RPSC Assistant Professor (College Education Dept.) Exam 2021 (History Paper – I) Official Answer Key

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित (RPSC – Rajasthan Public Service Commission), द्वारा आयोजित RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 की परीक्षा 24 सितम्बर, 2021 को आयोजित की गई थी, इस RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 परीक्षा के इतिहास प्रथम प्रश्नपत्र का (History Paper I) उत्तर कुंजी (Official Answer Key) के साथ यहाँ पर उपलब्ध है – 

RPSC (Rajasthan Public Service Commission) Conduct The RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 held on 24 September, 2021. This RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 – History Paper-I with Official Answer Key Available Here. 

पोस्ट (Post) :- RPSC Assistant Professor (College Education Department) 
परीक्षा आयोजक (Organizer) :- RPSC (राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित) 
परीक्षा तिथि (Exam Date) :- 24 September, 2021 
कुल प्रश्न (Number of Questions) :- 150

RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2021
(History Paper – I) Official Answer Key

1. बनारस (वाराणसी), जो भारत के प्राचीनतम्‌ “नगरों में से एक है, के बारे में कौन सा कथन असत्य है ?
(1) वाराणसी का सर्वप्रथम उल्लेख अथर्ववेद में काशी राज्य की राजधानी के रूप में हुआ है।
(2) महाजनपद काल में काशी एक जनपद था।
(3) चीनी यात्रियों ने वाराणसी को पो-ली-नि-स्से कहा है ।
(4) बिम्बिसार ने कौशल नरेश प्रसेनजित से युद्ध कर काशी प्राप्त किया ।

2. कौन सा सुमेलित नहीं है ?
बुद्ध के जीवन की घटनाएँ – प्रतीक
(1) जन्म – कमल
(2) महाभिनिष्क्रमण – पदचिह्न
(3) संबोधि – बोधिवृक्ष
(4) महापरिनिर्वाण

3. कौनसा सुमेलित है ?
आधुनिक स्थल – महाजनपदकालीन शहर
(1) चारसाद – तक्षशिला
(2) सहेत-महेत – साकेत
(3) कम्पिल – कौशाम्बी
(4) राजघाट – वाराणसी

4. जैन धर्म के सन्दर्भ में निम्न कथनों पर विचार करते हुए असत्य का चुनाव कीजिये :
(1) अवेताम्बर परम्परा यह स्वीकार करती है कि एक ख्री को उसके जीवन काल में ही मोक्ष प्राप्ति हो सकती है।
(2) कोई भी जैन साधु चाहे कितना ही कनिष्ठ क्यों न हो, उसके उपस्थित होने पर जैन साध्वी को औपचारिक सम्मान देना बाध्यता थी ।
(3) 19वें तीर्थंकर मल्लीनाथ पुरुष थे या स्त्री, विवाद है ।
(4) कल्पसूत्र के अनुसार जिस समय महावीर का निर्वाण हुआ, उस समय जैन साध्वियों की संख्या जैन साधुओं से बहुत कम थी ।

Read Also ...  Rajasthan PSC Public Relation Officer Exam 2019 (Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (4)

5. महाजनपदकालीन आर्थिक जीवन- के बारे में अधोलिखित कथनों को पढ़ें –
(i) पाली ग्रंथों में, गहपति पद का प्रयोग उस संपन्न व्यक्ति के लिए किया गया है, जो शिल्प व विनिर्माण गतिविधियों में संलग्न रहता था।
(ii) पाली ग्रंथों में सेट्ठी पद का प्रयोग उच्च स्तरीय व्यवसायी के लिए किया गया है, जो वाणिज्य एवं साहूकारी से संबद्ध होता था।
सही कूट का चयन करें –
(1) केवल कथन (i) सत्य है।
(2) केवल कथन (ii) सत्य है।
(3) न तो कथन (i) और न ही (ii) सत्य है।
(4) दोनों कथन सत्य हैं।

6. महाजनपद काल के गणतंत्रों के बारे में अधोलिखित कथनों को पढ़िए –
(i) समस्त गणतंत्रों में शक्ति कुलीनों के हाथों थी।
(ii) अधिकांश गणतंत्र हिमालय की तराई में अवस्थित थे ।
सही कूट का चयन करें –
(1) केवल कथन (i) सत्य है।
(2) केवल कथन (ii) सत्य है।
(3) न तो कथन (i) और न ही (ii) सत्य है।
(4) दोनों कथन सत्य हैं।

7. अशोक के स्तम्भों के बारे में अधोलिखित कथनों को पढ़िए –
(A) अशोक के मुख्य स्तम्भ लेख उत्तर भारत में प्राप्त हुए हैं।
(B) छ: स्तम्भ लेख हैं जो सात स्तम्भों पर प्राप्त हुए हैं।
(C) स्तम्भों की यष्टि तथा ऊर्ध्व भाग दो अलग-अलग पत्थरों से निर्मित है।
(D) उधर्व भाग की समस्त आकृतियाँ पशुओं की हैं।
उपर्युक्त में से कौन से कथन सत्य हैं ?
सही कूट का चयन कीजिए :
(1) (A) और (B)
(2) (A), (B) और (C)
(3) (A), (B) और (D)
(4) (A), (B), (C) और (D)

8. निम्न में से कौन अशोक मौर्य द्वारा बौद्ध धर्म के प्रचारार्थ नहीं भेजा गया ?
(1) महिष
(2) रक्षित
(3) महादेव
(4) धर्मरक्षित

9. अधोलिखित कथनों को पढ़िए –
कथन (A) : मौर्य राज्य एक अत्यन्त केन्द्रीकृत राज्य था।
स्पष्टीकरण (B) : विशाल मौर्य साम्राज्य प्रान्तों में विभक्त था, जो सामान्यतः राजकुमारों द्वारा शासित थे ।
उपर्युक्त दोनों वक्तव्यों के संदर्भ में निम्मलिखित में से कौन सा सही है ?
(1) (A) और (B) दोनों सही हैं और (A) की सही व्याख्या (B) है।
(2) (A) और (B) दोनों सही हैं, किन्तु (A) की सही व्याख्या (B) नहीं है ।
(3) (A) सही है, किन्तु (B) गलत है।
(4) (A) गलत है, किन्तु (B) सही है।

Read Also ...  RPSC Assistant Professor (College Education Dept.) Exam 2021 (Sociology - I) Official Answer Key

Click To Show Answer/Hide

Answer – (1)

10. निम्न को सुमेलित कीजिए :
.   यवन शासक – क्षेत्र
(A) एंटिओकस – II (i) साइरीन
(B) टॉलसी – II (ii) मैसीडोनिया
(C) एंटीगोईनस – II (iii) मिश्र
(D) मगस (iv) सीरिया
कूट
.    (A) (B) (C) (D)
(1) (i) (ii) (iii) (iv)
(2) (iv) (iii) (i) (ii)
(3) (iii) (iv) (ii) (i)
(4) (iv) (iii) (ii) (i)

11. निम्नलिखित में से कौन सा मौर्य काल में भूमि संबंधी कर नहीं था ?
(1) भाग
(2) बलि
(3) उदक
(4) शुल्क

12. “अरुणद्‌ यवन: साकेतम्‌ ।
अरुणद्‌ यवनो मध्यमिकाम्‌ ।”
शुंग काल के यवन आक्रमण के बारे में यह उल्लेख किस ग्रंथ में मिलता है ?
(1) महाभाष्य
(2) हर्षचरित
(3) मालविकाम्रिमित्रम्‌
(4) हरिवंश पुराण

13. शक क्षत्रप रुद्रदामन की पुत्री का विवाह सातवाहन नरेश वाशिष्टीपुत्र पुलुमावि से होना किस अभिलेख से सूचित होता है ?
(1) नासिक अभिलेख
(2) गिरनार अभिलेख
(3) हाथिगुम्फा अभिलेख
(4) कन्हेरी अभिलेख

14. प्राचीन तक्षशिला नगर के बारे में निम्न कथनों के बारे में विचार करें, चिह्नित करें कि कौन से कथन सही नहीं हैं ?
(1) प्राचीन काल में गांधार जनपद की राजधानी तक्षशिला थी ।
(2) बिन्दुसार के शासनकाल में तक्षशिला निवासियों ने विद्रोह किया, तब अशोक को विद्रोह दबाने के लिए भेजा गया, किंतु बह सफल नहीं हो सका ।
(3) सम्राट अशोक के समय तक्षशिला उत्तरापथ की राजधानी थी ।
(4) सातवीं शताब्दी में युवान-च्वांग ने तक्षशिला को एक जीवंत नगर के रूप में देखा।
नीचे दिये गये कूट से उत्तर का चयन कीजिये :
(1) (a), (b)
(2) (b), (d)
(3) (b), (c)
(4) (a), (d)

Read Also ...  RPSC Assistant Professor (College Education Dept.) Exam 2021 (Political Science – II) Official Answer Key

Click To Show Answer/Hide

Answer – (2)

15. नीचे दिये गये सातवाहन शासकों को सही कालक्रम में लिखिए :
(a) वाशिष्टीपुत्र श्रीपुलुमावि
(b) गौतमीपृत्र शातकर्णी
(c) शातकर्णी प्रथम
(d) सिमुक
नीचे दिये गये कूट का प्रयोग करके सही उत्तर का चयन कीजिये :
(1) (d), (c), (b), (a)
(2) (a), (b), (c), (d)
(3) (b) (c), (d), (a)
(4) (c), (d) (a), (b)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (1)[/toggle

16. निम्न में से कौन सा कथन सत्य नहीं है ?
(1) कनिष्क के काल में कुषाण साम्राज्य का विस्तार पूर्व में गंगा नदी घाटी से दक्षिण में मालवा तक फैला हुआ था ।
(2) कनिष्क से सम्बन्धित रबातक अभिलेख पश्चिमी उत्तर प्रदेश से प्राप्त हुआ था ।
(3) वसुमित्र, अश्वघोष जैसे बौद्ध विद्वानों को कनिष्क का संरक्षण प्राप्त था ।
(4) कनिष्क के सिक्कों में भारतीय, यूनानी और पश्चिम एशियाई धार्मिक परम्पराओं के प्रतीक सम्मिलित हैं ।
[toggle]Answer – (2)

17. व्यापारी एक स्थान से स्थान को माल लेकर जाते समय समूह का थे, इसे कहा जाता था
(1) पणितव्य
(2) श्रेष्ठी
(3) सार्थ
(4) औदरिका

18. सुमेलित कीजिये और सही समूह को चुनें :

सूची – I
(गुप्तकालीन मन्दिर)  
सूची – II
(स्थल)
(a) दशावतार मन्दिर 
(i) नाचना कुठार
(b) किष्णु मन्दि  (ii) सिरपुर
(c) शिव मन्दिर  (iii) भूमरा
(b) लक्ष्मण मन्दिर  (iv) तिगवा
(e) पार्वती मन्दिर  (v) देवगढ़

नीचे दिये कूट का प्रयोग करके सही उत्तर का चयन करें
.   (a) (b) (c) (d) (e)
(1) (i) (ii) (iii) (iv)
(2) (v) (iv) (iii) (ii) (i)
(3) (ii) (iii) (iv) (v) (i)
(4) (iii) (iv) (v) (ii) (i)

19. ‘अय्यवोले’ से तात्पर्य है
(1) धातु का काम करने वाली एक श्रेणी
(2) दक्षिण भारत की पूर्व-मध्यकालीन ग्राम सभा
(8) दक्षिण भारत का पूर्व मध्यकालीन एक शक्तिशाली श्रेणी संगठन
(4) दक्षिण भारत के ब्राह्मणों की एक संस्था

20. स्कदगुप्त की हूण विजय का उल्लेख किस स्रोत से प्राप्त नहीं होता ?
(1) भितरी अभिलेख
(2) आर्यमंजुश्रीमूलकल्प
(3) कथासरित्सागर
(4) चंद्रप्रभापरिपृच्छ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!