RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper – 2) Answer Key | TheExamPillar
RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper - 2) Answer Key

RPSC Junior Legal Officer Exam 04 November 2023 (Paper – 2) Answer Key

81. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अध्याय 21-क में धाराओं 265 – क से 265-ठ तक के प्रावधान अन्तःस्थापित किये गये हैं द्वारा –
(1) दण्ड प्रक्रिया संहिता (संशोधन) अधिनियम, 2008
(2) दाण्डिक विधि (संशोधन) अधिनियम, 2013
(3) दाण्डिक विधि (संशोधन) अधिनियम, 2018
(4) दाण्डिक विधि (संशोधन) अधिनियम, 2005
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

82. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से किस धारा में सरकार की सक्रिय सेवा के व्यक्ति पर समन तामील किए जाने की प्रक्रिया का प्रावधान किया गया है ?
(1) धारा 68
(2) धारा 65
(3) धारा 63
(4) धारा 66
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

83. धारा 260. दं.प्र.सं. के अंतर्गत निम्न में से किस अपराध को संक्षिप्तत: विचारित नहीं किया जा सकता है ?
(1) भारतीय दण्ड संहिता की धारा 504 के अधीन अपराध
(2) भारतीय दंण्ड संहिता की धारा 456 के अधीन अपराध
(3) भारतीय दण्ड संहिता की धारा 454 के अधीन अपराध
(4) भारतीय दण्ड संहिता की धारा 353 के अधीन अपराध
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

84. निम्नलिखित संयोजनों में से कौन सुमेलित नहीं हैं ?
A. मजिस्ट्रेट द्वारा गिरफ्तारी – धारा 45
B. वारण्ट के सार की सूचना – धारा 75
C. विशेष महानगर मजिस्ट्रेट – धारा 19
D. संदिग्ध व्यक्तियों से सदाचार के लिए प्रतिभूति – धारा 110
नीचे दिए गए कूट की सहायता से सही उत्तर का चयन कीजिए
(1) B, C और D
(2) A, B और C
(3) A, C और D
(4) A, B और D
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (3)

85. दण्ड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत निम्नलिखित में से कौन सी धारा सुपुर्दगी प्रक्रिया का प्रावधान करती है ?
(1) धारा 207
(2) धारा 209
(3) धारा 208
(4) धारा 210
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

86. दं.प्र.सं. की धारा 216 के अंतर्गत न्यायालय को शक्ति प्राप्त है : निर्णय सुनाए जाने के उपरान्त आरोप में परिवर्तन
(1) एवं परिवर्धन की
(2) निर्णय सुनाए जानें के पूर्व आरोप में परिवर्तन या परिवर्धन की
(3) केवल आरोप के परिवर्धन की
(4) केवल आरोप को परिवर्तित करने की
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

87. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से कौन सी धारा में ‘आरोप’ शब्द परिभाषित है ?
(1) धारा 2 (ड)
(2) धारा 2 (2)
(3) धारा 2 (ग)
(4) धारा 2 (ख)
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

88. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से कौन सा प्रारूप आरोपों की विरचना के लिए विहित किया गया है ?
(1) अनुसूची 1 का प्रारूप संख्यांक 31
(2) अनुसूची 2 का प्रारूप संख्यांक 32
(3) अनुसूची 2 का प्रारूप संख्यांक 29
(4) अनुसूची 2 का प्रारूप संख्यांक 27
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

89. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 218 सम्बन्धित है
(1) जहाँ इस बारे में संदेह है कि कौन सा अपराध किया गया है
(2) एक से अधिक अपराधों के लिए विचारण
(3) जब आरोप परिवर्तित किया जाता है तब सुभिन्न अपराधों के लिए पृथक आरोप
(4) साक्षियों का पुनः बुलाया जाना
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

90. दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 482 के अन्तर्गत अन्तर्निहित शक्तियों का प्रयोग किया जा सकता है –
(1) उच्च न्यायालय द्वारा
(2) केवल उच्चतम न्यायालय द्वारा
(3) किसी भी दण्ड न्यायालय द्वारा
(4) सत्र न्यायालय द्वारा
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

91. ‘क’ पर ऐसे कार्य का अभियोग है जो चोरी की या चुराई हुई सम्पत्ति प्राप्त करने की या आपराधिक न्यास भंग की कोटि में आ सकता है और उस पर केवल चोरी का आरोप है । यह प्रतीत होता है कि उसने आपराधिक न्यास भंग का अपराध किया है । उसे आपराधिक न्यास भंग के लिए दोषसिद्ध किया जा सकेगा, यद्यपि उस पर उस अपराध का आरोप नहीं लगाया गया था :
(1) धारा 224 दं.प्र.सं. के प्रावधान को प्रयोज्य कर
(2) धारा 223 दं. प्र. सं. के प्रावधान को प्रयोज्य कर
(3) धारा 222 दं.प्र.सं. के प्रावधान को प्रयोज्य कर
(4) धारा 221 दं. प्र.सं. के प्रावधान को प्रयोज्य कर
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (4)

92. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से किस धारा में उच्च न्यायालय को राज्य सरकार की पूर्व मंजूरी से नियम बनाने के लिए सशक्त किया गया है ?
(1) धारा 478
(2) धारा 477
(3) धारा 480
(4) धारा 476
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

93. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की निम्नलिखित में से कौन सी धारा वारण्ट मामलों के विचारण में अभियुक्त के उन्मोचन से सम्बन्धित है ?
(1) धारा 242
(2) धारा 241
(3) धारा 239
(4) धारा 240
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (3)

94. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से किन धाराओं में आपराधिक मामलों के अन्तरण की प्रक्रिया का प्रावधान किया गया है ?
(1) धारा 451 से 459
(2) धारा 406 से 412
(3) धारा 432 से 435
(4) धारा 395 से 405
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

95. पुलिस रिपोर्ट पर संस्थित वारण्ट मामले के विचारण में मजिस्ट्रेट साक्षी को समन जारी कर सकता है, दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा :
(1) दोनों 242(2) के अंतर्गत एवं 243 (2) के अंतर्गत
(2) केवल 242 (2) के अंतर्गत, न कि 243 (2) के अंतर्गत
(3) 243 (2) के अंतर्गत
(4) 242 (2) के अंतर्गत
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

96. जब किसी व्यक्ति पर एक ही किस्म के एक से अधिक अपराधों का अभियोग है, जो उन अपराधों में से पहले अपराध से लेकर अन्तिम अपराध तक ________ के अन्दर ही किए गए हैं चाहे वे एक व्यक्ति के बारे में किए गए हों या नहीं, तब उस पर उनमें से तीन से अनधिक कितने ही अपराधों के लिए एक ही किया विचारण में आरोप लगाया और विचारण जा सकता है ।
(1) बारह माह
(2) छह माह
(3) तीन माह
(4) दो माह
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (1)

97. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अंतर्गत निम्नलिखित में से कौन सी धारा परिवाद को वापस लेने सें सम्बन्धित है ?
(1) धारा 258
(2) धारा 257
(3) धारा 256
(4) धारा 254
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

98. सेशन न्यायालय के समक्ष प्रत्येक विचारण में अभियोजन का संचालन किया जाएगा
(1) सहायक लोक अभियोजक
(2) लोक अभियोजक
(3) विशेष लोक अभियोजक
(4) उप-निदेशक अभियोजन
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

99. दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 के अन्तर्गत निम्नलिखित में से किन अपराधों में सौदा अभिवाक् के प्रावधान लागू होते हैं ?
(1) जहाँ ऐसा अपराध किसी चौदह वर्ष की आयु से कम के बालक के विरुद्ध किया गया है ।
(2) जहाँ ऐसा अपराध किसी महिला के विरुद्ध किया गया है ।
(3) जहाँ ऐसा अपराध सात वर्ष से अनधिक की अवधि के कारावास से दण्डनीय है ।
(4) जहाँ ऐसा अपराध देश की सामाजिक-आर्थिक दशा को प्रभावित करता है ।
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (3)

100. दण्ड प्रक्रिया संहिता में अपराधों को संक्षिप्ततः विचारित करने की शक्ति प्रदत्त नहीं की गई है
(1) किसी प्रथम वर्ग मजिस्ट्रेट को जो उच्च न्यायालय द्वारा इस निमित्त विशेषतया सशक्त किया गया हो ।
(2) सेशन न्यायाधीश द्वारा सशक्त किसी प्रथम वर्ग
(3) मजिस्ट्रेट को महानगर मजिस्ट्रेट को
(4) मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को
(5) अनुत्तरित प्रश्न

Show Answer/Hide

Answer – (2)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!