UTET Exam 2022 (Answer Key)

UTET Exam 30 Sep 2022 Paper – 1 (Language I – Hindi) (Official Answer Key)

46. ‘रवि अभाव लखि रैन में, दिन लखि चन्द्र विहीन सतत उदित इहिं हेतु जनु, यश प्रताप मुख कीन।’ प्रस्तुत पद में कौन सा अलंकार है?
(A) रूपक
(B) उत्प्रेक्षा
(C) उपमा
(D) अनन्वय

Show Answer/Hide

Answer – (B)

47. निम्नांकित पद में कौन सा छन्द है –
जो मैं नया ग्रंथ विलोकता हूँ,
भाता मुझे सो नव मित्र सा है।
देखू उसे मैं नित नेम से ही,
मानो मिला मित्र मुझे पुराना।।
(A) मालिनी
(B) इन्द्रवज्रा
(C) उपेन्द्रवज्रा
(D) वसन्ततिलका

Show Answer/Hide

Answer – (B)

48. ‘अंशुमाली’ का पर्यायवाची बताइए
(A) कौमुदी
(B) आंजनेय
(C) पतंग
(D) सौदामिनी

Show Answer/Hide

Answer – (C)

49. ‘बुकर पुरस्कार’ विजेता प्रथम हिन्दी उपन्यासकार का नाम बताइए –
(A) अरुंधति राय
(B) गीतांजलि श्री
(C) महाश्वेता देवी
(D) उषा प्रियंवदा

Show Answer/Hide

Answer – (B)

50. ‘यह प्रेम को पंथ कराल महा’ के लिए सही लोकोक्ति है-
(A) अरू नेह सों नातो बड़ावते है।
(B) तलवार की धार पै धावनो है।
(C) दुखदायी और घोर सतावनो है।
(D) मन ही मन में उर भावनो है।

Show Answer/Hide

Answer – (B)

51. निम्नांकित में कौन शब्द अयादि सन्धि का उदाहरण है-
(A) अन्वेषण
(B) इत्यादि
(C) धावक
(D) ब्रह्मर्षि

Show Answer/Hide

Answer – (C)

52. निम्नलिखित लेखकों का जन्म के आधार पर सही अनुक्रम बताइए
(A) प्रताप नारायण मिश्र – बालकृष्णभट्ट – बालमुकुन्द गुप्त – राजालक्ष्मण सिंह
(B) बालमुकुन्द गुप्त – राजालक्ष्मण सिंह – प्रतापनारायण मिश्र-बालकृष्ण भट्ट
(C) राजा लक्ष्मण सिंह – बालकृष्णभट्ट – प्रतापनारायण मिश्र – बालमुकुन्द गुप्त
(D) बालकृष्णभट्ट – प्रताप नारायण मिश्र – बालमुकुन्द गुप्त – राजा लक्ष्मण सिंह

Show Answer/Hide

Answer – (C)

53. ‘बन्दऊ गुरू पद कंज, कृपासिंधु नररूप हरि।
महामोह तमपुंज जासु वचन रविकर निकर।।’
उक्त पंक्तियाँ किस कवि की हैं?

(A) सूरदास
(B) तुलसीदास
(C) केशवदास
(D) कुंभनदास

Show Answer/Hide

Answer – (B)

54. ‘अतीत के चलचित्र’ किसकी रचना है?
(A) रामवृक्ष बेनीपुरी
(B) महादेवी वर्मा
(C) सेठ गोविन्द दास
(D) श्रीराम वर्मा

Show Answer/Hide

Answer – (B)

55. ‘माँ ने कहा –
लड़की होना पर लड़की सी दिखाई मत देना’
प्रस्तुत काव्य पंक्ति किसकी है?
(A) मंगलेश डबराल
(B) ऋतुराज
(C) निराला
(D) नागार्जुन

Show Answer/Hide

Answer – (B)

निर्देश- निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों (56 – 60) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए –

कौन तुम? संसृति-जलनिधि तीर
तरंगों से फेंकी मणि एक;
कर रहे निर्जन का चुपचाप
प्रभा की धारा से अभिषेक?
मधुर विश्रान्त और एकान्त-
जगत का सुलझा हुआ रहस्य;
एक करूणामय सुन्दर मौन
और चंचल, मन का आलस्य।

56. उपर्युक्त काव्यांश किस रचना से उद्धृत है?
(A) सिद्धार्थ
(B) साकेत
(C) कामायनी
(D) उर्वशी

Show Answer/Hide

Answer – (C)

57. उपर्युक्त पंक्तियाँ किसे सम्बोधित हैं?
(A) उर्वशी को
(B) पुरूरवा को
(C) मनु को
(D) श्रद्धा को

Show Answer/Hide

Answer – (C)

58. ‘कौन तुम संसृति-जलनिधि तीर, तरंगों से फेंकी मणि एक’ का भावार्थ क्या है?
(A) अकस्मात् मूल्यवान् वस्तु मिल जाना।
(B) तेजस्वी महापुरूष का प्रादुर्भाव।
(C) योग्य व्यक्ति को तदनुरूप स्थान न मिल पाना।
(D) संयोगवश संकट से सुरक्षित बच निकलना।

Show Answer/Hide

Answer – (B)

59. ‘करूणामय सुन्दर मौन’ से क्या भाव व्यक्त होता है?
(A) हृदय की विह्वलता
(B) निस्तब्धता
(C) अकर्मण्यता
(D) भीरूता

Show Answer/Hide

Answer – (B)

60. ‘संसृति-जलनिधि तीर’ में कौन सा अलंकार है?
(A) अनन्वय
(B) रूपक
(C) उत्प्रेक्षा
(D) प्रतीप

Show Answer/Hide

Answer – (B)

 

Read Also :

Read Related Posts

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

State

Bihar
Madhya Pradesh
Rajasthan
Uttarakhand
Uttar Pradesh

E-Book

Subjects

Category
error: Content is protected !!