अटल भूजल योजना (Atal Bhujal Yojana)

परिचय (Introduction)

  • प्रारंभ की गई – पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर 25 दिसंबर, 2019  को ‘अटल भूजल योजना (Atal Bhujal Yojana)’ का शुभारंभ की गई। 
  • प्रचलित नाम – ‘अटल जल’ योजना
  • कुशल भूजल प्रबंधन के लिए 7 राज्यों (गुजरात, हरियाण, कर्नाटक, मध्‍य प्रदेश, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश) में शुरुआत की गई। 

अटल भूजल योजना का उद्देश्य (Objective of Atal Bhujal Yojana)

  • सहभागी भूजल प्रबंधन के लिए संस्थागत ढाँचे को मजबूत करना।
  • सामुदायिक स्तर पर स्थायी भूजल संसाधन प्रबंधन के लिए व्यावहारिक बदलाव लाना।
  • ग्राम पंचायतों को जल संरक्षण के लिए प्रोत्साहित करना।
  • अगले 5 वर्षों में पाइप के माध्यम से 15 करोड़ घरों में स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति करना।

अटल भूजल योजना का प्रावधान (Provision of Atal Bhujal Yojana)

  • योजना में शामिल राज्य : –  (1) गुजरात, (2) हरियाणा, (3) कर्नाटक, (4) मध्य प्रदेश, (5) महाराष्ट्र, (6) राजस्थान (7) उत्तर प्रदेश है।
  • इन राज्यों के 78 जिलों की लगभग 8,350 ग्राम पंचायतों में भू-जल स्तर गंभीर रूप से कम हैं। 
  • 5 वर्षों (2021-21 से 2024-25) की अवधि के दौरान 6,000 करोड़ रुपये खर्च किये जाने की संभावना है।
  • इसमें से 50% विश्व बैंक के ऋण के रूप में और शेष 50% नियमित बजट (केंद्रीय सहायता) के रूप में प्राप्त होगा।
  • विश्व बैंक की ऋण सहायता और केंद्रीय सहायता राज्यों को अनुदान के रूप में प्राप्त होगी।
  • योजना में बेहतर प्रदर्शन करने वाली ग्राम पंचायतों को अधिक धनराशि की जाएगी आवंटित।
Read Also ...  जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission)

अटल भूजल योजना का लाभ (Benefit of Atal Bhujal Yojana)

  • न्यू इंडिया को जल संकट से निपटने में मदद मिलेगी।
  • भू-जल स्तर में वृद्धि होगी।
  • अटल जल योजना और जल जीवन मिशन के संयुक्त प्रयास से देश के हर घर में पेयजल पहुँचाने के संकल्प को साकार किया जा सकेगा।
  • जल जीवन मिशन, हर घर तक पाइप जलापूर्ति पहुँचाने की दिशा में काम करेगा।

 

Read Also :

Read Related Posts

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!