से संबंधित नहीं है ?
(1) भगवान जगन्नाथ मारकड ब. महाराष्ट्र राज्य
(2) हबीबुल्ला खान ब. उड़ीसा राज्य
(3) एस.के. इशाक ब. बिहार राज्य
(4) तपिन्दर सिंह ब. पंजाब राज्य
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

75. उच्चतम न्यायालय द्वारा लोक अभियोजक की भूमिका का विवेचन किया गया :
(1) स्वामी श्रद्धानंद ब. कर्नाटक राज्य
(2) मध्य प्रदेश राज्य ब. मोहन
(3) अंजनी कुमार चौधरी ब. बिहार राज्य
(4) रेखा मुरारका ब. पश्चिम बंगाल राज्य
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

76. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से किन धाराओं में आपराधिक मामलों के अन्तरण का प्रावधान किया गया है ?
(1) धारा 406 से 412
(2) धारा 408 से 414
(3) धारा 407 से 412
(4) धारा 405 से 413
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

77. दण्ड प्रक्रिया संहिता का अध्याय 18 निम्नलिखित में से किससे सम्बन्धित है ?
(1) सेशन न्यायालय के समक्ष विचारण
(2) मजिस्ट्रेट के समक्ष कार्यवाही का प्रारम्भ किया जाना
(3) आरोप
(4) मजिस्ट्रेटों से परिवाद
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

78. श्रीमती प्रियंका श्रीवास्तव ब. यू.पी. राज्य (ए.आई.आर. 2015 एस. सी. 1758) एवं वीनुभाई हरिभाई मालवीया ब. गुजरात राज्य (ए.आई.आर. 2019 एस.सी. 5233) दण्ड प्रक्रिया संहिता की निम्न में से किस धारा से संबंधित है ?
(1) धारा 156 (3)
(2) धारा 156 (1)
(3) धारा 155 (2)
(4) धारा 145 (2)
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

79. धारा 198(6) दं.प्र.सं. में उल्लिखित अपराध के लिए संज्ञान लेने हेतु विहितं अवधि, अपराध किए जाने की दिनांक से
(1) तीन वर्ष है ।
(2) दो वर्ष है ।
(3) एक वर्ष है ।
(4) छह माह है ।
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (3)

80. धारा 206 दं.प्र.सं. में ‘छोटे अपराध’ से अभिप्राय है, ऐसा अपराध जो दण्डनीय है :
(1) एक हज़ार रुपए से अनधिक जुर्माने से दण्डनीय जिसमें मोटर यान अधिनियम के अंतर्गत दण्डनीय कोई अपराध सम्मिलित नहीं है ।
(2) एक हज़ार रुपए से अनधिक जुर्माने से दण्डनीय जिसमें मोटर यान अधिनियम के अंतर्गत दण्डनीय कोई अपराध सम्मिलित है ।
(3) पाँच हज़ार रुपए से अनधिक जुर्माने से
(4) 24 घंटों से अनधिक साधारण कारावास से
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!