नोबेल पुरस्कार 2019 (The Nobel Prize 2019)

नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize), नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडिश वैज्ञानिक अल्फ्रेड बर्नाड नोबेल की याद में दिया जाता है। स्वीडिश वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल ने साल 1895 में अपनी वसीयत में इन पुरस्कार की स्थापना की थी, इस वसीयत में नोबेल ने अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा एक ट्रस्ट के लिए सुरक्षित रख दिया। उनकी इच्छा थी कि इस पैसे के ब्याज से हर साल उन लोगों को सम्मानित किया जाए जिनका काम मानव जाति के लिए सबसे कल्याणकारी पाया जाए। स्वीडिश बैंक में जमा इसी राशि के ब्याज से नोबेल फाउँडेशन द्वारा हर वर्ष रसायन, साहिय, शांति, भौतिकी और साइकोलॉजी (मेडिसीन) के क्षेत्र में सर्वोत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। पहली बार अल्फ्रेड नोबेल की याद में 1968 से इकोनॉमिक्स के क्षेत्र में भी नोबेल पुरस्कार दिए जाने लगे।

  • द रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (The Royal Swedish Academy of Sciences) भौतिक, रसायन और अर्थशास्त्र विषयों के लिए पुरस्कार प्रदान करती है।
  • द नोबेल असेंबली (The Nobel Assemblies) चिकित्सा के क्षेत्र में पुरस्कार प्रदान करती है।
  • द स्वीडिश अकादमी (The Swedish Academy) लिटरेचर के क्षेत्र में पुरस्कार प्रदान करती है।
  • शांति के लिए दिया जाने वाला पुरस्कार एकमात्र ऐसा है जो स्वीडिश ऑर्गेनाइज़ेशन द्वारा नहीं चुना जाता। नॉर्वे नोबेल कमेटी (Norway Nobel Committee) इसका फ़ैसला करती है।

नोबेल पुरस्कार के लिए बनी समिति और चयनकर्ता हर साल अक्टूबर में नोबेल पुरस्कार विजेताओं की घोषणा करते हैं और पुरस्कारों का वितरण अल्फ्रेड नोबेल की पुण्य तिथि 10 दिसंबर को किया जाता है। इसमें विजेता को एक गोल्ड मेडल, डिप्लोमा और उस साल नोबेल फाउंडेशन की कमाई के आधार पर तय की गई एक राशि विजेता को दी जाती है।

Note –

मीटू के चलते पिछले साल 2018 में साहित्य का नोबेल नहीं दिया गया था। इस वर्ष 2018 एवं 2019 के साहित्य के नोबेल प्रदान किये गए है। पिछले साल नोबेल संस्थान की एक पूर्व सदस्या के पति फ्रांसीसी फोटोग्राफर ज्यां क्लाउड अर्नाल्ट पर यौन शोषण के आरोप लगे थे। इसके बाद स्वीडन की अकादमी को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। इसी वजह से उसने 2018 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार नहीं देने की घोषणा की थी। 

 

चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Physiology or Medicine 2019)

The Nobel Prize in Physiology or Medicine 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name)  विलियम जी कॉलिन, पीटर जे रेटक्लिफ और ग्रेग एल सेमेंजा
योगदान (Contribution)  कोशिकाओं के ऑक्सीजन की उपलब्धता का आभास करना और उसे अनुकूल बनाने की खोज के लिए

घोषणा (Announcement) — 07 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द नोबेल असेंबली (The Nobel Assemblies)

  • विलियम जी कॉलिन (William G. Kaelin Jr.) विलियम जी केलिन जूनियर का जन्म साल 1957 में न्यूयॉर्क में हुआ था।उन्होंने दरहम के ड्यूक यूनिवर्सिटी से एमडी (Doctor of Medicine) की डिग्री हासिल की है।
  • पीटर जे रेटक्लिफ (Sir Peter J. Ratcliffe) — सर पीटर जे रैटक्लिफ का जन्म इंग्लैंड में साल 1954 में हुआ था। उन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से मेडिसिन की पढ़ाई की। उन्होंने ऑक्सफोर्ड से नेफ्रोलॉजी में ट्रेनिंग हासिल की है।
  • ग्रेग एल सेमेंजा (Gregg L. Semenza) — ग्रेग एल सेमेंजा का जन्म न्यूयॉर्क में साल 1956 में हुआ था। उन्होंने बॉस्टन में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से बॉयोलॉजी में बीए की डिग्री हासिल की। उन्होंने पेन्सिवेनिया यूनिवर्सिटी से एमडी तथा पीएचडी की डिग्री हासिल की है।
Read Also ...  सिंधु जलसंधि क्या है ?

भौतिक विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Physics 2019)

The Nobel Prize in Physics 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name) जेम्स पीबल्स, मिशेल मेयर और दिदिएर क्वेलोज
योगदान (Contribution)  जेम्स पीबल्स को ब्रह्मांड विज्ञान में सैद्धांतिक खोजों के लिए और मिशेल मेयर, दिदिएर क्वेलोज को संयुक्त रूप से सौर मंडल के बाहर एक ग्रह (एक्जोप्लैनेट) की खोज के लिए।

घोषणा (Announcement) — 08 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (The Royal Swedish Academy of Sciences) 

  • जेम्स पीबल्स (James Peebles) — जेम्स पीबल्स का जन्म साल 1935 में कनाडा के विनिपेग में हुआ था। वे कनाडाई मूल के अमेरिकी नागरिक हैं। वे अमेरिका के प्रिंसटन विश्वविद्यालय में विज्ञान के प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बिग बैंग, डार्क मैटर तथा डार्क एनर्जी पर काम किया है। इस काम को आधुनिक ब्रह्मांड विज्ञान का आधार माना जाता है।
  • मिशेल मेयर (Michel Mayor) — मिशेल मेयर का जन्म साल 1942 में स्विट्ज़रलैंड में हुआ था। मिशेल मेयर ने 51 पेगासी बी ग्रह की खोज की थी। मिशेल मेयर जिनेवा विश्वविद्यालय में कार्यरत हैं।
  • दिदिएर क्वेलोज (Didier Queloz) — डिडिएर क्वेलोज का जन्म साल 1966 में हुआ था। डिडिएर क्वेलोज ने भी 51 पेगासी बी ग्रह की खोज की थी। यह गैस से बना विशाल ग्रह पृथ्वी से पचास वर्ष दूर एक तारे की परिक्रमा कर रहा है। डिडिएर क्वेलोज भी जिनेवा विश्वविद्यालय में कार्यरत हैं।

रसायन विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Chemistry 2019)

The Nobel Prize in Chemistry 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name)  जॉन बी गुडइनफ, एम स्टैनली विटंगम और अकीरा योशिनो
योगदान (Contribution)  लीथियम आयन बैटरी के विकास में अहम भूमिका के लिए

घोषणा (Announcement) — 09 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (The Royal Swedish Academy of Sciences)

  • जॉन बी गुडइनफ (John B. Goodenough) जॉन बी गुडइनफ वर्तमान में बिंगम्टन यूनिवर्सिटी में प्रफेसर हैं। जॉन बी. गुडइनफ यह पुरस्कार पाने वाले सबसे उम्रदराज 97 साल के विजेता है। उनसे पहले साल 2018 में 96 साल के आर्थर अश्किन को नोबेल पुरस्कार मिला था।
  • एम स्टैनली विटंगम (M. Stanley Whittingham) एम. स्टैनली विटिंघम इंग्लैंड के रहने वाले है। वे 77 साल के है। उन्होंने सुपरकंडक्टर्स (Superconductors) पर शोध शुरू किया तथा एक उच्च ऊर्जा से भरपूर एलिमेंट (तत्व) की खोज की। उन्होंने इसका उपयोग लिथियम बैटरी में एक उच्च प्रौद्योगिकी कैथोड बनाने हेतु किया है।
  • अकीरा योशिनो (Akira Yoshino) अकीरा योशिनो जापान के रहने वाले है। वे 71 साल के है। इस कैथोड के आधार पर अकीरा योशिनो ने साल 1985 में व्यावसायिक रूप से पहली सक्षम लिथियम आयन बैटरी बनाई थी।
Read Also ...  वर्ष 2019 में आये विदेशी राजनेताओं की भारत यात्राएं

साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2018
(The Nobel Prize in Literature 2018)

The Nobel Prize in Literature 2018Source – www.nobelprize.org

नाम (Name)  ओल्गा टोकार्कज़ुक (Olga Tokarczuk)
योगदान (Contribution)  सीमाओं के आर-पार जीवन के एक रूप को दर्शाने की काल्पनिकता के लिए

घोषणा (Announcement) — 10 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द स्वीडिश अकादमी (The Swedish Academy)

  • ओल्गा टोकार्कज़ुक (Olga Tokarczuk) पोलैंड लेखिका (Polish Author) और सामाजिक कार्यकर्ता ओल्गा टोकारजुक को मौजूदा पीढ़ी के व्यावसायिक रूप से सफल लेखकों में से एक के रूप में जाना जाता है। 2018 में, उन्हें उपन्यास फ्लाइट्स (जेनिफर क्रॉफ्ट द्वारा अनुवादित) के लिए बुकर प्राइज से नवाजा गया था। यह पुरस्कार जीतने वाली वह पोलैंड की पहली लेखिका हैं। उन्होंने वारसॉ विश्वविद्यालय से मनोवैज्ञानिक के तौर पर प्रशिक्षण लिया है और छोटी गद्य रचनाओं के साथ कविताओं, कई उपन्यासों, साथ ही अन्य पुस्तकों का संग्रह प्रकाशित किया। ‘फ्लाइट्स’ ने 2008 में, पोलैंड का शीर्ष साहित्यिक पुरस्कार नाइकी अवार्ड भी जीता। 

साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Literature 2019)

The Nobel Prize in Literature 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name)  पीटर हैंडके (Peter Handke)
योगदान (Contribution)  मानवीय अनुभव की परिधि और विशिष्टता को भाषाई सरलता के जरिए खोजने के महत्वपूर्ण कार्य के लिए

घोषणा (Announcement) — 10 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द स्वीडिश अकादमी (The Swedish Academy)

  • पीटर हैंडके (Peter Handke) ऑस्ट्रियाई लेखक (Austrian Author) उपन्यासकार, नाटककार और अनुवादक 76 वर्षीय पीटर ने कभी अपनी मां की खुदकुशी से प्रभावित होकर ‘द सॉरो बियॉड ड्रीम्स’ बुक की रचना की थी। वह एक फिल्म लेखक भी रहे हैं। उनकी एक फिल्म को 1978 के कान फेस्टिवल और 1980 के गोल्ड अवॉर्ड के लिए नामित किया गया था।
Read Also ...  अंतरिम बजट 2019 (Interim Budget 2019)

शांति के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Peace 2019)

The Nobel Peace Prize 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name) अबिय अहमद अली
योगदान (Contribution) पड़ोसी देश इरीट्रिया के साथ सीमा विवाद सुलझाने के लिए

घोषणा (Announcement) — 11 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — नॉर्वे नोबेल कमेटी (Norway Nobel Committee)

  • अबिय अहमद अली (Abiy Ahmed Ali) इथोपिया (Ethiopia) के प्रधानमंत्री अबीय अहमद अली (Abiy Ahmed Ali) को इथोपिया के नेल्सन मंडेला (Nelson Mandela of Ethiopia) के नाम से भी लोग पुकारते हैं। इन्होने अपने पड़ोसी मुल्क इरीट्रिया (Eritrea) के साथ सीमा विवाद सुलझाने में उनकी ओर पहल की गई थी। इथोपिया और इरीट्रिया के बीच यह तकरार लगभग 20 साल तक चली थी, जिसमें खत्म कराने में अली का बड़ा योगदान है। इसके अलावा केन्या और सोमालिया के रिश्ते सुधारने में भी मदद की, जो कि सैन्य विवाद में उलझे थे। अली ही वह व्यक्ति थे, जो सूडान और दक्षिणी सूडान के नेताओं को बातचीत और शांति बहाली के लिए राजी कर पाए।

अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार 2019
(The Nobel Prize in Economic Sciences 2019)

The Sveriges Riksbank Prize in Economic Sciences in Memory of Alfred Nobel 2019Source – www.nobelprize.org

नाम (Name) — अभिजीत बनर्जी, एस्थर डुफलो और माइकल क्रेमर
योगदान (Contribution) वैश्विकी गरीबी को कम करने के लिए

घोषणा (Announcement) — 14 अक्टूबर, 2019
पुरस्कार दिया गया (Prize Given) — द रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज (The Royal Swedish Academy of Sciences)

  • अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) — अभिजीत बनर्जी का जन्म भारत के कोलकाता में 21 फरवरी, 1961 को हुआ था। फिलहाल बनर्जी अमेरिकी नागरिक हैं। बनर्जी ने जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में एम. ए. की पढ़ाई पूरी की है। अभिजीत बनर्जी अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी एक्शन लैब के सह-संस्थापक हैं। इसके अलावा बनर्जी कंसोर्टियम ऑन फाइनेंशियल सिस्टमस एंड पॉवर्टी के भी सदस्य हैं। 2012 में जब डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे, तब उन्होंने अभिजीत को अपनी मुख्य आर्थिक नीति टीम में शामिल किया था।
  • एस्थर डुफलो (Esther Duflo) — एस्थर डुफलो ने साल 2015 में अर्थशास्‍त्री अभिजीत बनर्जी से विवाह किया था। अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी डफलो अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी ऐक्शन लैब के को-फाउंडर भी हैं। एस्थर डुफलो अर्थशास्त्र में नोबेल जीतने वाली सबसे कम उम्र की महिला हैं। वे अर्थशास्त्र में नोबेल जीतने वाली महज दूसरी महिला हैं। 
  • माइकल क्रेमर (Michael Kremer) — अमेरिकी अर्थशास्त्री माइकल क्रेमर को भी ‘वैश्विक गरीबी उन्मूलन के प्रयोगात्मक तरीकों’ पर उनके शोध को लेकर संयुक्त रूप से 2019 हेतु अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार मिला है
Read Also :

Read more related posts

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!