CTET Exam Sep 2016 Paper - II Child Development and Pedagogy

CTET Sep 2016 – Paper – II (Child Development and Pedagogy)

16. लॉरेंस कोलबर्ग के नैतिक तर्क के सिद्धांत की अनेक बातें के लिए आलोचना की जाती है। इस आलोचना के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही है?
(1) कोलबर्ग ने नैतिक तर्क के प्रत्येक सोपान के लिए विशेष उत्तर नहीं दिया है।
(2) अपनी सैद्धांतिक रूपरेखा पर पहुँचने के लिए कोलबर्ग ने पियाजे के सिद्धांतों को दोहराया है।
(3) कोलबर्ग का सिद्धांत बच्चों के प्रत्युत्तरों पर ध्यान केंद्रित नहीं करता।
(4) कोलबर्ग ने अपने अध्ययन को मूलतः पुरुर्षों के नमूनों पर आधृत रखा है।

Show Answer/Hide

Answer – (4)

17. निम्नलिखित में से कौन-सा अधिगम के आकलन को उजागर करता है?
(1) शिक्षक विद्यार्थियों की चिंतन प्रक्रियाओं पर ध्यान देने के अलावा उनकी अवधारणात्मक समझ का भी आकलन करता है।
(2) शिक्षक मानक’ उत्तरों से विद्यार्थियों के उत्तरों की तुलना करके उनका आकलन करता है।
(3) शिक्षक पाठ्य-पुस्तकों में दी गई जानकारी के आधार पर विद्यार्थियों का आकलन करता है।
(4) शिक्षक किसी विद्यार्थी के निष्पादन का आकलन दूसरों के निष्पादन की तुलना में करता है। 

Show Answer/Hide

Answer – (1)

18. ‘बालकेंद्रित’ शिक्षा-शास्त्र का अर्थ है :
(1) शिक्षक द्वारा बच्चों को आदेश देना कि क्या किया जाना चाहिए
(2) बच्चों के अनुभवों और उनकी आवाज को प्रमुखता देना
(3) निर्धारित सूचना का अनुसरण करने में बच्चों को सक्षम बनाना
(4) कक्षा में सारी बातें सीखने के लिए शिक्षक का आगे-आगे होना 

Show Answer/Hide

Answer – (2)

19. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन भाषा और विचार के बारे में पियाजे और वाइगोत्स्की के दृष्टिकोण का सही वर्णन करता है?
(1) वाइगोत्स्की के अनुसार पहले विचार जन्म लेता है और पियाजे के अनुसार भाषा का विचार पर भारी प्रभाव पड़ता है।
(2) पियाजे के अनुसार पहले विचार जन्म लेता है और वाइगोत्स्की के अनुसार भाषा का विचार पर भारी प्रभाव पड़ता है।
(3) दोनों मानते हैं कि बच्चे की भाषा से विचार जन्म लेते हैं।
(4) दोनों भाषा को बच्चे के विचारों से जन्म लेती हुई मानते हैं।

Show Answer/Hide

Answer – (2)

20. विद्यालय-यात्रा पर जाने के लिए पोती को अपने पिता से बहस करते हुए देखकर दादी कहती है, “तुम अच्छी लड़की की तरह आज्ञाकारी क्यों नहीं हो? तुम लड़कों की तरह व्यवहार करोगी तो तुम से कौन शादी करेगा?” यह कथन निम्नलिखित में से किसको प्रतिबिम्बित करता है?
(1) लिंग समरूपता
(2) लड़कियों और लड़कों के स्वभाव के बारे में रूढिबद्ध धारणा
(3) लड़की के लिंग की ग़लत पहचान
(4) बच्चों के पालन-पोषण में परिवार की कठिनाइयाँ

Show Answer/Hide

Answer – (2)

21. आकलन के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन-से कथन सही है?
A. आकलन से विद्यार्थियों को यह सहायता मिलनी चाहिए कि वे अपनी शक्तियों और रिक्तियों को देख सकें और शिक्षक तदनुसार उन्हें ठीक कर सकें।
B. आकलन तभी सार्थक होता है जब विद्यार्थियों को तुलनात्मक मूल्यांकन भी हो।
C. आकलन केवल स्मरणशक्ति का ही नहीं, बोधन और अनुप्रयोग का भी होना चाहिए।
D. आकलन तब तक उद्देश्यपूर्ण नहीं हो सकता जब तक उससे भय और चिंता का संचार न हो।
(1) B और C
(2) A और B
(3) B और D
(4) A और C

Show Answer/Hide

Answer – (4)

22. शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 के अनुसार विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को पढ़ना चाहिए ।
(1) घर पर माता-पिता और देखभाल करने वालों के साथ जो उन्हें आवश्यक सहायता उपलब्ध कराएँ।
(2) खासतौर पर उन्हीं के लिए बनाए गए विशेष विद्यालयों में
(3) समावेशी शिक्षा व्यवस्था में इस प्रावधान के साथ कि उनकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सके।
(4) व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्रों में जो उन्हें जीवन कौशलों के लिए तैयार करेंगे

Show Answer/Hide

Answer – (3)

23. जिस कक्षाकक्ष में विविध पृष्ठभूमि से विद्यार्थी आते हों, वहाँ एक प्रभावी शिक्षक :
(1) वंचित पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों को कठिन परिश्रम करने के लिए कहेगा ताकि वे अपने साथियों के बराबर पहुँच सकें
(2) समूह में वैयक्तिक भिन्नता को बताने के लिए उनकी सांस्कृतिक जानकारी पर ध्यान देगा
(3) सांस्कृतिक जानकारी की अनदेखी करेगा और एक सर्वमान्य तरीके से अपने सभी विद्यार्थियों के साथ व्यवहार करेगा।

(4) समान आर्थिक पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों का समूह बनाएगा और उन्हें एक साथ रखेगा

Show Answer/Hide

Answer – (2)

24. निम्नलिखित विकास के सिद्धांतों का उनके सही वर्णन से मिलान कीजिए :
.    सिद्धांत                          वर्णन
(a) समीप-दूराभिमुख दिशा   (i) विभिन्न बच्चे भिन्न-भिन्न दर से बढ़ते हैं ।
(b) शिरःपदाभिमुख दिशा      (ii) सिर से पैर का क्रम
(c) अंतर्वैयक्तिक भिन्नताएँ     (iii) किसी अकेले बच्चे में विकास की दर विकास के एक क्षेत्र की अपेक्षा दूसरी में भिन्न हो सकती है।
(d) अंतरावैयक्तिक               (iv) शरीर के केन्द्र से बाहर की ओर
.                                            (v) सरल से जटिल की ओर भिन्नताएँ।
.     a, b, c, d
(1) v, ii, i, iii
(2) ii, iv, i, iii
(3) ii, iv, iii, i
(4) iv, iii, i, ii 

Show Answer/Hide

Answer – (4)

25. संज्ञान और संवेग के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा कथन सही है?
(1) संज्ञान और संवेग परस्पर जुड़े हैं और एक-दूसरे को प्रभावित करते हैं।
(2) संज्ञान और संवेग एक-दूसरे से स्वतंत्र प्रक्रियाएँ हैं।
(3) संज्ञान संवेगों को प्रभावित करता है किंतु संवेग संज्ञान को प्रभावित नहीं करता।
(4) संवेग संज्ञान को प्रभावित करते हैं किंतु संज्ञान संवेगों को प्रभावित नहीं करता।

Show Answer/Hide

Answer – (1)

26. विविध शिक्षार्थियों वाली एक समावेशी कक्षा में सहयोगी अधिगम और समवयस्कों से सीखना :
(1) केवल कभी-कभी ही प्रयोग किया जाना चाहिए क्योंकि यह सहपाठियों से तुलना को बढ़ावा देता है।
(2) सक्रिय रूप से निरुत्साहित किया जाना चाहिए और प्रतियोगिता को बढ़ावा देना चाहिए।
(3) सक्रिय रूप से प्रोत्साहित किया जाना चाहिए जिससे समवयस्कों की स्वीकार्यता बढ़े
(4) कार्यान्वित नहीं किया जाना चाहिए और विद्यार्थियों को क्षमताओं के अनुसार अलग-अलग किया जाना चाहिए

Show Answer/Hide

Answer – (3)

27. एक शिक्षिका अपनी कक्षा में विविधता को संबोधित कर सकती है :
A. भिन्नताओं को स्वीकार करके और उसे महत्त्व देकर
B. बच्चों की सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्ठभूमि का शिक्षा-शास्त्रीय संसाधन के रूप में प्रयोग करके
C. विभिन्न अधिगम शैलियों को समायोजित करके
D. मानक निर्देश देकर और निष्पादन हेतु सर्वमान्य मानदण्ड निर्धारित करके नीचे दिए गए कूट के आधार पर सही उत्तर चुनिए।
(1) A, B, C और D
(2) A, B और D
(3) B, C और D
(4) A, B और C 

Show Answer/Hide

Answer – (4)

28. कोई शिक्षिका अपनी कक्षा में फर्नीचर की तीखी धार वाले किनारों को रुई से ढंका रखने को कहती है और ‘छुओ तथा अनुभव करो’ वाले सूचना-पट्टों का उपयोग करने को कहती है। वह किस वर्ग के विशेष शिक्षार्थियों की आवश्यकता पूर्ति करने का प्रयास कर रही है?
(1) दृष्टि विकलांग शिक्षार्थी।
(2) श्रवण विकलांग शिक्षार्थी
(3) सीख न सकने वाले शिक्षार्थी
(4) सामाजिक रूप से वंचित शिक्षार्थी 

Show Answer/Hide

Answer – (1)

29. प्रतिभाशाली बच्चों के लिए सबसे अच्छे शैक्षिक कार्यक्रम वे होते हैं जो :
(1) उन्हें अधिगम के न्यूनतम मानकों तक काम करने को प्रेरित करने के लिए उपहारों और पुरस्कारों का उपयोग करते हैं।
(2) प्रत्यास्मरण के द्वारा ज्ञान की प्रवीणता पर बल देते हैं
(3) उनके चिंतन को प्रेरित कर उन्हें विविध विचारों में व्यस्त रहने के अवसर देते हैं।
(4) उनके आक्रामक व्यवहार को नियंत्रित करते हैं। 

Show Answer/Hide

Answer – (3)

30. विद्यालयों में विद्यार्थियों की असफलता के बारे में निम्नलिखित में से कौन-से कथन सही हैं?
A. विशेष जातियों और समुदाय से संबंधित विद्यार्थी असफल होते हैं क्योंकि उनमें योग्यता नहीं होती।
B. विद्यार्थी विद्यालयों में असफल होते हैं क्योंकि उन्हें अधिगम के लिए उपयुक्त पुरस्कार नहीं दिए जाते।
C. विद्यार्थी असफल होते हैं क्योंकि शिक्षण उस तरीके से नहीं किया जाता जो उनके लिए सार्थक हो।
D. विद्यार्थी असफल होते हैं क्योंकि विद्यालय व्यवस्था प्रत्येक विद्यार्थी की आवश्यकताओं और अभिरुचियों का ध्यान नहीं रखती।
(1) C और D
(2) A और B
(3) B और C
(4) B और D

Show Answer/Hide

Answer – (1)

 

Read Also :

Read Related Posts

 

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

State

Bihar
Madhya Pradesh
Rajasthan
Uttarakhand
Uttar Pradesh

E-Book

Subjects

Category
error: Content is protected !!