UTET Exam 2018 – Paper – 2 (Language Second – Hindi) Official – Answer Key

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (UBSE – Uttarakhand Board of School Education) द्वारा 14 दिसम्बर 2018 को UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) परीक्षा का आयोजन किया गया। UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) Exam Paper 2018 – भाषा – द्वितीय (हिंदी) की उत्तरकुंजी (Language – 2 (Hindi) Part Answer Key). 

 

UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test) Junior Level
(Class 6 to Class 8).

परीक्षा (Exam) : UTET (Uttarakhand Teachers Eligibility Test)
भाग (Part) :  भाषा – द्वितीय (हिंदी) (Language – Second (Hindi))
परीक्षा आयोजक (Organized
) : UBSE

कुल प्रश्न (Number of Question) : 30
Paper Set – C
परीक्षा तिथि (Exam Date) – 14th Dec 2018

UTET Exam 2018
Paper – 2 (Junior Level)
भाषा – द्वितीय (हिंदी) (Language – Second (Hindi))

 

1. हिन्दी साहित्य सम्मेलन प्रयाग के प्रथम सभापति कौन थे?
(A) पुरुषोत्तमदास टण्डन
(B) मदन मोहन मालवीय
(C) के. एम. मुंशी
(D) उपेन्द्र नाथ अश्क

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

2. ‘अनुभव के आकाश में चाँद’ किसकी काव्य रचना
(A) मंगलेश डबराल
(B) लीलाधर जगूड़ी
(C) त्रिलोचन शास्त्री
(D) केदारनाथ अग्रवाल

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

3. सुमित्रानन्दन पंत को उनकी किस रचना के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला?
(A) लोकायतन
(B) ग्राम्या
(C) चिदम्बरा
(D) परिवर्तन

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

4. भाषा की कक्षा में कौन-सी शिक्षण-युक्ति सबसे कम प्रभावी है?
(A) उचित गति एवं प्रवाह के साथ पढ़ने पर बल देना
(B) शुद्ध उच्चारण पर अत्यधिक बल देना
(C) बच्चों की रुचि अनुसार परिचित विषय या प्रसंग पर चर्चा
(D) दूसरों की हस्तलिखित सामग्री, पत्र आदि पढ़वाना

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

5. भाषा शिक्षण में पाठ्य पुस्तक –
(A) साध्य है।
(B) साधन है।
(C) अनावश्यक है।
(D) एकमात्र संसाधन है।

Read Also ...  UTET Exam 2019 Paper - 2 (Social Studies) in Hindi (Official Answer Key)

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

6. भाषा के अभिव्यक्तात्मक कौशल हैं –
(A) बोलना, लिखना
(B) पढ़ना, लिखना
(C) सुनना, पढ़ना
(D) सुनना, बोलना

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

7. भाषा-अर्जन में महत्वपूर्ण है –
(A) पाठ्य-पुस्तक
(B) भाषा का शिक्षक
(C) भाषा के विभिन्न रूपों का प्रयोग
(D) भाषा का व्याकरण

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

8. नासिकेतोपाख्यान के रचयिता हैं
(A) लल्लू लाल
(B) सदल मिश्र
(C) प्रतापनारायण मिश्र
(D) सदासुखलाल

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

9. ‘श’, ‘स’ तथा ‘ष’ वर्गों को उच्चारण-स्थान के अनुसार क्रमानुसार कहा जाता है –
(A) मूर्धन्य, दंत्य तथा तालव्य वर्ण
(B) दंत्य, मूर्धन्य तथा तालव्य वर्ण
(C) तालव्य, दंत्य तथा मूर्धन्य वर्ण
(D) मूर्धन्य, तालव्य तथा दंत्य वर्ण

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

निर्देश : निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों (प्रश्न सं. 10 से 13) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए।

समाज को यदि एक वृक्ष मान लिया जाए, तो अर्थनीति उसकी जड़ है, राजनीति आधार, विज्ञान आदि उसके तने हैं और संस्कृति उसके फूल। इसलिए नए समाज की अर्थनीति या राजनीति आदि पर ही हमें ध्यान नहीं देना है, बल्कि उसकी संस्कृति की ओर सबसे अधिक ध्यान देना है, क्योंकि मूल और तने की सार्थकता तो उसके फूल में ही है। फ़िर इन तीनों का सम्बन्ध परस्पर इतना गहरा है। कि आप इन्हें अलग-अलग कर भी नहीं सकते। नयी अर्थनीति और राजनीति के साथ एक नयी संस्कृति का विकास हमारी आँखों के सामने हो रहा है, भले ही हम उसे देख न पाएँ या उसकी ओर से आँखें मूंद लें। अन्य क्षेत्रों में हमारी पंचवर्षीय योजनाएँ आ रही हैं, किन्तु क्या यह आश्चर्य की बात नहीं है कि संस्कृति के विकास में प्रगति देने के लिए एक भी व्यापक योजना हमारे सामने नहीं आ रही है। जब राजनीति और अर्थशास्त्र दूसरी बड़ी-बड़ी योजनाओं में लगे हैं, ओ कलाकारों! चलो। हम अपनी परिमित शक्ति से इस क्षेत्र में कुछ काम कर दिखाएँ, आखिर यह क्षेत्र भी तो हमारा ही है। गुलाब की खेती के माली तो हम ही हैं। फूलों के संसार के भौंरे तो हम ही हैं, हम न करेंगे तो करेगा कौन?

Read Also ...  UTET Exam 2021 Paper 2 (Child Development and Pedagogy) (Official Answer Key)

10. समाज, राजनीति, अर्थनीति, विज्ञान और संस्कृति क्रमशः प्रतीक हैं –
(A) जड़, आधार, फूल, वृक्ष और तने के
(B) फूल, वृक्ष, मूल, आधार और तने के
(C) वृक्ष, आधार, जड़, तने और फूल के
(D) वृक्ष, मूल, आधार, फूल और तने के

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

11. आर्थिक विकास और वैज्ञानिक उन्नति के बावजूद हमारा विकास अधूरा है, जब तक –
(A) सांस्कृतिक उत्थान न हो
(B) राजनीतिक उन्नति न हो
(C) भौतिक विकास न हो
(D) आध्यात्मिक उन्नति न हो।

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

12. ‘गुलाब की खेती से लेखक का तात्पर्य है –
(A) सुंदर उद्यानों का निर्माण
(B) सौंदर्य की सृष्टि
(C) औद्योगिक विकास
(D) सांस्कृतिक अभ्युत्थान

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

13. सांस्कृतिक उत्थान में सर्वाधिक उत्तरदायी हैं
(A) राजनीतिज्ञ
(B) कलाकार
(C) वैज्ञानिक
(D) अर्थशास्त्री

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

14. निम्नलिखित वाक्य में प्रविशेषण हैं – अत्यन्त ऊँचे महल पर हंस बैठा है।
(A) हंस
(B) महल
(C) ऊँचे
(D) अत्यन्त

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

15. पहाड़ों, झीलों एवं नदियों के चित्र दिखाना शिक्षण के किस सूत्र को दर्शाता है?
(A) विशिष्ट से सामान्य की ओर
(B) स्थूल से सूक्ष्म की ओर
(C) पूर्ण से अंश की ओर
(D) इनमें से कोई नहीं

Click To Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!