Ancient India History (Rigvedic and Post Vedic Period) MCQ Part – 09

आगामी परीक्षाओं SSC (Steno, JE, CGL, CHSL, CPO, MTS etc), RRB (Group D, JE, NTPC etc), State Exam (UKSSSC, UKPCS, UPSSSC, UPPCS, BPSC, BSSC, etc) आदि विभिन्न परीक्षाओं के लिए TheExamPillar की टीम ने प्राचीन भारतीय इतिहास (ऋग्वैदिक और उत्तर वैदिक काल)  (Ancient India History (Rigvedic and Post Vedic Period) MCQ Part – 9) के महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर का संग्रह उपलब्ध कराया गया हैं, जो विभिन्न परीक्षों में पूछे गए हैं। यहाँ पर कुल 40 प्रश्नों का संग्रह उपलब्ध कराया गया है। 

Ancient History (Rigvedic and Post Vedic Period) MCQ
(प्राचीन भारत का इतिहास (ऋग्वैदिक और उत्तर वैदिक काल))
भाग – 9

1. सूची-I को सूची-II के साथ सही सुमेलित कीजिए और सूचियों के नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए–
सूची-I                –            सूची-II

(नदी का प्राचीन नाम)  (नदी का आधुनिक नाम)
A. वितस्ता                     1. चिनाब
B. अस्किनी                   2. ब्यास
C. परूष्णी                    3. झेलम
D. विपास                     4. सतलज
.                                   5. रावी
कूट:

.   A B C D
(a) 3 5 4 2
(b) 2 1 5 3
(c) 3 1 5 2
(d) 2 5 4 3

2. किस देवी/देवता को गायत्री मंत्र समर्पित है?
(a) इन्द्र
(b) मित्र
(c) वरुण
(d) सावित्री

3. उत्तर वैदिक काल में महत्व प्राप्त किये प्रजापति देवता में कौन-से पूर्ववर्ती देव समाहित हो गये–
1. वाक
2. काल

3. विश्वकर्मा
4 हिरण्यगर्भ

(a) 1, 2
(b) 1, 4
(c) 3, 4
(d) 2, 3

Read Also ...  Computer MCQ Part - 2

Click To Show Answer/Hide

Answer – (C)

4. ऋग्वैदिक कालीन आर्यों को पहचान किसकी नहीं थी –
(a) इन्द्र
(b) मरुत
(c) सोम
(d) शिव

5. शिव का प्रथम रूप साहित्य में क्या मिलता है –
(a) योगी
(b) रुद्र

(c) पशुपति
(d) कल्याणकत्र्ता

6. निम्नलिखित वैदिक देवताओं में किसे उनका पुरोहित माना जाता था?
(a) अग्नि
(b) वृहस्पति

(c) द्यौस
(d) इन्द्र

7. निम्नलिखित में से किसे ऋग्वेद में युद्ध-देवता समझा जाता है?
(a) अग्नि
(b) इन्द्र

(c) सूर्य
(d) वरुण

8. सर्वाधिक ऋग्वैदिक सूक्त समर्पित है–
(a) अग्नि को
(b) इन्द्र को

(c) रुद्र को
(d) विष्णु को

9. निम्नलिखित में से पूर्व वैदिक आर्यों का सर्वाधिक लोकप्रिय देवता कौन था?
(a) वरुण
(b) विष्णु

(c) रुद्र
(d) इन्द्र

10. निम्नलिखित में से कौन-से वैदिक देवता बोगजकोई अभिलेख में उल्लिखित है?
(a) अग्नि‚ इन्द्र‚ मित्र एवं नासत्य
(b) मित्र‚ नासत्य‚ वरुण एवं यम
(c) नासत्य‚ वरुण‚ यम एवं अग्नि
(d) इन्द्र‚ मित्र‚ नासत्य एवं वरुण

11. निम्नलिखित में से किस एक वैदिक देवता का नाम बोगजकुइ अभिलेख में नहीं उल्लिखित है?
(a) इन्द्र
(b) अग्नि

(c) मित्र
(d) वरुण

12. बोगजकोई महत्त्वपूर्ण है‚ क्योंकि─
(a) यह मध्य एशिया एवं तिब्बत के मध्य एक महत्त्वपूर्ण व्यापारिक केन्द्र था
(b) यहाँ से प्राप्त अभिलेखों में वैदिक देवता एवं देवियों का नामोल्लेख प्राप्त होता है
(c) वेद के मूल ग्रन्थों की रचना यहाँ हुई थी
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

Read Also ...  Ancient India History (Rigvedic and Post Vedic Period) MCQ Part - 08

Click To Show Answer/Hide

Answer – (B)

13. बोगजकोई का महत्त्व इसलिए है कि –
(a) वहां जो अभिलेख प्राप्त हुए हैं‚ उनमें वैदिक देवी एवं देवताओं का वर्णन मिलता है
(b) मध्य एशिया एवं तिब्बत के बीच एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केन्द्र माना जाता है
(c) वेद के मूल ग्रन्थ की रचना यहीं हुई थी
(d) उपरोक्त में से कोई भी नहीं

14. निम्नलिखित अभिलेखों में से कौन सा ईरान से भारत में आर्यों के आने की सूचना देता है?
(a) मान सेहरा
(b) शहबाजगढ़ी

(c) बोगजकोई
(d) जूनागढ़

15. नैतिक व्यवस्था (ऋतु) के निरीक्षणकर्ता के रूप में किस वैदिक देवता का वर्णन हुआ है?
(a) इन्द्र
(b) रुद्र
(c) वरुण
(d) विष्णु

16. वैदिक ग्रन्थों में प्रयुक्त ऋत् शब्द किससे सम्बन्धित है –
(a) ऋतु विज्ञान के अध्ययन से
(b) नैतिक व्यवस्था से

(c) धर्म सम्बन्धित व्यवस्था से
(d) वैदिक सूक्त से

17. निम्नलिखित ऋग्वैदिक देवताओं में से किसे अक्सर ‘अतिथि’ की उपाधि देकर संबोधित किया जाता था?
(a) इन्द्र
(b) वरूण

(c) अग्नि
(d) सोम

18. ‘शूलगव’ यज्ञ किसके लिए किया जाता था?
(a) विष्णु
(b) इन्द्र

(c) रुद्र
(d) वरुण

19. निम्नलिखित वैदिक देवताओं में से कौन अवेस्ता के देवता अहुरमज्दा से सादृश्य रखता है?
(a) इन्द्र
(b) वरुण

(c) रुद्र
(d) विष्णु

20. ऋग्वेद के वंश मंडल प्राय: किसके मंत्र से आरम्भ होते हैं?
(a) अग्नि
(b) इन्द्र

(c) मित्र
(d) सूर्य

Read Also ...  Indian Geography (Hilly, Plateau & Plain Areas) MCQ Part – 06

Click To Show Answer/Hide

Answer – (A)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!