UGC-NET June 2015 Paper 1 (Answer Key)

UGC द्वारा आयोजित की गई UGC-NET (National Eligibility Test) की परीक्षा (Exam) के अंतर्गत  Junior Research Fellowship और Assistant Professor की परीक्षा 21 जून, 2015 को आयोजित कराई गई थी। इस परीक्षा के प्रथम प्रश्नपत्र (Paper 1) व उत्तर कुंजी (Answer Key) यहाँ उपलब्ध है – 

परीक्षा (Exam) – UGC NET June 2015
आयोजक (Organizer) – UGC
दिनाकं (Date) – 21 June, 2015
कुल प्रश्नों की संख्या (Total Question) – 60

UGC-NET for Junior Research Fellowship & Assistant Professor Exam June 2015 Answer Key
Paper – I (General Paper on Teaching and Research Aptitude) 

1. निम्नांकित में से ज्ञान सम्बन्धी योग्यता का उच्चतम स्तर क्या है?
(1) जानना
(2) समझना
(3) विश्लेषण करना
(4) मूल्यांकन करना

2. निम्नांकित में से कौन-सा तत्व शिक्षण को प्रभावित नहीं करता?
(1) शिक्षक का ज्ञान
(2) कक्षा की ऐसी गतिविधियाँ जो सीखने को प्रोत्साहित करती हैं
(3) शिक्षकों और विद्यार्थियों की सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि
(4) अनुभव द्वारा सीखना

3. शिक्षण सहायक सामग्री के बारे में निम्नलिखित में से कौन-से कथन सही हैं?
(a) वे संकल्पना धारण को लंबे समय तक बनाए रखने में मदद करती हैं।
(b) वे विद्यार्थियों को अच्छी तरह से सीखने में मदद करती हैं।
(c) वे शिक्षण और अधिगम प्रक्रिया को रोचक बनाती हैं।
(d) वे रटकर सीखने की प्रक्रिया को बढ़ावा देती हैं।
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन करें :
(1) (a), (b), (c) और (d)
(2) (a), (b) और (c)
(3) (b), (c) और (d)
(4) (a), (b) और (d)

4. शिक्षक द्वारा अध्यापन के लिए उपयोग की जाने वाली तकनीक में शामिल हैं :
(a) व्याख्यान
(b) पारस्परिक क्रिया आधारित व्याख्यान
(c) सामूहिक कार्य
(d) स्वाध्याय
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(1) (a), (b) और (c)
(2) (a), (b), (c) और (d)
(3) (b), (c) और (d)
(4) (a), (b) और (d)

5. उपलब्धि परीक्षण प्रायः निम्न में से किसके लिए प्रयुक्त किए जाते हैं ?
(1) किसी विशिष्ट कार्य हेतु चयन करने के लिए
(2) किसी पाठ्यक्रम हेतु प्रत्याशियों के चयन के लिए
(3) सीखने वालों के सबल व दुर्बल पक्षों की पहचान के लिए
(4) शिक्षण के पश्चात् सीखने की मात्रा के मूल्यांकन के लिए

6. एक अच्छा शिक्षक वह है, जो :
(1) उपयोगी सूचनायें देता है।
(2) संकल्पनाओं और सिद्धांतों को स्पष्ट करता है।
(3) विद्यार्थियों को मुद्रित नोट्स देता है।
(4) छात्रों को सीखने के लिए अभिप्रेरित करता है।

Read Also ...  UGC-NET Dec 2012 Paper 1 (Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (4)

7. ‘अनुसंधान’ शब्द का अर्थ के संबंध में निम्नलिखित में से कौन-से कथन सत्य हैं?
(a) अनुसंधान का तात्पर्य किसी समस्या के समाधान का पता लगाने के लिए शुरू की गई व्यवस्थित कार्यकलाप अथवा कार्यकलापों की श्रृंखला से है।
(b) यह एक व्यवस्थित, तार्किक और निष्पक्ष प्रक्रिया है जिसमें परिकल्पना का परीक्षण, आंकड़ों का विश्लेषण, सिद्धांतों की व्याख्या और रचना की जा सकती है।
(c) यह सत्य के प्रति बौद्धक जाँच अथवा खोज है।
(d) इससे ज्ञान में वृद्धि होती है।
निम्नलिखित कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(1) (a), (b) और (c)
(2) (b), (c) और (d)
(3) (a), (c) और (d)
(4) (a), (b), (c) और (d)

8. एक अच्छे शोध प्रबंध लेखन में शामिल हैं :
(a) विराम चिह्न में कमी और न्यूनतम व्याकरणिक अशुद्धियाँ।
(b) संदर्भो की सावधानीपूर्वक जाँच।
(c) शोध प्रबंध लेखन में निरंतरता।
(d) स्पष्ट और अच्छी तरह से लिखा हुआ सारांश।
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(1) (a), (b), (c) और (d)
(2) (a), (b) और (c)
(3) (a), (b) और (d)
(4) (b), (c) और (d)

9. निम्नलिखित में से किस आधार पर ज्यां प्याजे ने मानव विकास का संज्ञानात्मक सिद्धान्त दिया?
(1) मौलिक अनुसंधान
(2) प्रायोगिक अनुसंधान
(3) क्रियात्मक अनुसंधान
(4) मूल्यांकन अनुसंधान

10. “एक संख्यात्मक अभिक्षमता परीक्षण में पुरुष तथा महिला विद्यार्थी एक समान प्रदर्शन करते हैं।” यह कथन निम्न में से किसको इंगित करता है?
(1) अनुसंधान परिकल्पना
(2) शून्य परिकल्पना
(4) सांख्यकीय परिकल्पना
(3) दिशात्मक परिकल्पना

11. निम्नलिखित में से किस प्रकार के अनुसंधान के सारांशों/निष्कर्षों को अन्य स्थितियों से सामान्यीकृत नहीं किया जा सकता है?
(1) ऐतिहासिक अनुसंधान
(2) वर्णनात्मक अनुसंधान
(3) प्रायोगिक अनुसंधान
(4) कारणात्मक तुलनापरक अनुसंधान

12. एक-प्रश्नावली तैयार करते समय निम्नलिखित में से कौन-से कदम उठाए जाने की आवश्यकता है?
(a) अध्ययन के प्राथमिक और द्वितीयक उद्देश्य लेखन।
(b) वर्तमान साहित्य की समीक्षा।
(c) प्रश्नावली का प्रारूप तैयार करना।
(d) प्रारूप का पुनरीक्षण।
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए।
(1) (a), (b) और (c)
(2) (a), (c) और (d)
(3) (b), (c) और (d)
(4) (a), (b), (c) और (d)

निम्नलिखित अनुच्छेद को सावधानीपूर्वक पढ़िए और 13 से 18 तक के प्रश्नों के उत्तर दीजिए :

Read Also ...  UGC-NET June 2013 Paper 1 (Answer Key)

कथावाचन हमारे जीन में नहीं है। यह विकासमूलक इतिहास भी नहीं है। यह वह तत्व है जो हमें मानव बनाता है।

मानव कथा वाचन के माध्यम से प्रगति करता है। किसी विशेष घटना का परिणाम कथा के कई विविध रूपों में सामने आता है, जिसके बारे में लोग कहते हैं। कभी-कभी उन कहानियों में भारी अंतर होता है। किस कहानी का वाचन हो रहा है और उसे दोहराया जा रहा है तथा किस कथा को छोड़ दिया गया और भुला दिया जाता है जिससे बहुधा यह निर्धारित होता है कि हमने कैसे प्रगति की। हमारा इतिहास, ज्ञान और समझ – ये सभी कुछ कहानियों के संग्रह हैं जो जीवित रहते हैं। इसमें वे कहानियाँ भी शामिल हैं जो हम भविष्य के बारे में एक-दूसरे को कहते हैं। और भविष्य कैसा होगा यह आंशिक अथवा संभवतः व्यापक रूप से उन कहानियों के चयन पर निर्भर करता है जिन पर हमारा सामूहिक रूप से विश्वास होता है।

कुछ कहानियाँ तो डर और चिंता फैलाने के लिए गढ़ी जाती हैं। ऐसा इसलिए कि कुछ कथा वाचक ऐसा महसूस करते हैं कि कुछ तनाव पैदा करने की ज़रूरत है। कुछ डरावनी कहानियाँ होती हैं, वे टोटमी चेतावनी जैसी होती हैं : “अभी कुछ नहीं किए तो हम सबका सर्वनाश हो जाएगा।” इसके बाद कुछ ऐसी कहानियाँ होती हैं जो इस बात की ओर संकेत करती हैं कि सब कुछ अच्छा होगा यदि हम सब कुछ विशेष रूप से चन्द सक्षम वयस्कों के भरोसे छोड़ देंगे। इस समय यह प्रवृत्ति उन लोगों द्वारा आगे बढ़ाई जा रही है जो अपने आपको “विवेकी आशावादी” कहते हैं। वे यह दावा करते हैं कि प्रतिस्पर्धा करना, सफल होना और दूसरों की कीमत पर लाभ लेना ही मानव स्वभाव है। हालांकि विवेकी आशावादी यह अनुभव नहीं करते कि भद्र सामाजिक ताने-बाने के माध्यम से मानवता ने समय के साथ कैसे प्रगति की है और कैसे बड़े समाज का समूह न्यूनतम स्वार्थ से कार्य करता है तथा प्रक्रिया में धनी और निर्धन एवं ऊँच-नीच को समान रूप से कैसे समायोजित करता है। कथा-वाचन के इस पहलू पर “व्यावहारिक सम्भाव्यों” द्वारा विचार किया जाता है, जो उन लोगों के मध्य का मार्ग अपनाते हैं जो यह कहते हैं कि सब ठीक-ठाक है, खुश रहो और सुखद भविष्य के लिए अपने व्यवहार में व्यक्तिवादी बनो और वे लोग जो निराशावाद और भय का दामन थामते हैं, वे यह मानते हैं कि हम सबका सर्वनाश हो जाएगा।

हमारा भविष्य यह है कि हम किस कहानी को आगे बढ़ाते हैं और हम उस पर किस तरह से कार्य करते हैं।

Read Also ...  UGC-NET 08 July 2018 Exam (Paper 1 with Answer Key)

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए :

13. हमारा ज्ञान निम्न में से किसका समूह है?
(1) वे सभी कहानियाँ जिन्हें हमने अपने जीवन काल में सुना है।
(2) कुछ ऐसी कहानियाँ जिन्हें हम याद करते हैं।
(3) कुछ कहानियाँ जो जीवित रहती हैं।
(4) कुछ महत्वपूर्ण कहानियाँ।

14. कथा वाचन निम्न में से क्या है?
(1) एक कला
(2) एक विज्ञान
(3) हमारे जीन में है
(4) एक तत्व जो हमें मानव बनाता है

15. कहानियों के आधार पर हमारा भविष्य कैसा होगा?
(1) हम सामूहिक रूप से विश्वास का चयन करते हैं।
(2) जो बार-बार कही जाती हैं।
(3) भय और तनाव फैलाने के लिए विरूपित की जाती हैं।
(4) भविष्य बताने के लिए विरूपित की जाती हैं।

16. विवेकी आशावादी :
(a) अवसरों की ताक में रहते हैं।
(b) संवेदनशील और प्रसन्न रहते हैं।
(c) स्वार्थी होते हैं।
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर दीजिए :
(1) (a), (b) और (c)
(2) केवल (a)
(3) केवल (a) और (b)
(4) केवल (b) और (c)

17. मानव कम स्वार्थी होते हैं जब :
(1) वे बड़े समूह में कार्य करते हैं।
(2) वे डरावनी कहानियाँ सुनते हैं।
(3) वे आनंददायी कहानियाँ सुनते हैं।
(4) वे अकेले काम करते हैं।

18. ‘क्रियात्मक संभाव्य’ वे हैं जो :
(1) मध्यमार्ग पर चलते हैं।
(2) विनाश का हौवा खड़ा करने वाले होते हैं।
(3) आत्म-केन्द्रित होते हैं।
(4) प्रसन्न और बेपरवाह होते हैं।

19. निम्नलिखित में से किससे सम्प्रेषण की प्रभावशीलता का पता लगाया जा सकता है?
(a) अभिवृत्ति सर्वेक्षण
(b) कार्य निष्पादन रिकॉर्ड
(c) विद्यार्थियों की उपस्थिति
(d) सम्प्रेषण माध्यम का चयन
नीचे दिए कूटों से सही उत्तर का चयन कीजिए :
(1) (a), (b), (c) और (d)
(2) (a), (b) और (c)
(3) (b), (c) और (d)
(4) (a), (b) और (d)

20. अभिकथन (A) :
औपचारिक सम्प्रेषण त्वरित और लचीला होना चाहिए।
तर्क (R) :
सूचना का औपचारिक सम्प्रेषण एक योजनाबद्ध और व्यवस्थित प्रवाह है।
(1) दोनों (A) और (R) सत्य हैं और (R), (A) का सही स्पष्टीकरण है।
(2) दोनों (A) और (R) सत्य हैं, परंतु (R), (A) का सही स्पष्टीकरण नहीं है।
(3) (A) सत्य है, परन्तु (R) असत्य है।
(4) (A) असत्य है, परन्तु (R) सत्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!