Daily MCQs - Page 6

Daily MCQs – इतिहास एवं कला-संस्कृति – 22 May 2024 (Wed)

Daily MCQs : इतिहास एवं कला-संस्कृति (History and Art & Culture)
22 May, 2024 (Wednesday)

1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. इस दर्शन के अनुसार, वेद शाश्वत हैं और सभी ज्ञान से युक्त हैं।
2. धर्म का अर्थ है वेदविहित कर्तव्यों का पालन करना।
3. यह दर्शन न्याय-वैशेषिक प्रणालियों को शामिल करता है और वैध ज्ञान की अवधारणा पर जोर देता है।
उपर्युक्त कथन निम्नलिखित में से किस से संबंधित हैं?
(A) मीमांसा दर्शन

(B) वेदांत दर्शन
(C) योग दर्शन
(d) सांख्य दर्शन

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या – मीमांसा दर्शन मूल रूप से वेद के संहिता और ब्राह्मण भागों के पाठ की व्याख्या, अनुप्रयोग और उपयोग का विश्लेषण है। मीमांसा दर्शन के अनुसार, वेद शाश्वत हैं और सभी ज्ञान से युक्त हैं, और धर्म का अर्थ वेदों द्वारा निर्धारित कर्तव्यों की पूर्ति है। यह दर्शन न्याय-वैशेषिक प्रणालियों को शामिल करता है और वैध ज्ञान की अवधारणा पर जोर देता है। अतः विकल्प (A) सही है

2. निम्नलिखित में से कौन सा धर्म खजुराहो मंदिरों से जुड़ा है/हैं?
1. जैन धर्म

2. हिन्दू धर्म
3. तांत्रिक विद्या
4. बौद्ध धर्म
नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर चुनिए:
(A) केवल 1

(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1, 2 और 3
(D) उपर्युक्त सभी

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या – खजुराहो में कई मंदिर हैं, जिनमें से अधिकांश हिंदू देवताओं को समर्पित हैं। यहां कुछ जैन मंदिरों के साथ-साथ एक चौसंत योगिनी मंदिर भी है, जो दिलचस्प है। दसवीं शताब्दी से पहले का, यह मोटे तौर पर तराशे गए ग्रेनाइट ब्लॉकों से बने छोटे, चौकोर मंदिरों का एक मंदिर है, प्रत्येक सातवीं शताब्दी के बाद तांत्रिक पूजा के उदय से जुड़ी गूढ़ देवियों या देवियों को समर्पित है। ऐसे कई मंदिर मध्य प्रदेश, ओडिशा और यहां तक कि दक्षिण में तमिलनाडु तक योगिनियों के पंथ को समर्पित थे। इनका निर्माण सातवीं और दसवीं शताब्दी के बीच हुआ था, लेकिन इनमें से कुछ ही बचे हैं। अतः विकल्प (C) सही है

3. अखिल भारतीय किसान सभा के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. उस समय के अन्य राजनीतिक संगठनों के विपरीत, किसान सभा ने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से स्वतंत्र रूप से काम किया और कभी भी इसके साथ नहीं जुड़ी।

2. इसका गठन 1936 में सहजानंद सरस्वती द्वारा किया गया था।
उपर्युक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?
(A) केवल 1

(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1, न ही 2

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या: अखिल भारतीय किसान सभा (AIKS) 1936 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) के लखनऊ सत्र में सहजानंद सरस्वती द्वारा गठित एक महत्वपूर्ण किसान आंदोलन था। स्वामी सहजानंद को अध्यक्ष चुना गया, और एन.जी. रंगा, आंध्र में किसान आंदोलन के प्रणेता और कृषि समस्या के प्रसिद्ध विद्वान, महासचिव थे। अतः कथन 1 सही नहीं है

4. मौर्य साम्राज्य में कुप्याध्यक्ष निम्नलिखित में से किसका एक प्रभारी अधिकारी था?
(A) जेल
(B) स्वास्थ्य क्लीनिक
(C) कराधान
(D) वन विभाग

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

व्याख्या: चन्द्रगुप्त मौर्य के प्रशासन में कुप्याध्यक्ष (वन उत्पाद अधीक्षक) द्वारा प्रशासित एक नियमित वन विभाग था। उनका कर्तव्य जंगलों की उत्पादकता बढ़ाना, पेड़ों की कीमत तय करके उन्हें बेचना, मजबूत पेड़ों का वर्गीकरण करना आदि था। अतः विकल्प (D) सही है

5. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. यह गुफा बाराबर पहाड़ियों की कठोर-अखंड ग्रेनाइट चट्टान पर बनाई गई है, जिसके बाईं ओर छोटी सुदामा गुफा है।
2. गुफा के “घुमावदार वास्तुशिल्प” पर अलंकरण में स्तूपों की ओर जाते हुए हाथियों की नक्काशी शामिल है।
उपर्युक्त कथनों का संदर्भ निम्नलिखित में से किस से है?
(A) उदयगिरि गुफाएँ
(B) कन्हेरी गुफाएँ
(C) लोमस ऋषि गुफाएँ
(D) एलीफेंटा गुफाएं

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या: लोमस ऋषि गुफा बराबर पहाड़ियों की कठोर-अखंड ग्रेनाइट चट्टान पर बनाई गई है, जिसके बाईं ओर छोटी सुदामा गुफा है। चट्टान को काटकर बनाई गई यह गुफा एक अभयारण्य के रूप में बनाई गई थी। इसका निर्माण तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व में मौर्य साम्राज्य के अशोक काल के दौरान आजीवकों की पवित्र वास्तुकला के हिस्से के रूप में किया गया था। यह भारत में कई अन्य बौद्ध और जैन गुफाओं में बने ऐसे सभी धनुषाकार प्रवेश द्वारों के लिए एक मॉडल बन गया, जैसे कि महाराष्ट्र में अजंता या कार्ली के बहुत बड़े बौद्ध चैत्य हॉल। अतः विकल्प (C) सही है

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily Quiz – Uttarakhand PCS GS (Paper – I) – 21 May 2024 (Tuesday)

Daily Quiz : उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC)
21 May, 2024 (Tuesday)

1. निम्नलिखित में से किस राज्य को उच्च न्यायालय ने जैव विविधता अधिनियम, 2002 को लागू करने के लिये एक समिति गठित करने का आदेश दिया है?
(A) मध्य प्रदेश

(B) बिहार
(C) तमिलनाडु
(D) उत्तर प्रदेश

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या – मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को जैवविविधता अधिनियम, 2002 को लागू करने के लिये एक समिति गठित करने का आदेश दिया।

2. बाओबाब वृक्ष निम्नलिखित में से किस देश की मूल प्रजाति है?
(A) फ्राँस

(B) अफ्रीका
(C) परागुआ
(D) निकारागुआ

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्याबाओबाब पर्णपाती वृक्ष हैं, जो अफ्रीका की मूल प्रजाति है और इनकी ऊँचाई 5 से 20 मीटर तक होती है।

3. काँवर झील बिहार के निम्नलिखित में से किस ज़िले में स्थित है?
(A) दरभंगा

(B) गोपालगंज
(C) बेगूसराय
(D) मुंगेर

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्याएशिया की सबसे बड़ी मीठे जल की गोखुर झील, काँवर बिहार के बेगुसराय ज़िले में स्थित है।

4. सरिस्का टाइगर रिज़र्व राजस्थान के निम्नलिखित में से किस ज़िले में स्थित है?
(A) अलवर

(B) जोधपुर
(C) जैसलमेर
(D) हनुमानगढ़

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्यासरिस्का टाइगर रिज़र्व अरावली पर्वतमाला में स्थित है जो राजस्थान के अलवर ज़िले का एक हिस्सा है।

5. निम्नलिखित में कौन-सी नदी अलकनंदा की सहायक नदी नहीं है?
(A) यमुना

(B) पिंडर
(C) मंदाकिनी
(D) धौलीगंगा

Show Answer/Hide

 उत्तर – (A)

व्याख्या – अलकनंदा की प्रमुख सहायक नदियाँ-धौलीगंगा, नंदाकिनी, पिंडर, मंदाकिनी और भागीरथी हैं। यमुना गंगा नदी की एक प्रमुख सहायक नदी है जो उत्तराखंड के उत्तरकाशी ज़िले में निम्न हिमालय के मसूरी रेंज में बंदरपूँछ चोटी के पास यमुनोत्री ग्लेशियर से निकलती है।यमुना उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली में बहती हुई उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (संगम) में गंगा नदी में मिल जाती है।

6. देश का पहला आयुष विश्वविद्यालय कहाँ स्थापित किया गया?
(A) हरियाणा

(B) उत्तर प्रदेश
(C) उत्तराखंड
(D) राजस्थान

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या – देश का पहला आयुष विश्वविद्यालय हरियाणा के कुरुक्षेत्र ज़िले के फत्तुपुर गाँव में स्थापित किया गया था।

7. ‘वैली ऑफ फ्लावर्स’ पुस्तक के लेखक कौन है?
(A) एडम स्मिथ

(B) फ्रैंक एस. स्मिथ
(C) शेक्सपियर
(D) मनीष देसाई

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – वैली ऑफ फ्लावर्स या फूलो की घाटी का पता सबसे पहले ब्रिटिश पर्वतारोही फ्रैंक एस. स्मिथ (Frank S Smith) और उनके साथी आर एल होल्डसवर्थ (R.L.Holdsworth) ने लगाया था तथा  फ्रैंक एस. स्मिथ ने वर्ष 1938 में “वैली ऑफ फ्लॉवर्स” नाम से एक किताब प्रकाशित की थी।

 

8. पंज प्यारे नामक संस्था संबंधित है:
(A) जैन धर्म से

(B) बौद्ध धर्म से
(C) सिक्ख धर्म से
(D) मुस्लिम धर्म से

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या – 

  • गुरु गोबिंद सिंह ने वर्ष 1699 में बैसाखी के दिन खालसा पंथ के साथ-साथ पंज प्यारे नामक संस्था की स्थापना की थी। गुरु गोबिंद सिंह ने पाँच लोगों को संस्कृति को संरक्षित करने हेतु अपने जीवन को आत्मसमर्पण करने का आग्रह किया। इस संदर्भ में बड़ी संख्या लोगों ने असमति प्रकट की लेकिन अंततः पाँच स्वयंसेवक इसके लिये आगे आए। 
  • गुरु गोबिंद सिंह ने स्वयं सिखों को यह अवगत कराने के लिये उसी चरण में उनसे बपतिस्मा लिया था कि पंज प्यारों के पास समुदाय में किसी की तुलना में उच्च अधिकार और निर्णय लेने की शक्ति है।
  • सिख इतिहास को आकार देने और सिख धर्म को परिभाषित करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले वास्तविक पंज प्यारे हैं:
    • भाई दया सिंह, लाहौर (1661-1708 ई.)
    • भाई धरम सिंह, हस्तिनापुर (1699-1708 ई.)
    • भाई हिम्मत सिंह, जगन्नाथपुरी (1661-1705 ई.)
    • भाई मोहकम सिंह, द्वारका (1663-1705 ई.)
    • भाई साहिब सिंह, बीदर (1662-1705 ई.) 
  • तब से पाँच बपतिस्मा प्राप्त सिखों के प्रत्येक समूह को पंज प्यारे कहा जाता है तथा उन्हें भी वही सम्मान दिया जाता है जो प्रारंभिक पाँच सिख ‘पंज प्यारों’ को दिया जाता है।

9. निम्नलिखित में से किसे रसायन विज्ञान का पितामह कहा जाता है?
(A) वर्जीलियस

(B) लेवाशिए
(C) डाल्टन
(D) राबर्ट बायल

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)  

व्याख्या – वर्जीलियस को रसायन विज्ञान का पितामह (Grandfather of Chemistry) कहा जाता है। लेवाशिए (Lavoisier) को आधुनिक रसायन विज्ञान का जनक (Father of Modern Chemistry) कहा जाता है।

10. किस स्थान पर राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर की स्थापना की जा रही है?
(A) गोवा

(B) लोथल
(C) जामनगर
(D) कोचीन

Show Answer/Hide

उत्तर – (B) 

व्याख्या –  

  • गुजरात के लोथल में राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर के विकास में सहयोग के लिए पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय तथा संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किये गए हैं। 
  • राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर विश्व स्तरीय केन्द्र होगा जो लोथल में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण स्थल के निकट विकसित किया जाएगा। इस परिसर को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा।
Read Also :
Uttarakhand Exam Daily MCQs Click Here
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here

Daily MCQs – भारत एवं विश्व का भूगोल – 21 May 2024 (Tue)

Daily MCQs : भारत एवं विश्व का भूगोल (India and World Geography)
21 May, 2024 (Tuesday)

1. पश्चिमी घाट की तुलना में हिमालय में मलबे के हिमस्खलन की अधिक संख्या के क्या कारण हो सकते हैं?
1. हिमालय अधिकतर रूपांतरित और आग्नेय चट्टानों से बना है जो स्थिर नहीं हैं।
2. हिमालय विवर्तनिक रूप से सक्रिय है।
3. पश्चिमी घाट की तुलना में हिमालय में ढलान बहुत तीव्र हैं।
नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर चुनिए:
(A) केवल 1 और 2

(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या –

  • हमारे देश में हिमालय में अक्सर मलबा हिमस्खलन और भूस्खलन होता रहता है। इसके लिए कई कारण हैं। एक, हिमालय विवर्तनिक रूप से सक्रिय है। वे अधिकतर तलछटी चट्टानों और असंगठित और अर्ध-समेकित निक्षेपों से बने होते हैं। अतः कथन 1 सही नहीं है
  • हिमालय की तुलना में, तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल की सीमा से लगे नीलगिरि और पश्चिमी तट के साथ पश्चिमी घाट अपेक्षाकृत विवर्तनिक रूप से स्थिर हैं और ज्यादातर बहुत कठोर चट्टानों से बने हैं; लेकिन, फिर भी, इन पहाड़ियों में बहुत भारी वर्षा के कारण मलबे का हिमस्खलन और भूस्खलन होता है, हालांकि हिमालय की तरह उतनी बार नहीं। पश्चिमी घाट की तुलना में हिमालय में ढलान बहुत तीव्र हैं। अतः कथन 2 और 3 सही हैं

 

2. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. गारो और खासी पहाड़ियाँ मेघालय में पूर्वांचल का विस्तार हैं जो ब्रह्मपुत्र और बराक नदी के बीच जल विभाजन बनाती हैं।
2. राजमहल पहाड़ियाँ जुरासिक काल की चट्टानों से बनी हैं और इनका नाम राजमहल शहर के नाम पर रखा गया है जो झारखंड राज्य में पूर्व में स्थित है।
उपर्युक्त में से कौन सा कथन सही नहीं है/हैं?
(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1, न ही 2

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या –

  • गारो और खासी पहाड़ियाँ उपमहाद्वीप के प्रायद्वीपीय भाग का विस्तार हैं। कार्बी आंगलोंग पठार के साथ, मेघालय पठार (जिसमें गारो, खासी और जैन्तिया पहाड़ियाँ शामिल हैं) मालदा दोष (बंगाल में) द्वारा छोटानागपुर पठार (प्रायद्वीपीय भारत का हिस्सा) से अलग हो जाता है। अतः कथन 1 सही नहीं है
  • राजमहल पहाड़ियाँ जुरासिक काल की चट्टानों से बनी हैं और इनका नाम राजमहल शहर के नाम पर रखा गया है जो झारखंड राज्य में पूर्व में स्थित है। अतः कथन 2 सही है

 

3. निम्नलिखित में से कौन सी घटना तूफान के निर्माण के लिए जिम्मेदार है/हैं?
1. उच्च तापमान और आर्द्रता
2. खड़ी हवा
3. ऑरोग्राफी
4. संघनन
नीचे दिए गए कोड का उपयोग करके सही उत्तर चुनिए:
(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1, 2 और 4
(D) 1, 2, 3 और 4

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

व्याख्या – वज्रपात के लिए सभी जिम्मेदार हैं। वज्रपात, एक तूफ़ान है जो बिजली की उपस्थिति और पृथ्वी के वायुमंडल पर इसके ध्वनिक प्रभाव की विशेषता है, जिसे गड़गड़ाहट के रूप में जाना जाता है। गरज के साथ तूफ़ान एक प्रकार के बादल में आते हैं जिसे क्यूम्यलोनिम्बस के नाम से जाना जाता है। वे आम तौर पर तेज़ हवाओं के साथ आते हैं, और अक्सर भारी बारिश और कभी-कभी बर्फबारी, ओलावृष्टि या ओलावृष्टि पैदा करते हैं, लेकिन कुछ गरज के साथ बहुत कम वर्षा होती है या बिल्कुल भी वर्षा नहीं होती है। गर्म, नम हवा के तेजी से ऊपर की ओर बढ़ने के कारण, कभी-कभी सामने की ओर, गरज के साथ तूफ़ान आते हैं। जैसे-जैसे गर्म, नम हवा ऊपर की ओर बढ़ती है, यह ठंडी होती है, संघनित होती है और एक क्यूम्यलोनिम्बस बादल बनाती है जो 20 किलोमीटर से अधिक की ऊंचाई तक पहुंच सकता है। जैसे ही ऊपर उठती हवा अपने ओस बिंदु तापमान तक पहुंचती है, जलवाष्प संघनित होकर पानी की बूंदों या बर्फ में बदल जाती है, जिससे वज्रपात कक्ष के भीतर स्थानीय स्तर पर दबाव कम हो जाता है। कोई भी वर्षा बादलों के माध्यम से पृथ्वी की सतह तक लंबी दूरी तक गिरती है। जैसे ही बूंदें गिरती हैं, वे अन्य बूंदों से टकराती हैं और बड़ी हो जाती हैं। गिरती हुई बूंदें एक डाउनड्राफ्ट बनाती हैं क्योंकि यह ठंडी हवा को अपने साथ खींचती है, और यह ठंडी हवा पृथ्वी की सतह पर फैलती है, जिससे कभी-कभी तेज़ हवाएँ चलती हैं जो आमतौर पर गरज के साथ जुड़ी होती हैं। अतः विकल्प (D) सही है

4. “उप शहरीकरण” शब्द का तात्पर्य है:
(A) केंद्रीय शहरी क्षेत्र से उपग्रह समुदायों तक लोगों की आवाजाही
(B) निचले स्तर के शहरों में जनसंख्या में कमी
(C) जनसंख्या का ग्रामीण क्षेत्रों से उपनगरों में स्थानांतरण
(D) शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण क्षेत्रों की ओर जनसंख्या का स्थानांतरण

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या – उपनगरीयकरण केंद्रीय शहरी क्षेत्रों से उपनगरों में आबादी का स्थानांतरण है, जिसके परिणामस्वरूप (उप) शहरी फैलाव का निर्माण होता है। घरों और व्यवसायों के शहर केंद्रों से बाहर जाने के परिणामस्वरूप, कम घनत्व, परिधीय शहरी क्षेत्रों का विकास होता है। (उपनगरीकरण शहरीकरण से विपरीत रूप से संबंधित है, जो ग्रामीण क्षेत्रों से शहरी केंद्रों में आबादी के बदलाव को दर्शाता है।) महानगरीय क्षेत्रों के कई निवासी केंद्रीय शहरी क्षेत्र के भीतर काम करते हैं, और उपग्रह समुदायों में रहना पसंद करते हैं जिन्हें उपनगर कहा जाता है और ऑटोमोबाइल के माध्यम से काम पर जाते हैं। अतः विकल्प (A) सही है

5. कार्स्ट स्थलाकृति के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. ऐसी स्थलाकृति केवल उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण वातावरण में होती है।
2. दुनिया की आधी से अधिक आबादी कार्स्ट क्षेत्रों से आपूर्ति किये जाने वाले पानी पर निर्भर है।
उपर्युक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?
(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1, न ही 2

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

व्याख्या – कार्स्ट शब्द एक विशिष्ट स्थलाकृति का वर्णन करता है जो सतही जल या भूजल द्वारा अंतर्निहित घुलनशील चट्टानों के विघटन (जिसे रासायनिक समाधान भी कहा जाता है) को इंगित करता है। यद्यपि आमतौर पर कार्बोनेट चट्टानों (चूना पत्थर और डोलोमाइट) से जुड़े होते हैं, अन्य अत्यधिक घुलनशील चट्टानें जैसे वाष्पीकरण (जिप्सम और सेंधा नमक) को कार्स्ट इलाके में ढाला जा सकता है। गुफाओं और कार्स्ट को समझना महत्वपूर्ण है क्योंकि पृथ्वी की सतह के दस प्रतिशत हिस्से पर कार्स्ट परिदृश्य का कब्जा है और दुनिया की एक चौथाई आबादी कार्स्ट क्षेत्रों से आपूर्ति किए जाने वाले पानी पर निर्भर करती है। यद्यपि आर्द्र क्षेत्रों में सबसे प्रचुर मात्रा में जहां कार्बोनेट चट्टान मौजूद है, कार्स्ट भूभाग समशीतोष्ण, उष्णकटिबंधीय, अल्पाइन और ध्रुवीय वातावरण में होता है। अतः दोनों कथन सही नहीं हैं

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily Quiz – Uttarakhand PCS GS (Paper – I) – 20 May 2024 (Monday)

Daily Quiz : उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC)
20 May, 2024 (Monday)

1. ‘दून’ संदर्भित करता है:
(A) नदी घाटियों को

(B) संरचनात्मक घाटियों को
(C) अल्पाइन घास के मैदानों को
(D)  बाढ़ क्षेत्र को

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्याहिमालय और शिवालिक पर्वत श्रृंखला के बीच लंबी घाटियों को ‘दून’ कहा जाता है। ये संरचनात्मक मूल की घाटियाँ हैं। ये घाटियाँ हिमालय तथा शिवालिक के ऊपरी भाग के कटाव के कारण पत्थर तथा बजरी से ढकी रहती हैं।

2. उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड की स्थापना किस वर्ष हुई थी?
(A) 1995 में
(B) 2001 में

(C) 2003 में
(D) 2010 में

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – 12 फरवरी, 2001 को उत्तराखंड के विद्युत क्षेत्र को एक नई दिशा प्रदान करने के लिये उत्तरांचल जल विद्युत निगम लिमिटेड का गठन किया गया। उत्तरांचल से उत्तराखंड में राज्य का नाम बदलने के परिणामस्वरूप, कंपनी का नाम बदलकर 02 जुलाई 2007 को उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड कर दिया गया।

 

3. निम्नलिखित में से कौन मैती आंदोलन के जनक हैं?
(A) कल्याण सिंह रावत
(B) सुंदर लाल बहुगुणा
(C) गौरा देवी
(D) चंडी प्रसाद भट्ट

Show Answer/Hide

उत्तर – (A) 

व्याख्यामैती आंदोलन उत्तराखंड में चलाया गया एक प्रमुख पर्यावरणीय आंदोलन है। इस आंदोलन के प्रणेता श्री कल्याण सिंह रावत हैं। कल्याण जी ने वर्ष 1996 में चमोली के ग्वालदम क्षेत्र से इस आंदोलन की शुरूआत की। ‌इस आंदोलन में शादी के समय वर-वधू एक पौधे का रोपण करते हैं। बेटी के ससुराल जाने के बाद उसके माता-पिता इस पौधे को बेटी की तरह मानकर इसकी देखभाल करते हैं।

4. भारतीय सविधान संशोधन प्रक्रिया का वर्णन किस अनुछेद में किया गया है?
(A) अनुछेद-226

(B) अनुछेद-367
(C) अनुछेद 368
(D) अनुछेद 369

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्याभारतीय संविधान प्रक्रिया को दक्षिण अफ्रीका के संविधान से अपनाया गया है। भारतीय संविधान के भाग-20 के अंतर्गत अनुछेद-368 में संविधान प्रक्रिया का वर्णन किया गया है। अत: विकल्प C सही है।   

अनुछेद-368(1) के अनुसार संसद को एक निशित प्रक्रिया के अनुसार संविधान के किसी उपबंध का परिवर्द्धन, परिवर्तन या निरसन के रूप में  संशोधन करने की विधायी शक्ति प्राप्त है।

5. मेरी लाइफ एप निम्नलिखित में से किस मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया है?
(A) पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय
(B) कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय
(C) जनजातीय कार्य मंत्रालय
(D) उपर्युक्त कोई नहीं

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या – पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने विश्व पर्यावरण दिवस (5 जून को) से पहले जलवायु परिवर्तन हेतु युवाओं को एकजुट के लिये “मेरी लाइफ” (Meri LiFE) नामक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च किया है।

मेरी लाइफ एप का उद्देश्य दैनिक जीवन में सरल कार्यों के प्रभाव पर ज़ोर देकर पर्यावरण को बचाने में नागरिकों, विशेष रूप से युवा लोगों की शक्ति का प्रदर्शन करना है।

6. विश्व पर्यावरण दिवस की स्थापना 5 जून, 1974 को निम्नलिखित में से किसके द्वारा की गई थी।
(A) नीति आयोग

(B) संयुक्त राष्ट्र महासभा
(C) जलवायु परिवर्तन पर अंतर-सरकारी पैनल (IPCC)
(D) जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क अभिसमय (UNFCCC)

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – विश्व पर्यावरण दिवस की स्थापना 5 जून, 1974 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा की गई थी। यह जागरूकता बढ़ाने और पर्यावरणीय मुद्दों पर कार्यवाही करने के लिये एक वैश्विक मंच के रूप में कार्य करता है।

7. दहिकला, गफा, लेजिम, नकटा, कोली और दशावतार निम्नलिखित में से किस राज्य के प्रसिद्ध लोक नृत्य हैं ?
(A) मध्य प्रदेश

(B) गुजरात
(C) आंध्रप्रदेश
(D) महाराष्ट्र

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

व्याख्यालावणी, दहिकला, तमाशा, धनगड़ी गाजा, डिंडी, गफा, लेजिम, नकटा, कोली और दशावतार महाराष्ट्र के प्रसिद्ध लोक नृत्य हैं।

8. लाइट डिटेक्शन एंड रेंजिंग या LiDAR क्या है ?
(A) बैलिस्टिक मिसाइलों को नष्ट करने हेतु एक मिसाइल रक्षा प्रणाली

(B) लेज़र के प्रयोग द्वारा किसी वस्तु की पूर्ण 3D छवि तैयार करने की विधि
(C) पृथ्वी की सतह पर किसी वस्तु की सटीक दूरी के मापन हेतु रिमोट सेंसिंग विधि
(D) प्रक्षेपणास्त्र रक्षा प्रणाली की प्रभावकारिता के संसूचन की क्रियाविधि

Show Answer/Hide

उत्तर – (C) 

व्याख्या – लाइट डिटेक्शन एंड रेंजिंग या LiDAR एक रिमोट सेंसिंग विधि है जिसका प्रयोग पृथ्वी की सतह पर किसी वस्तु की सटीक दूरी को मापने हेतु किया जाता है। 

इसके लिये LiDAR स्पंदित लेज़र का उपयोग करता है एवं इसके अंतर्गत प्रकाश स्पंदों को हवाई प्रणाली द्वारा एकत्र किये गए डेटा के साथ समायोजित किया जाता है जिससे पृथ्वी की सतह और लक्षित वस्तु के बारे में सटीक 3D जानकारी प्राप्त होती है।

9. इंटरनेशनल यूनियन ऑफ रेलवे की स्थापना किस वर्ष में हुयी थी ?
(A) 1889

(B) 1902
(C) 1908
(D) 1922

Show Answer/Hide

उत्तर – (D) 

व्याख्याइंटरनेशनल यूनियन ऑफ रेलवे की स्थापना वर्ष 1922 में हुयी थी एवं इसका मुख्यालय पेरिस में है। यह रेल परिवहन के अनुसंधान, विकास एवं प्रसार के लिये रेलवे क्षेत्र का प्रतिनिधित्त्व करने वाला विश्वव्यापी पेशेवर संघ है ।

10. वन्य जीव संरक्षण अधिनियम किस वर्ष अधिनियमित किया गया था?
(A) 1970

(B) 1972
(C) 1980
(D) 1985

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्यावन्यजीव संरक्षण अधिनियम वर्ष 1972 में अधिनियमित गया था।

 

Read Also :
Uttarakhand Exam Daily MCQs Click Here
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here

 

Daily MCQs – संविधान एवं राजव्यवस्था – 20 May 2024 (Mon)

Daily MCQs : संविधान एवं राजव्यवस्था (Constitution and Polity)
20 May, 2024 (Monday)

1. रेग्यूलेटिंग एक्ट-1773 के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(A) इस अधिनियम के अंतर्गत कलकत्ता में 1773 में एक सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना की गई थी।
(B) इस अधिनियम के द्वारा बंगाल के गवर्नर को बंगाल के गवर्नर जनरल पद नाम दिया गया।
(C) लॉर्ड वॉरेन हेस्टिंग्स बंगाल के प्रथम गवर्नर जनरल बने।
(D) इस अधिनियम के द्वारा भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी पर नियंत्रण रखने का प्रथम प्रयास किया गया था।

Show Answer/Hide

उत्तर – (A) 

व्याख्या – कथन (a) सत्य नहीं है, क्योंकि रेग्यूलेटिंग एक्ट-1773 के द्वारा भारत में एक सर्वोच्च न्यायालय स्थापित करने संबंधी प्रावधान किया गया था, परंतु इसकी स्थापना वर्ष 1774 में कलकत्ता में की गई थी न कि 1773 में। इस सर्वोच्च न्यायालय में एक मुख्य न्यायाधीश एवं तीन अन्य न्यायाधीश थे। सर एलिजा इम्पे को मुख्य न्यायाधीश बनाया गया था।

  • इस अधिनियम के द्वारा बंगाल के गवर्नर को बंगाल का गवर्नर जनरल पद का नाम दिया गया। मद्रास एवं बंबई के गवर्नरों को बंगाल के गवर्नर जनरल के अंतर्गत कर दिया गया। गवर्नर जनरल की सहायता के लिये चार सदस्यों वाली एक कार्यकारी परिषद का गठन किया गया। बंगाल का पहला गवर्नर जनरल वॉरेन हेस्टिंग्स को बनाया गया।
  • इस अधिनियम के द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी पर नियंत्रण रखने के लिये प्रथम बार प्रयास किया गया था। इस अधिनियम में पहली बार भारत में कंपनी के राज के लिये लिखित संविधान प्रस्तुत किया गया तथा कंपनी के राजनीतिक एवं प्रशासनिक उत्तरदायित्वों को स्वीकार किया गया।
  • रेग्यूलेटिंग एक्ट 1773 की कमियों को दूर करने के लिये ब्रिटिश  संसद द्वारा 1781 में एक संशोधन अधिनियम पारित किया गया, जिसे ‘एक्ट ऑफ सैटलमेंट’ के नाम से जाना जाता है।

 

2. निम्नलिखित पर विचार कीजियेः
1. प्रांतीय स्वायत्तता
2. प्रांतों में द्वैध शासन
3. संघीय व्यवस्था
4. संघीय न्यायालय की स्थापना
5. भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना
उपरोक्त में से कौन-से भारत शासन अधिनियम, 1935 के संदर्भ में सही हैं?
(A) केवल 1, 2 और 3
(B) केवल 1, 2, 3 और 4
(C) केवल 1, 3, 4 और 5
(D) उपरोक्त सभी

Show Answer/Hide

उत्तरः (C)

व्याख्या – कथन 2 असत्य है, क्योंकि भारत शासन अधिनियम, 1935 के द्वारा अधिनियम, 1919 में लागू की गई प्रांतों में द्वैध शासन व्यवस्था समाप्त करके केंद्र में द्वैध शासन की स्थापना की गई। केंद्रीय विषयों को आरक्षित एवं हस्तांतरित भागों में विभाजित किया गया। प्रतिरक्षा, वैदेशिक मामले, धार्मिक मामले (ईसाई धर्म संबंधी) तथा कबाइली क्षेत्र आरक्षित विषय थे।

  • इस अधिनियम के द्वारा प्रांतीय स्वायत्तता लागू की गई, क्योंकि प्रत्येक प्रांत में एक कार्यपालिका एवं विधानमंडल की स्थापना की गई थी। गवर्नर को उन मंत्रियों की सलाह पर कार्य करना पड़ता था, जो विधान परिषद के प्रति उत्तरदायी होते थे।
  • इस अधिनियम के द्वारा एक अखिल भारतीय संघ की स्थापना का प्रावधान किया गया था, जो ब्रिटिश शासन के प्रांतों एवं उन देशी रियासतों, जो स्वेच्छा से शामिल होना चाहते थे, से मिलकर बनने वाला था। तीन सूचियों-संघ सूची, राज्य सूची एवं समवर्ती सूची का बँटवारा केंद्र एवं राज्यों के बीच होना था। अवशिष्ट शक्तियाँ वायसराय को दी गई थीं, परंतु यह अखिल भारतीय संघ अस्तित्व में आ न सका, क्योंकि देशी रियासतों ने इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया था।
  • इस अधिनियम द्वारा संघ की राजधानी दिल्ली में एक संघीय न्यायालय का प्रावधान किया गया था। इसमें एक मुख्य न्यायाधीश, तीन अन्य न्यायाधीश एवं दो अतिरिक्त न्यायाधीशों का प्रावधान था। सम्राट द्वारा न्यायाधीश का चुनाव किया जाना था, जो 65 वर्ष की आयु तक अपने पद पर रह सकता था। सन् 1937 में एक संघीय न्यायालय की स्थापना की गई।
  • इस अधिनियम के तहत एक भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना की गई।
  • इस अधिनियम के द्वारा संघीय लोक सेवा के अतिरिक्त प्रांतीय सेवा आयोग एवं दो या अधिक राज्यों के लिये संयुक्त सेवा आयोग की स्थापना की गई।
  • गवर्नर जनरल आपातकाल की घोषणा कर छः माह के लिये केंद्रीय सरकार के सभी कार्यों को सीधे अपने उत्तरदायित्व में ले सकता था।

 

3. भारत शासन अधिनियम, 1919 के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन असत्य है?
(A) इस अधिनियम ने भारत में आंशिक रूप से उत्तरदायी शासन व्यवस्था की स्थापना की।
(B) इस अधिनियम के द्वारा केंद्र में द्विसदनीय व्यवस्था प्रारंभ की गई।
(C) इस अधिनियम द्वारा केंद्र में द्वैध शासन की स्थापना की गई।
(D) इस अधिनियम द्वारा पृथक् निर्वाचन प्रणाली का विस्तार किया गया।

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या – कथन (c) गलत है, क्योंकि भारत शासन अधिनियम, 1919 के द्वारा केंद्र में नहीं, बल्कि प्रांतों में द्वैध शासन प्रणाली की स्थापना हुई। प्रांतीय विषयों को दो भागों में विभाजित किया गया था: हस्तांतरित एवं आरक्षित विषय।

  • हस्तांतरित विषय पर गवर्नर का शासन होता था और इन कार्यों में वह उन मंत्रियों की सहायता लेता था, जो विधान परिषद के प्रति उत्तरदायी थे। आरक्षित विषयों पर गवर्नर, कार्यपालिका परिषद की सहायता से कार्य करता था और कार्यपालिका परिषद विधान परिषद के प्रति उत्तरदायी नहीं थी। शिक्षा, स्वास्थ्य आदि हस्तांतरित विषय थे, जबकि पुलिस, जेल, न्याय, वित्त, राजस्व आदि आरक्षित विषय थे।
  • भारत शासन अधिनियम, 1919 ने भारत में आंशिक रूप से (Partially) उत्तरदायी शासन की स्थापना की। इस अधिनियम के द्वारा ब्रिटिश संसद ने पहली बार भारत में उत्तरदायी प्रशासन की दिशा में कदम बढ़ाया। इस अधिनियम में प्रांतीय स्तर पर संसदीय शासन व्यवस्था की झलक मिलती है।
  • इस अधिनियम द्वारा केंद्र में पहली बार द्विसदनीय व्यवस्था प्रारंभ की गई-
    • (i)  राज्य परिषद (Council of State)- ऊपरी सदन (5 वर्ष के लिये)
    • (ii) विधान सभा (Legislative Assembly)- निचला सदन (3 वर्ष के लिये)
  • इस अधिनियम द्वारा पृथक् निर्वाचन प्रणाली का विस्तार मुस्लिमों के अलावा सिखों, भारतीय ईसाइयों, आंग्ल-भारतीयों एवं यूरोपियों तक किया गया।
  • इस अधिनियम द्वारा केंद्र एवं प्रांतीय विषयों की सूची पहचान कर पृथक् किया गया तथा केंद्रीय एवं प्रांतीय विधान परिषदों को अपनी सूचियों के विषयों पर विधान बनाने की शक्ति प्रदान की गई। यातायात, डाकतार, सुरक्षा एवं वैदेशिक मामले केंद्रीय विषय के अंतर्गत तथा कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्थानीय प्रशासन प्रांतीय विषयों के अंतर्गत शामिल किये गए।
  • संपत्ति, कर या शिक्षा के आधार पर सीमित संख्या में लोगों को मताधिकार प्रदान किया गया।
  • इस अधिनियम के द्वारा एक लोकसेवा आयोग का गठन किया गया तथा ली आयोग की सिफारिश पर सन् 1926 में सिविल सेवकों की भर्ती के लिये केंद्रीय लोक सेवा आयोग का गठन किया गया।
  • इस अधिनियम द्वारा केंद्रीय बजट को राज्यों के बजट से अलग किया गया।
  • इस अधिनियम द्वारा एक वैधानिक आयोग का गठन किया गया।
  • इस अधिनियम द्वारा लंदन में भारत के उच्चायुक्त कार्यालय का सृजन किया गया।
  • भारत शासन अधिनियम, 1919 मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार पर आधारित, जिसकी घोषणा 20 अगस्त, 1917 में की गई तथा यह अधिनियम सन् 1921 में लागू हुआ एवं 1937 तक भारत में लागू रहा।

 

4. भारतीय परिषद अधिनियम, 1909 के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?
1. इस अधिनियम के द्वारा पहली बार विधान परिषद को बजट पर बहस करने की शक्ति प्राप्त हुई।
2. इस अधिनियम के द्वारा सांप्रदायिक निर्वाचन प्रणाली की शुरुआत हुई।
3. यह अधिनियम मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार के नाम से जाना जाता है।
नीचे दिये गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर का चयन कीजिये:
(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – कथन 1 और 3 असत्य हैं, क्योंकि विधान परिषद को बजट पर बहस करने का अधिकार पहली बार भारत परिषद अधिनियम, 1892 द्वारा प्रदान किया गया था, परंतु बजट पर मतदान करने एवं पूरक प्रश्न पूछने की शक्ति प्रदान नहीं की गई थी। बजट पर मतदान करने एवं पूरक प्रश्न पूछने तथा सार्वजनिक हित के विषयों पर प्रस्ताव पेश करने की शक्ति विधान परिषद को भारतीय परिषद अधिनियम, 1909 के द्वारा प्राप्त हुई।

  • इस अधिनियम के द्वारा सांप्रदायिक निर्वाचन प्रणाली अथवा पृथक निर्वाचन की व्यवस्था की गई अर्थात् मुस्लिम सदस्यों का चुनाव केवल मुस्लिम मतदाता ही कर सकते थे।
  • इस अधिनियम को मॉर्ले-मिंटो सुधार के नाम से जाना जाता है, न कि मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार। मार्ले भारत-सचिव एवं लॉर्ड मिंटो भारत के वायसराय थे।
  • लॉर्ड मिंटो को सांप्रदायिक निर्वाचन के जनक के रूप में जाना जाता है।
  • सत्येंद्र सिन्हा वायसराय की कार्यपालिका परिषद के प्रथम भारतीय सदस्य बने। इन्हें विधि सदस्य बनाया गया था।

 

5. भारत परिषद अधिनियम, 1861 के विषय में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन असत्य है?
(A) इस अधिनियम के द्वारा पहली बार भारतीय प्रतिनिधियों को कानून बनाने की प्रक्रिया में शामिल किया गया।
(B) इस अधिनियम ने विकेंद्रीकरण प्रक्रिया का प्रारंभ किया।
(C)  इस अधिनियम ने वायसराय को अध्यादेश निकालने की शक्ति प्रदान की, जिसकी अवधि एक वर्ष थी।
(D)  इस अधिनियम ने कैनिंग के द्वारा प्रारंभ की गई पोर्टफोलियो प्रणाली को मान्यता प्रदान की।

Show Answer/Hide

उत्तर – (C) 

व्याख्या – कथन (c) असत्य है, क्योंकि यह अधिनियम वायसराय को आपातकाल में परिषद की संस्तुति के बिना अध्यादेश जारी करने की शक्ति प्रदान करता है, परंतु इसकी अवधि एक वर्ष नहीं, बल्कि छः माह होती थी।

  • इस अधिनियम के द्वारा पहली बार भारतीय प्रतिनिधियों को कानून बनाने की प्रक्रिया में शामिल किया गया। सन् 1862 में लॉर्ड कैनिंग द्वारा तीन भारतीयों: बनारस के राजा, पटियाला के महाराज एवं सर दिनकर राव को गैर-सरकारी सदस्य के रूप में विधान परिषद में मनोनीत किया गया।
  • इस अधिनियम द्वारा रेग्यूलेटिंग एक्ट, 1773 में प्रारंभ की गई केंद्रीकरण की प्रवृत्ति को बदल दिया गया एवं विकेन्द्रीकरण की प्रक्रिया प्रारंभ की गई। मद्रास एवं बंबई प्रेसीडेंसियों को विधायी शक्तियाँ पुनः प्रदान की गईं।
  • इस अधिनियम के आधार पर बंगाल (1862), उत्तर-पश्चिम सीमा प्रांत (1866) एवं पंजाब (1897) में विधान परिषदों का गठन हुआ।
  • इस अधिनियम ने लॉर्ड कैनिंग द्वारा 1859 में प्रारंभ की गई पोर्टफोलियो प्रणाली को मान्यता प्रदान की गई।

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily MCQs – पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी – 18 May 2024 (Sat)

Daily MCQs : पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी (Environment and Ecology)
18 May, 2024 (Saturday)

1. गहन निर्वाह कृषि के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. गहन निर्वाह कृषि के अंतर्गत किसान बड़े भूखंड पर खेती करता है।
2. इसकी मुख्य फसल चावल है।
3. यह कृषि दक्षिणी, दक्षिणी-पूर्वी और पूर्वी एशिया के सघन जनसंख्या वाले मानसूनी प्रदेशों में प्रचलित है।
निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(A) केवल 1
(B) केवल 1 और 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या –

  • गहन निर्वाह कृषि, निर्वाह कृषि का एक प्रकार है। इसके अंतर्गत किसान छोटे भूखंड पर साधारण और अधिक श्रम से खेती करता है। अधिक धूप वाले दिनों से युक्त जलवायु और उर्वर मृदा वाले खेत में एक वर्ष में एक से अधिक फसलें उगाई जा सकती हैं।
  • यहाँ की मुख्य फसल चावल होती है। अन्य फसलों में गेहूँ, मक्का, दलहन और तिलहन शामिल हैं।

2. आदिम निर्वाह कृषि के अंतर्गत शामिल हैः
(A) स्थानांतरी कृषि और चलवासी पशुचारण कृषि

(B) शुष्क भूमि कृषि और आर्द्रभूमि कृषि
(C) मिश्रित कृषि और रोपण कृषि
(D) सिंचित कृषि और वर्षा निर्भर कृषि

Show Answer/Hide

उत्तर – (A)

व्याख्या –

  • आदिम निर्वाह कृषि के अंतर्गत स्थानांतरी कृषि और चलवासी पशुचारण शामिल है।
  • स्थानांतरी कृषिः यह अमेजन बेसिन के सघन वन क्षेत्रों, उष्णकटिबंधीय अफ्रीका, दक्षिण-पूर्वी एशिया और उत्तर-पूर्वी भारत के क्षेत्रों में प्रचलित है। यहाँ वृक्षों को काटकर और जलाकर भूखंड को साफ किया जाता है तथा मक्का, रतालू, आलू और कसावा जैसी फसलों को उगाया जाता है।
  • चलवासी पशुचारणः यह सहारा के अर्द्धशुष्क और शुष्क प्रदेशों में मध्य एशिया और भारत के कुछ भागों, जैसे-राजस्थान एवं जम्मू-कश्मीर में प्रचलित है। इस प्रकार की कृषि में पशुचारक अपने पशुओं के साथ चारे और पानी के लिये एक स्थान से दूसरे स्थान पर निश्चित मार्गों से भ्रमण करते हैं। पशुचारक मुख्यतः भेड़, ऊँट मवेशी, याक और बकरियाँ पालते हैं।

3. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. मिश्रित कृषि यूरोप, पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका, अर्जेटीना, दक्षिण-पूर्वी ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और दक्षिण अफ्रीका में प्रचलित है।

2. 25 सेमी. या इससे कम वर्षा वाले क्षेत्रों में की जाने वाली कृषि शुष्क भूमि कृषि कहलाती है।
3. भारत के शुष्क भूमि कृषि मुख्यतः 100 सेमी. से कम वर्षा वाले प्रदेशों तक सीमित है।
4. चावल, जूट, गन्ना आर्द्रभूमि कृषि के अंतर्गत उगाई जाने वाली प्रमुख फसलें हैं।
उपर्युक्त कथनों में से कौन- से सही हैं?
(A) केवल 1 और 2
(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1, 2 और 4
(D) 1, 2, 3 और 4

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या –

  • मिश्रित कृषि का उपयोग भोजन व चारे की फसलें उगाने और पशुपालन के लिये किया जाता है। यह यूरोप, पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका, अर्जेंटीना, दक्षिण-पूर्वी ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और दक्षिण अफ्रीका में प्रचलित है।
  • भारत में शुष्क भूमि कृषि मुख्यतः उन प्रदेशों तक सीमित है जहाँ वार्षिक वर्षा 75 सेमी. से कम है। इस शुष्कता को सहन करने में सक्षम फसलों, जैसे-रागी, बाजरा, मूंग, चना तथा ज्वार आदि उगाई जाती हैं। अतः कथन (3) सही नहीं है
  • चावल, जूट, गन्ने की फसल को अधिक मात्रा में जल की आवश्यकता होती है। अतः ये फसलें उन क्षेत्रों में उगाई जाती हैं जहाँ वर्षा की मात्रा 100 से 200 सेमी. के बीच रहती है। ये क्षेत्र आर्द्रभूमि कृषि क्षेत्र कहलाते हैं।

4. कृषि के विभिन्न प्रकारों के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. विशिष्ट खेती के अंतर्गत कुल आय का 50% किसी एक फसल से प्राप्त किया जाता है।

2. रैंचिंग खेती में भूमि की जुताई, बुआई, और फसलों का उत्पादन नहीं किया जाता है।
3. भारत के मध्य पूर्वी हिमालय, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम में आर्द्र या तर कृषि की जाती है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं हैं/है?
(A) केवल 1
(B) केवल 1 और 2
(C) केवल 2 और 3
(D) उपरोक्त में से कोई नहीं।

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)

व्याख्या –

  • विशिष्ट खेतीः विशिष्ट खेती से अभिप्राय उस कृषि से है जो अपनी कुल आय का कम-से-कम 50 % एक फसल से प्राप्त करे, जैसे- चाय, कहवा, गन्ना रबर आदि।
  • रैंचिंग खेतीः रैंचिंग खेती में भूमि की जुताई, बुआई फसलों का उत्पादन नहीं किया जाता है बल्कि प्राकृतिक वनस्पति पर विभिन्न प्रकार के पशुओं, जैसे- भेड़, बकरी इत्यादि को चराया जाता है। इस प्रकार की कृषि ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका एवं भारत के पर्वतीय क्षेत्रों में की जाती है।
  • आर्द्र या तर कृषिः यह कृषि जलोढ़ मृदा के उन क्षेत्रों में प्रचलित है जहाँ वर्षा की मात्रा 200 सेमी. से अधिक पाई जाती है। इस प्रकार की खेती मध्य-पूर्वी हिमालय, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम में की जाती है।

5. निम्नलिखित को सुमेलित कीजियेः

सूची-I (कृषि क्रांति)  सूची-II (संबंधित क्षेत्र)
A. धूसर क्रांति  1. झींगा मछली उत्पादन
B. गोल क्रांति  2. फल (बागवानी) उत्पादन
C. गुलाबी क्रांति  3. उर्वरक उपभोग वृद्धि
D. सुनहरी क्रांति  4. आलू उत्पादन

कूट :
(A) A-2, B-1, C-3, D-4
(B) A-3, B-4, C-1, D-2
(C) A-2, B-3, C-4, D-1
(D) A-3, B-1, C-4, D-2

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्याः सही सुमेलन हैः

सूची-I (कृषि क्रांति)  सूची-II (संबंधित क्षेत्र)
A. धूसर क्रांति  3. उर्वरक उपभोग वृद्धि
B. गोल क्रांति  4. आलू उत्पादन
C. गुलाबी क्रांति  1. झींगा मछली उत्पादन
D. सुनहरी क्रांति  2. फल (बागवानी) उत्पादन

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily MCQs – विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी – 17 May 2024 (Fri)

Daily MCQs : विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी (Science and Technology)
17 May, 2024 (Friday)

1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. सूर्य ऊर्जा का एकमात्र नवीकरणीय स्रोत है।

2. पानी, परमाणु ऊर्जा और जीवाश्म ईंधन सभी पारंपरिक ऊर्जा स्रोत हैं।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं? 
(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2

Show Answer/Hide

उत्तर – (B

व्याख्या –

पृथ्वी पर सूर्य ऊर्जा का सर्वकालीन स्रोत है। कोयला, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस जीवाश्म ईंधन है और अनवीकरणीय ऊर्जा स्रोत भी हैं। यह बेहद चिंताजनक है कि ये ऊर्जा स्रोत उद्योग एवं परिवहन की जरूरतों को पूरा करने के चलते तेजी से समाप्त होते जा रहे हैं। सूर्य की रोशनी, पवन, जल, बायोमास, भूतापीय ऊष्मा ही कुछ ऊर्जा के नवीकरणीय संसाधन हैं। अतः कथन 1 सही नहीं है

इनमें से जीवाश्म ईंधन (कोयला, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस, तेल शैल, बिटुमेन, टार रेत और भारी तेल), पानी और परमाणु ऊर्जा, परम्परागत संसाधन हैं जबकि सौर, जैव, पवन, समुद्री, हाइड्रोजन एवं भूतापीय ऊर्जा अपरम्परागत या वैकल्पिक ऊर्जा संसाधन हैं। अन्य स्तर पर हमारे पास वाणिज्यिक ऊर्जा स्रोत जैसे कोयला, पेट्रोलियम, विद्युत हैं तथा लकड़ी ईंधन, गाय का गोबर तथा कृषि अपशिष्ट जैसे गैर-वाणिज्यिक संसाधन भी हैं। अतः कथन 2 सही है

2. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः
1. आइसोटोप एक ही तत्व के परमाणु होते हैं जिनकी परमाणु संख्या समान होती है लेकिन न्यूट्रॉन की भिन्न संख्या के कारण द्रव्यमान संख्या भिन्न होती है ।
2. रेडियो आइसोटोप समस्थानिक होते हैं जो अस्थिर होते हैं और रेडियोधर्मी क्षय से गुजरते हैं, इस प्रक्रिया में विकिरण उत्सर्जित करते हैं ।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(A) केवल 1
(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D)  न तो 1 और न ही 2 

Show Answer/Hide

उत्तर – (C) 

व्याख्या –

आइसोटोपएक ही तत्व के परमाणु होते हैं जिनकी परमाणु संख्या समान होती है लेकिन न्यूट्रॉन की भिन्न संख्या के कारण द्रव्यमान संख्या भिन्न होती है । अतः कथन 1 सही है।

रेडियोआइसोटोपसमस्थानिक होते हैं जो अस्थिर होते हैं और रेडियोधर्मी क्षय से गुजरते हैं, इस प्रक्रिया में विकिरण उत्सर्जित करते हैं । अतः कथन 2 सही है

3. मानव शरीर में, निम्न में से कौन सा हार्मोन रक्त कैल्शियम और फॉस्फेट को नियंत्रित करता है?
(A) ग्लूकागन
(B) ग्रोथ हार्मोन
(C) पैराथायरायड हार्मोन
(D) थायरोक्सिन

Show Answer/Hide

उत्तर – C

व्याख्या –

ग्लूकागन – ग्लूकागन एक हॉर्मोन है जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। यह लीवर में ग्लाइकोजन (एक कार्बोहाइड्रेट) को तोड़ने का काम करता है, जिससे रक्त शर्करा का स्तर बढ़ जाता है। ग्लूकागन का रक्त कैल्शियम और फॉस्फेट के स्तरों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

ग्रोथ हॉर्मोन – ग्रोथ हॉर्मोन मनुष्यों और अन्य प्राणियों में वृद्धि और कोशिका निर्माण को बढ़ावा देता है। यह रक्त कैल्शियम और फॉस्फेट के स्तरों को नियंत्रित नहीं करता है।

पैराथायराइड हॉर्मोन – पैराथायराइड ग्रंथियों द्वारा बनाया जाने वाला पैराथायराइड हॉर्मोन (PTH) रक्त कैल्शियम और फॉस्फेट के स्तरों को नियंत्रित करता है। PTH हड्डियों से कैल्शियम निकालने और गुर्दे में कैल्शियम के उत्सर्जन को कम करके रक्त कैल्शियम के स्तर को बढ़ाता है। यह गुर्दे में फॉस्फेट के उत्सर्जन को भी बढ़ाता है।

थायरोक्सिन – थायरोक्सिन थायराइड ग्रंथि द्वारा बनाया जाने वाला एक हॉर्मोन है जो शरीर की चयापचय क्रिया (मेटाबॉलिज्म) को नियंत्रित करता है। इसका रक्त कैल्शियम और फॉस्फेट के स्तरों पर कोई सीधा प्रभाव नहीं पड़ता है। अतः विकल्प (c) सही उत्तर है

4. तरंगों के गुणों के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. तरंगदैर्घ्य किसी तरंग के दो आसन्न शिखरों या गर्तों के बीच की दूरी है ।
2. आवृत्ति तरंगों की वह संख्या है जो प्रति इकाई समय में दिए गए बिंदु से गुजरती है ।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
(A) केवल 1

(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1 और न ही 2 

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या –

तरंगदैर्ध्य किसी तरंग के दो लगातार शिखरों या गर्तों के बीच की दूरी होती है तथा इसे मीटर या नैनोमीटर जैसी लंबाई की इकाइयों में मापा जाता है। आवृत्ति एक निश्चित बिंदु से प्रति इकाई समय में गुजरने वाली तरंगों की संख्या होती है, और इसे हर्ट्ज (Hz) की इकाइयों में मापा जाता है, जो प्रति सेकंड एक चक्र को दर्शाता है। अतः विकल्प (C) सही उत्तर है

5. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
कथन I – क्रिप्टोकरेंसी को भारत में स्वीकार करने से भ्रष्टाचार को रोकने में मदद मिलेगी।
कथन II – क्रिप्टोकरेंसी को भारत में स्वीकार करने से डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।
उपर्युक्त कथनों के बारे में, निम्नलिखित में से कौन-सा एक सही है?
(A) कथन-I और कथन- II दोनों सही है तथा कथन-II, कथन-I की सही व्याख्या है।

(B) कथन-I और कथन-II दोनों सही है तथा कथन-II, कथन-I की सही व्याख्या नहीं है।
(C) कथन-I सही है किन्तु कथन-II गलत है।
(D) कथन-I गलत है किन्तु कथन-II सही है।

Show Answer/Hide

उत्तर – A 

व्याख्या –

दुनिया भर में क्रिप्टो-करेंसी का चलन बिटकॉइन के सृजन के साथ वर्ष 2008 में शुरू हुआ। जनवरी 2020 में कोविड-19 महामारी की शुरुआत से ही इस क्षेत्र में आश्चर्यजनक बढ़ोतरी देखी गई है। ज्ञात है कि “क्रिप्टो-बाजार” का मूल्य 500% से अधिक बढ़ गया है। हाल ही में सरकार ने एक संप्रभु डिजिटल करेंसी बनाने और सभी निजी क्रिप्टो-करेंसी को प्रतिबंधित करने के लिए “क्रिप्टो-करेंसी और आधिकारिक डिजिटल करेंसी विनियमन विधेयक, 2021” लाने की घोषणा की है।

क्रिप्टो-करेंसी ब्लॉकचेन प्रणाली पर काम करती है अर्थात यह एक पीयर-टू-पीयर नेटवर्क है। यह धन के प्रवाह और लेन-देन को ट्रैक करके भ्रष्टाचार को रोकने में मदद करता है। यह पूरी तरह से इंटरनेट पर संचालित होने के कारण धन भेजने और प्राप्त करने वाले के लिए काफी समय बचाने में मदद कर सकता है। हालांकि, 2018-19 के बजट भाषण में वित्त मंत्री ने बताया कि क्रिप्टो-करेंसी को सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है। अतः विकल्प (A) सही है

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily MCQs – अर्थव्यवस्था एवं सामाजिक विकास – 16 May 2024 (Thu)

Daily MCQs : अर्थव्यवस्था एवं सामाजिक विकास (Economy and Social Development)
16 May, 2024 (Thursday)

1. ग्रामीण क्षेत्रों और छोटे शहरों में शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिए स्वरोजगार के अवसर पैदा करने के लिए निम्नलिखित में से कौन सा कार्यक्रम शुरू किया गया था?
1. ग्रामीण रोजगार सृजन कार्यक्रम (REGP)

2. प्रधानमंत्री रोजगार योजना (PMRY)
3. प्रधानमंत्री ग्रामोदय योजना (PMGY)
नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए:
(A) केवल 1

(B) केवल 1 और 2
(C) केवल 2 और 3
(D) 1, 2 और 3

Show Answer/Hide

उत्तर – (B) 

व्याख्या – 

  • 2000 में शुरू की गई प्रधान मंत्री ग्रामोदय योजना (PMGY) के तहत, प्राथमिक स्वास्थ्य, प्राथमिक शिक्षा, ग्रामीण आश्रय, ग्रामीण पेयजल और ग्रामीण विद्युतीकरण जैसी बुनियादी सेवाओं के लिए राज्यों को अतिरिक्त केंद्रीय सहायता दी जाती है।
  • ग्रामीण रोजगार सृजन कार्यक्रम (REGP) 1995 में शुरू किया गया था। इस कार्यक्रम का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों और छोटे शहरों में स्वरोजगार के अवसर पैदा करना है।
  • प्रधान मंत्री रोजगार योजना (PMRY) एक और योजना है जिसे 1993 में शुरू किया गया था। कार्यक्रम का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों और छोटे शहरों में शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिए स्वरोजगार के अवसर पैदा करना है। उन्हें लघु व्यवसाय और उद्योग स्थापित करने में मदद की जाती है।

अतः विकल्प (B) सही है

2. ‘रेपो और रिवर्स रेपो’ के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. रिवर्स रेपो में, बैंक और वित्तीय संस्थान आरबीआई से सरकारी प्रतिभूतियाँ खरीदते हैं।

2. रेपो बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों को आरबीआई से लंबी अवधि के लिए पैसा उधार लेने की अनुमति देता है।
3. सभी सरकारी प्रतिभूतियां दिनांकित हैं और समय-समय पर आरबीआई द्वारा रेपो या रिवर्स रेपो लेनदेन के लिए ब्याज की घोषणा की जाती है। 
उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कौन से सही हैं?
(A) केवल 1 और 2

(B) केवल 2 और 3
(C) केवल 1 और 3
(D) 1, 2 और 3

Show Answer/Hide

 उत्तर – (C) 

व्याख्या – 

  • रिवर्स रेपो में, बैंक और वित्तीय संस्थान RBI से सरकारी प्रतिभूतियाँ खरीदते हैं (मूल रूप से यहाँ RBI बैंकों और वित्तीय संस्थानों से उधार ले रहा है)। अतः कथन 1 सही है
  • रेपो बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों को RBI से अल्पकालिक (सरकारी प्रतिभूतियों को RBI को बेचकर) के लिए पैसा उधार लेने की अनुमति देता है। अतः कथन 2 सही नहीं है।
  • सभी सरकारी प्रतिभूतियां दिनांकित हैं और समय-समय पर RBI द्वारा रेपो या रिवर्स रेपो लेनदेन के लिए ब्याज की घोषणा की जाती है। अतः कथन 3 सही है।

 

3. शहरी कायाकल्प और शहरी परिवर्तन के लिए अटल मिशन (AMRUT) के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:
1. यह पहला केंद्रित राष्ट्रीय जल मिशन है जिसका उद्देश्य घरों में पानी की आपूर्ति, सीवरेज आदि जैसी बुनियादी सेवाएं प्रदान करना और शहरों में सुविधाओं का निर्माण करना है।
2. अमृत के अंतर्गत 100 शहर शामिल हैं।
उपर्युक्त में से कौन सा/से कथन सही नहीं है/हैं?
(A) केवल 1

(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1, न ही 2

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – 

  • AMRUT एक पहला केंद्रित राष्ट्रीय जल मिशन है जिसका उद्देश्य घरों में पानी की आपूर्ति, सीवरेज आदि जैसी बुनियादी सेवाएं और शहरों में भवन निर्माण सुविधाएं प्रदान करना है। अतः कथन 1 सही है।
  • अमृत के तहत 500 शहरों का चयन किया गया है। अतः कथन 2 सही नहीं है।

 

4. कभी-कभी समाचारों में देखा जाने वाला शब्द ‘कोस्टक दर’ निम्नलिखित में से किससे संबंधित है?
(A) पूंजी बाजार
(B) न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)
(C) प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (IPO)
(D) सकल घरेलू उत्पाद

Show Answer/Hide

उत्तर – (C)

व्याख्या – यह एक IPO आवेदन से संबंधित है। तो, जिस दर पर कोई निवेशक लिस्टिंग से पहले आईपीओ आवेदन खरीदता है उसे कोस्टक दर कहा जाता है। अतः विकल्प (C) सही है।

5. विदेशी मुद्रा बाजार में मुद्रा विनिमय दर में मुक्त समायोजन में निम्नलिखित में से कौन सी बाधाएँ हैं?
1. केंद्रीय बैंक द्वारा बार-बार स्थिरीकरण।

2. किसी ऐसी वस्तु का निर्यात करना जो किसी राष्ट्र के लिए तुलनात्मक लाभ की हो।
उपर्युक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं?
(A) केवल 1

(B) केवल 2
(C) 1 और 2 दोनों
(D) न तो 1, न ही 2

Show Answer/Hide

 उत्तर – (A)

व्याख्या – 

  • स्थिरीकरण में अर्थव्यवस्था में कुल धन आपूर्ति को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय बैंक द्वारा बाजार में तरलता का प्रवाह और निष्कर्षण शामिल है। यह विनिमय दर को स्थिर रखता है और इस प्रकार इसके मुक्त समायोजन को अवरुद्ध करता है। अतः कथन 1 सही है
  • एक राष्ट्र आमतौर पर अपने तुलनात्मक लाभ की वस्तु का निर्यात करता है जिसका अर्थ है कि वह उन वस्तुओं के निर्यात में माहिर है जिनका उत्पादन वह वैश्विक अर्थव्यवस्था की तुलना में सस्ते या अधिक प्रतिस्पर्धी दरों पर कर सकता है। यह व्यापार में सहायता करता है और विनिमय दरों में मुक्त समायोजन को अवरुद्ध नहीं करता है। अतः कथन 2 सही नहीं है
Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily MCQs – इतिहास एवं कला-संस्कृति – 15 May 2024 (Wed)

Daily MCQs : इतिहास एवं कला-संस्कृति (History and Art & Culture)
15 May, 2024 (Wednesday)

1. निम्नलिखित प्राचीन भारतीय महाजनपदों के संदर्भ में विचार कीजियेः
1. कोशल
2. वज्जि
3. मगध
4. शाक्य
उपर्युक्त में से कौन-से महाजनपद प्रशासन की राजतंत्रीय पद्धति का अनुसरण नहीं करते थे?
केवल 1 और 2
केवल 1, 2 और 3
केवल 2 और 3
केवल 2 और 4 

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)   

व्याख्या –

  • वज्जि आठ गणराज्यों का समूह था। जिसमें प्रमुख थेः वैशाली, लिच्छवी, विदेह, मिथिला, ज्ञात्रिक आदि।
  • शाक्य (कपिलवस्तु) बुद्ध का जन्म इसी गणराज्य में हुआ था।

 

2. वैदिक धर्म की प्रतिक्रिया स्वरूप उभरे नवीन बौद्धिक आंदोलनों के संदर्भ में निम्नलिखित युग्मों पर विचार कीजियेः
1. पूरन कस्सपः ये अक्रियावादी अथवा अकर्मवाद के प्रचारक थे।
2. मक्खलि गोसालः ये नियतिवादी थे।
3. अजित केसकम्बलिनः ये उच्छेदवादी थे।
4. पकुध कच्चायनः ये नित्यवादी थे।
उपर्युक्त में से कौन-सा/से युग्म सही सुमेलित है/हैं?
केवल 1
केवल 2 और 3
केवल 2, 3 और 4
1, 2, 3 और 4

Show Answer/Hide

उत्तर – (D)   

व्याख्या –

  • मक्खलि गोशालः ये नियतिवादी थे, 6 वर्षों तक महावीर के साथ रहे बाद में आजीवक नामक स्वतंत्र सम्प्रदाय स्थापित किया। बिन्दुसार ने इस धर्म को संरक्षण दिया तथा अशोक एवं दशरथ ने गुफाएँ प्रदान की।
  • पूरन कस्सपः ये अक्रियावादी अथवा अकर्मवाद के प्रचारक थे।
  • पकुध कच्चायनः ये नित्यवादी थे।
  • अजित केसकम्बलिनः ये उच्छेदवादी थे तथा भारत के पहले भौतिकवादी चिंतक थे। आगे चलकर इसी को आधार बनाकर चार्वाक ने लोकायत दर्शन का प्रतिपादन किया।
  • संजय बेट्ठलिपुत्तः ये अनिश्चयवादी या संदेहवादी थे।

 

3. बौद्ध धर्म की विभिन्न शाखाओं के मतों के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा असत्य है?
महायान शाखा में बोधिसत्व की अवधारणा उभरी।
वज्रयान के तहत प्रज्ञापारमिता बुद्ध एवं बोधिसत्व को उनकी कल्पित पत्नियों के साथ संयुक्त कर दिया गया।
महायानी बुद्ध को एक शिक्षक के रूप में देखते हैं एवं उनके प्रतीकों और उनसे सम्बन्धित स्थलों को ही महत्त्व देते हैं।
बोधिसत्व समस्त सचेतन प्रणालियों को उनके प्रबोध के मार्ग पर चलने में सहायता करने के लिये स्वयं की निर्वाण प्राप्ति विलम्बित करता है।

Show Answer/Hide

उत्तर – (C) 

व्याख्या – कथन (C) असत्य है क्योंकि महायानी बुद्ध को देवता मानते हैं और उनकी पूजा मूर्ति बनाकर करते हैं जबकि हीनयानी बुद्ध को शिक्षक मानते हैं तथा उनके प्रतीकों तथा सम्बद्ध स्थलों को महत्त्व देते हैं। अन्य तीनों कथन सही हैं।

4. निम्नलिखित राज्यों में से किसका/किनका संबंध बुद्ध के जीवन से था?
1. गांधार
2. अवंति
3. मगध
4. कोसल
नीचे दिये गए कूट का उपयोग कर सही उत्तर चुनिये।
केवल 1 और 2
केवल 3 और 4
केवल 4
1, 2, 3 और 4

Show Answer/Hide

उत्तर – (B) 

व्याख्या –

  • महात्मा बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति मगध साम्राज्य में शामिल ‘बोध-गया’ में हुई तथा कोसल उनका मुख्य प्रचार क्षेत्र रहा।
  • महात्मा बुद्ध का विभिन्न स्थानों से संबंध निम्नलिखित हैः-
    • वैशाली के समीप इनकी भेंट अलार कलाम से हुई जो सांख्य दर्शन के आचार्य थे।
    • बुद्ध का जन्म कपिलवस्तु के निकट लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था।
    • कोसल में बुद्ध ने सर्वाधिक प्रचार किया।
    • कुशीनगर में इनकी मृत्यु हुई।
    • गांधार तथा अवंति से इनका कोई प्रत्यक्ष संबंध नहीं रहा।

 

5. बौद्ध धर्म की महायान शाखा के माध्यमिक या शून्यवाद के संदर्भ में कौन-सा कथन सही है?
इसके प्रतिपादक मैत्रेय थे।
इस शाखा के प्रमुख विद्वान असंग, वसुबंधु, धर्मकीर्ति स्थिरमति, दिंगनाग थे।
इसके अनुसार शून्य एक परमसत्ता है जो वर्णनातीत है। इसी आधार को लेकर शंकर का दर्शन आगे बढ़ा।
समाधि प्रज्ञा प्राप्ति का मार्ग नहीं है।

Show Answer/Hide

उत्तर – (C) 

व्याख्या –

  • माध्यमिक अथवा शून्यवाद के प्रतिपादक नागार्जुन हैं, इनकी पुस्तक ‘माध्यमिककारिका’ है। इन्होंने इसमें स्पष्ट किया है कि प्रत्येक वस्तु किसी अन्य वस्तु पर निर्भर है। शून्य एक परमसत्ता है जो वर्णनातीत है।
  • शंकर ने इसे ही अपने दर्शन का आधार बताया, अतः इन्हें प्रच्छन्न बौद्ध भी कहा जाता है।
  • नागार्जुन ने समाधि के माध्यम से प्रज्ञा प्राप्ति को सम्भव बताया है। इस दर्शन को आइंस्टीन के सापेक्षवाद का पूर्वगामी भी माना जाता है। इसके प्रमुख विद्वान चन्द्र- कीर्ति, आर्यदेव, शांतिदेव, और बुद्धपालित थे।

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here

Daily MCQs – भारत एवं विश्व का भूगोल – 14 May 2024 (Tue)

Daily MCQs : भारत एवं विश्व का भूगोल (India and World Geography)
14 May, 2024 (Tuesday)

1. फ्रांस के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में कौन-सा सही नहीं है?
पिरेनीज पर्वत फ्रांस को स्पेन से अलग करता है।
जूरा पर्वत इसे इटली से तथा आल्पस पर्वत इसे जर्मनी से अलग करता है।
आल्पस की सबसे ऊँची चोटी माउंट ब्लांक फ्रांस में है।
‘बोर्डी’ फ्रांस का सबसे बड़ा शराब उत्पादक केंद्र है।

Show Answer/Hide

 उत्तर – (B)

व्याख्या – फ्रांस की सीमा बेल्जियम,लक्ज़मबर्ग,जर्मनी,स्विटज़रलैंड,इटली,मोनाको,अंडोरा तथा स्पेन से मिलती है। पिरेनीज पर्वत फ्रांस को स्पेन से अलग करता है। आल्पस पर्वत इसे इटली,जूरा पर्वत इसे स्विटज़रलैंड तथा वास्वेज पर्वत इसे जर्मनी से अलग करता है। अतः कथन (B) गलत है। अन्य सभी कथन सही हैं।

2.  निम्नलिखित युग्मों को सुमेलित कीजियेः

(नगर) (उद्योग)
1. लियॉन्स  रेशम
2. स्ट्रेसबर्ग  काँच का सामान
3. लीपजिग  ऑप्टिकल इंस्ट्रूमेंट्स

उपर्युक्त युग्मों में से कौन-सा/से सही सुमेलित है/हैं?
केवल 1
केवल 2
केवल 1 और 2
केवल 1 और 3

Show Answer/Hide

 उत्तर – (D) 

व्याख्या – उपर्युक्त युग्मों का सही सुमेलन निम्न प्रकार से हैः

  • लियॉन्स – रेशम
  • स्ट्रेसबर्ग – इंजीनियरिंग उद्योग
  • लीपजिग – ऑप्टिकल इंस्ट्रूमेंट्स

 

3. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
1. प्रधान देशान्तर रेखा लंदन के निकट ग्रीनविच नामक स्थान से होकर गुज़रती है।
2. ‘मूरलैंड’ ग्रेट ब्रिटेन में स्थित मध्यवर्ती उच्च भूमि है।
3. राइन, मेन, एल्ब तथा ओडर जर्मनी की दक्षिण की ओर बहने वाली नदियाँ हैं।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
केवल 1
केवल 2
केवल 1 और 2
1, 2, और 3

Show Answer/Hide

 उत्तर – (C)

व्याख्या –

  • प्रधान देशांतर रेखा लंदन के निकट ग्रीनविच नामक स्थान से होकर गुज़रती है। अतः कथन (1) सही है
  • इंग्लैंड, वेल्स तथा स्कॉटलैण्ड को सम्मिलित रूप से ‘ग्रेट ब्रिटेन’ कहा जाता है। इस देश की मध्यवर्ती उच्च भूमि को ‘मूरलैंड’ कहा जाता है। क्योंकि यहाँ पेड़ नहीं पाए जाते हैं। अतः कथन (2) सही हैं
  • डेन्यूब, ओडर, एल्ब, वेसर, राइन, तथा हम्स जर्मनी की प्रमुख नदियाँ हैं। इनमें से डेन्यूब को छोड़कर शेष सभी नदियाँ उत्तर की ओर बहती है। अतः कथन (3) गलत है

 

4. जर्मनी के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा सही नहीं है?
राइन तथा रूर नदी के बीच का क्षेत्र कोयला उत्पादन के लिये प्रसिद्ध है।
ब्लैक फॉरेस्ट तथा हॉर्ज पर्वत ज्वालामुखी पर्वत है।
सैक्सोनी प्रदेश में लिग्नाइट कोयले के भंडार पाए जाते हैं।
म्यूनिख कला तथा संस्कृति का केंद्र है।

Show Answer/Hide

उत्तर – (B)

व्याख्या – ब्लैक फॉरेस्ट तथा हॉर्ज पर्वत ब्लॉक पर्वत का उदाहरण है। अतः कथन (b) गलत है,अन्य सभी कथन सही हैं।

5. रूस के संदर्भ निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:
1. अमूर नदी रूस तथा चीन के मध्य सीमा बनाती है।
2. तुला रूस के मेनचेस्टर के नाम से प्रसिद्ध है।
3. ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग विश्व का सबसे लंबा रेलमार्ग है।
उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?
केवल 1
केवल 1 और 2
केवल 3
1, 2 और 3

Show Answer/Hide

 उत्तर – (D)

व्याख्या – उपर्युक्त सभी कथन सही हैं।

  • अमूर नदी रूस व चीन के मध्य सीमा बनाती है।
  • तुला को रूस का पिट्सबर्ग तथा इवानोवो रूस के मैनचेस्टर नाम से प्रसिद्ध है।
  • ट्रांस-साइबेरियन रेलमार्ग संसार का सबसे लंबा रेलमार्ग है। यह रूस के औद्योगिक प्रदेशों को आपस में जोड़ता है।

 

Read Also :
All Daily MCQs  Click Here
Uttarakhand Study Material in Hindi Language (हिंदी भाषा में) Click Here
Uttarakhand Study Material in English Language
Click Here 
Uttarakhand Study Material One Liner in Hindi Language
Click Here
Previous Year Solved Paper  Click Here
UP Study Material in Hindi Language   Click Here
Bihar Study Material in Hindi Language Click Here
MP Study Material in Hindi Language Click Here
Rajasthan Study Material in Hindi Language Click Here
1 4 5 6 7 8
error: Content is protected !!