RPSC Assistant Professor (College Education Dept.) Exam 2021 (Sociology – II) Official Answer Key

राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित (RPSC – Rajasthan Public Service Commission), द्वारा आयोजित RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 की परीक्षा 04 अक्टूबर, 2021 को आयोजित की गई थी, इस RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 परीक्षा के समाज शास्त्र द्वितीय प्रश्नपत्र का (Sociology Paper – II) उत्तर कुंजी (Official Answer Key) के साथ यहाँ पर उपलब्ध है – 

RPSC (Rajasthan Public Service Commission) Conduct The RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 held on 04 October, 2021. This RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2020 – Sociology Paper – II with Official Answer Key Available Here. 

पोस्ट (Post) :- RPSC Assistant Professor (College Education Department) 
परीक्षा आयोजक (Organizer) :- RPSC (राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित) 
परीक्षा तिथि (Exam Date) :- 04 October, 2021 
कुल प्रश्न (Number of Questions) :- 150

RPSC Assistant Professor (College Education Department) Exam 2021
(Sociology Paper – II)
Official Answer Key

1. यह किसका विश्वास है कि “सभी विज्ञानों की एकता उसकी पद्धति में है न कि केवल उसकी विषयवस्तु में” ?
(1) कार्ल पियर्सन
(2) स्टुअर्ट चेज़
(3) जॉर्ज ए. लुण्डबर्ग
(4) एल.एल. बर्नार्ड

2. निम्न के जोड़े बनाएँ:

सूची-I  सूची-II
(A) सर्वे मैथड्स इन सोशियल इन्वेस्टीगेशन (i) डब्ल्यू.पी. स्कॉट
(B) मैथड्स इन सोशियल रिसर्च (ii) आर.एल. एकॉफ
(C) डिक्शनरी ऑफ सोशियोलॉजी (iii) सी.ए. मोजर
(D) द डिजाइन ऑफ सोशियल रिसर्च (iv) गुडे एवं हट्ट

नीचे दिए गए संकेतक में से सही उत्तर चुनिए :
संकेतक:
(A) (B) (C) (D)
(1) (i) (ii) (iii) (iv)
(2) (iv) (i) (i) (i)
(3) (iii) (iv) (i) (ii)
(4) (iii) (iv) (ii) (i)

Read Also ...  RPSC (Group-B) School Lecturer (School Education) Music Exam Paper 2020 (Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (3)

3. “प्रमाणों या तथ्यों का निष्पक्ष रूप से परीक्षण करने की इच्छा और योग्यता ही वस्तुनिष्ठता है।” किसका कथन है ?
(1) पी.वी. यंग
(2) ए.डब्ल्यू. ग्रीन
(3) सी.ए. मोजर
(4) जी.एम. फिशर

4. वैज्ञानिक अध्ययन की एक मूल आवश्यकता है
(1) व्यक्तिपरकता
(2) वस्तुपरकता
(3) मूल्य
(4) विश्वास

5. अनुसंधानकर्ता को शोध से पूर्व प्रतिभागियों से आवश्यक रूप से क्या प्राप्त कर लेना चाहिए ?
(1) निष्ठा
(2) लिखित प्रतिबद्धता
(3) सूचित सहमति
(4) मूल्य अभिमुखता

6. सामाजिक विज्ञान में कौन प्रमुख रूपनिदर्शन नहीं है ?
(1) प्रत्यक्षवादी रूपनिदर्शन
(2) व्याख्यात्मक रूपनिदर्शन
(3) आलोचनात्मक रूपनिदर्शन
(4) रचनात्मक रूपनिदर्शन

7. किसने समाजशास्त्र को दो मुख्य भागों – सामाजिक स्थैतिकी और सामाजिक गतिकी में विभक्त किया है ?
(1) मार्गन
(2) स्पेन्सर
(3) कॉम्टे
(4) कोन

8. प्रकार्यात्मक विश्लेषण का रूपनिदर्शन का निर्माण किसने किया है ?
(1) मर्टन
(2) कॉम्टे
(3) गारफिकल
(4) कुह्न

9. शब्द रूपनिदर्शन (पैराडाइम) का अर्थ है :
(1) अवधारणाओं एवं प्रस्थापनाओं का एक समूह है।
(2) भौतिकी की एक शाखा
(3) एक प्रकार का निदर्शन
(4) कुछ करने के लिए मजबूर होना

10. अभिकथन (A) : अनुसंधान अभिकल्प एक प्रकार का प्रारूप होता है, जो वास्तव में अनुसंधान करने से पहले तैयार किया जाता है।
कारण (R) : कई अनुसंधान योजनाओं के ठोस निष्कर्ष नहीं निकाल पाते।
संकेतक :
(1) (A) और (R) दोनों सही हैं और (R), (A) की सही व्याख्या है।
(2) (A) और (R) दोनों सही हैं, लेकिन (R), (A) की सही व्याख्या नहीं है।
(3) (A) सही है, लेकिन (R) गलत है।
(4) (A) गलत है, लेकिन (R) सही है।

Read Also ...  Rajasthan Police Constable Exam – 15 May 2022 (1st Shift) (Official Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

Answer – (2)

11. वह शोध जो “कारण और प्रभाव” की घटनाओं से संबंधित है, वह है :
(1) अन्तर-सांस्कृतिक शोध
(2) प्रयोगात्मक शोध
(3) तुलनात्मक शोध
(4) विवरणात्मक शोध

12. एक चिकित्सक डेंगु बुखार की दो दवाओं के सापेक्ष प्रभावशीलता का अध्ययन करता है । उसका शोध होगा
(1) विवरणात्मक अनुसंधान
(2) ऐतिहासिक अनुसंधान
(3) प्रयोगात्मक अनुसंधान
(4) नृवंशीय विज्ञान

13.
(A) : जब एक शोधकर्ता सर्वेक्षण करता है, तथ्यों को एकत्रित करता है, परिणामों का विश्लेषण करता है और उसे अपने अध्ययन के रूप में प्रस्तुत करता है, तो यह प्राथमिक सामग्री

(B) : लेकिन जब कोई अन्य व्यक्ति उन तथ्यों का उपयोग आगे के विश्लेषण के लिए करता है, तो उसके लिए वह द्वितीयक सामग्री बन जाती हैं।
(1) (A) गलत है और (B) सही है।
(2) (A) सही है और (B) गलत है।
(3) (A) और (B) दोनों गलत हैं।
(4) (A) और (B) दोनों सही हैं।

14. एक प्रभावी विपणन संचार चैनल के रूप में सोशल नेटवर्किंग साइटों की भूमिका में अध्ययन करना कौन सी अनुसंधान प्ररचना का उदाहरण है?
(1) व्याख्यात्मक
(2) वर्णनात्मक
(3) अन्वेषणात्मक
(4) प्रयोगात्मक

15. अनुसंधान प्रारूप क्या है ?
(1) अनुसंधान के संचालन का वह तरीका जो सिद्धांत सम्मत नहीं है।
(2) तथ्य संकलन और विश्लेषण के प्रत्येक चरण के लिए एक रूपरेखा है ।
(3) गुणात्मक या मात्रात्मक तरीकों का उपयोग करने के बीच का विकल्प।
(4) जिस शैली में आप अपने शोध निष्कर्ष प्रस्तुत करते हैं, उदाहरणतः ग्राफ।

Read Also ...  RPSC Assistant Professor (College Education Dept.) Exam 2021 (Sociology - I) Official Answer Key

Click To Show Answer/Hide

Answer – (2)

16. एक प्राक्कल्पना जो पर्याप्त जानकारी की अनुपलब्धता में अनुसंधान विषय के बारे में अनुसंधानकर्ता के प्रारंभिक अनुमान पर आधारित नहीं होती है, उसे कहते हैं
(1) वैज्ञानिक प्राक्कल्पना
(2) शून्य प्राक्कल्पना
(3) कार्यकारी प्राक्कल्पना
(4) सांख्यिकीय प्राक्कल्पना

17. सादृश्यता किसका स्रोत है ?
(1) साक्षात्कार
(2) माध्य
(3) चर
(4) प्राक्कल्पना

18. प्राक्कल्पना के परीक्षण के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है ?
(1) केवल वैकल्पिक प्राक्कल्पना का परीक्षण किया जा सकता है।
(2) केवल शून्य प्राक्कल्पना है जिसका परीक्षण किया जा सकता है।
(3) वैकल्पिक और शून्य प्राक्कल्पना दोनों का परीक्षण किया जा सकता है।
(4) वैकल्पिक और शून्य प्राक्कल्पना दोनों का परीक्षण नहीं किया जा सकता है।

19. प्रतिदर्शन की किस विधि में समग्र की प्रत्येक इकाई के चयन की समान संभावना होती है ?
(1) उद्देश्यपूर्ण प्रतिदर्शन
(2) अभ्यंश प्रतिदर्शन
(3) स्तरित प्रतिदर्शन
(4) सरल दैव प्रतिदर्शन

20. प्रतिदर्शन त्रुटि किसके साथ घट जाती है ?
(1) प्रतिदर्श के आकार में वृद्धि के साथ
(2) प्रतिदर्श के आकार में कमी के साथ
(3) यादृच्छिकीकरण की प्रक्रिया में
(4) विश्लेषण की प्रक्रिया में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!