BPSC TRE Exam 25 Aug 2023 Paper - Language (II Shift)Answer Key

BPSC TRE Exam 25 Aug 2023 Paper – Language (II Shift) Official Answer Key

निर्देश ( प्रश्न सं० 79 से 82 तक) : निम्नलिखित तत्सम शब्दों के लिए पाँच विकल्प (A), (B), (C), (D) और (E) दिए गए हैं। इनमें से सर्वाधिक उपयुक्त विकल्प चुनकर उत्तर-पत्रक में चिह्नित कीजिए।

79. चुल्लि
(A) चूल्हा
(B) चौकी
(C) चोंच
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (A)

80. सूचि
(A) सत्तू
(B) सलाई
(C) सूई
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

81. काष्ठ
(A) काँटा
(B) काठ
(C) लकड़ी
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (D)

82. स्वर्ण
(A) स्वर्णकार
(B) सोना
(C) सुनार
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

निर्देश (प्रश्न सं० 83 से 86 तक) : निम्नलिखित अशुद्ध शब्दों के लिए पाँच-पाँच विकल्प दिए गए हैं। इनमें से शुद्ध शब्द को चुनकर उत्तर पत्रक में चिह्नित कीजिए।

83. संन्यासी
(A) संयासी
(B) संन्यासी
(C) सन्यासी
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

84. तयाजय
(A) तियागय
(B) त्याग
(C) त्याज्य
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

85. सुद्रढ़
(A) सुदृढ़
(B) सुदद्द
(C) सुट्ट
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

निर्देश (प्रश्न सं० 83 से 86 तक) : निम्नलिखित अशुद्ध शब्दों के लिए पाँच-पाँच विकल्प दिए गए हैं। इनमें से शुद्ध शब्द को चुनकर उत्तर पत्रक में चिह्नित कीजिए।

83. संन्यासी
(A) संयासी
(B) संन्यासी
(C) सन्यासी
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

84. तयाजय
(A) तियागय
(B) त्याग
(C) त्याज्य
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

85. सुद्रढ़
(A) सुदृढ़
(B) सुदद्द
(C) सुट्ट
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

86. ज्योतसना
(A) ज्योत्स्ना
(B) ज्योतस्ना
(C) ज्योत्सना
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (A)

निर्देश ( प्रश्न संo 87 से 90 तक) : निम्नलिखित वाक्य या वाक्यांश के लिए पाँच-पाँच विकल्प दिए गए हैं। इनमें से उपयुक्त विकल्प को चुनकर उत्तर- पत्रक में चिह्नित कीजिए।

87. जो सब कुछ जानता है।
(A) सर्वज्ञ
(B) अल्पश
(C) बहुश
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (A)

88. जो वचन से परे हो
(A) अकथनीय
(B) वर्णनातीत
(C) अचिन्त्य
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (E)

89. जो भूमि उपजाऊ हो
(A) बंजर
(B) अजर
(C) उर्वर
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

90. जिसका इलाज न हो सके
(A) अकरणीय
(B) असाध्य
(C) अल्पायु
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

निर्देश ( प्रश्न सं० 91 से 95 तक) : निम्नलिखित मुहावरों / लोकोक्तियों के लिए (A), (B), (C) (D) और (E) के रूप में पाँच-पाँच विकल्प दिए गए हैं। इनमें से उपयुक्त अर्थ को चुनकर उत्तर पत्रक में चिह्नित कीजिए।

91. अंगारों पर पैर रखना
(A) खतरनाक कार्य करना
(B) रोष और जलन के मारे कुढ़ना
(C) अत्यंत दुःख सहना
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (A)

92. आम के आम गुठलियों के दाम
(A) सही मोल-भाव करना
(B) एक काम से दूसरा काम हो जाना
(C) अधिक लाभ
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

93. आगे नाथ न पीछे पगहा
(A) मूर्ख धनवान
(B) ध्यान का न होना
(C) किसी तरह की जिम्मेवारी का न होना
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

94. कान देना
(A) दण्ड देना
(B) बिल्कुल ध्यान न देना
(C) ध्यान देना
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

95. गूंगे का गुड़
(A) अवर्णनीय दुःख
(B) अवर्णनीय सुख
(C) निन्दनीय कार्य
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

निर्देश ( प्रश्न सं० 96 से 100 तक) : निम्नलिखित अवतरण को ध्यानपूर्वक पढ़िए और पूछे गए प्रश्नों के लिए (A), (B), (C), (D) और (E) में से सही विकल्प का चयन कीजिए।

पुराणों में देखा गया है कि तप देवता करते हैं और राक्षस भी जिस किसी को कुछ भी सिद्धि प्राप्त करनी है, तप किए बिना कोई चारा नहीं इसमें उसकी नीयत अगर सात्विक रही, तो उसका और दुनिया का भला होता है। अगर उसकी नीयत बुरी रही, तो वह सारी दुनिया का नाश भी कर सकता है। मनुष्य ने ऐटम बम, हाइड्रोजन बम जैसे अस्त्र तैयार किए। यह सब मनुष्य की तपस्या का ही फल है। इस आसुरी तपस्या से दुनिया का तो नुकसान होता ही है, लेकिन ऐसी तपस्या करने वाला स्वयं आत्मनाश की
तैयारी करता है।

96. कोई चारा नहीं’ से तात्पर्य है।
(A) कई रास्ते होना
(B) दूसरा रास्ता न होना
(C) सही रास्ता होना
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

97. ‘नीयत’ से तात्पर्य है
(A) इरादा
(B) सोच
(C) अनिश्चय
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (A)

98. सात्विक नीयत से क्या होता है?
(A) दुनियादारी
(B) दुनिया का बुरा
(C) दुनिया का भला
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (C)

99. आसुरी तपस्या से मनुष्य ने क्या बनाया?
(A) शांति
(B) ऐटम बम
(C) हवाई जहाज
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

100. उपर्युक्त अवतरण का उपयुक्त शीर्षक हो सकता है
(A) सिद्धि
(B) तप
(C) ऐटम बम
(D) उपर्युक्त में से एक से अधिक
(E) उपर्युक्त में से कोई नहीं

Show Answer/Hide

Answer – (B)

 

Read Also :

Read Related Posts

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

State

Bihar
Madhya Pradesh
Rajasthan
Uttarakhand
Uttar Pradesh

E-Book

Subjects

Category
error: Content is protected !!