भारत के उच्च न्यायालयों की सूची

भारत में कुल 25 उच्च न्यायालय (High Court) है जिनका अधिकार क्षेत्र कोई राज्य विशेष या राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के एक समूह होता हैं। उदाहरण के लिए, पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, पंजाब और हरियाणा राज्यों के साथ केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ को भी अपने अधिकार क्षेत्र में रखता हैं। भारत में मौजूद सभी उच्च न्यायालयों के बारे में :-

क्र. स. उच्च न्यायालय स्थापना न्यायिक क्षेत्र मुख्यपीठ व खंडपीठ
1. मुंबई 14 अगस्त 1862 महाराष्ट्र, गोवा,दादरा एवं नागर हवेली   मुंबई (खंडपीठ – नागपुर, पणजी और औरंगाबाद)
2 कलकत्ता 2 जुलाई 1862 पश्चिम बंगाल, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह कोलकाता (खंडपीठ – पोर्ट ब्लयेर में भ्रमणकारी)
3 मद्रास 5 अगस्त 1862 तमिलनाडु एवं पुडुचेरी मदुरै
4 इलाहाबाद 11 जून 1866 उत्तर प्रदेश इलाहाबाद (खंडपीठ – लखनऊ)
5 पंजाब एवं हरियाणा 15 अगस्त 1947 पंजाब, हरियाणा एवं चंडीगढ़ चंडीगढ़
6 कर्नाटक 1884 कर्नाटक बंगलुरु
7 पटना 2 सितम्बर 1916 बिहार पटना
8 जम्मू और कश्मीर 28 अगस्त 1928 जम्मू और कश्मीर जम्मू और कश्मीर
9 गुवाहाटी 1 मार्च 1948 असम, नागालैंड, मिजोरम और अरुणाचल प्रदेश गुवाहाटी (खंडपीठ – कोहिमा, आइजोल और ईटानगर)
10 ओडिशा 3 अप्रैल 1948 ओडिशा कटक
11 राजस्थान 21 जून 1949 राजस्थान जोधपुर (जयपुर में खंडपीठ)
12 तेलंगाना 5 जुलाई 1954 तेलंगाना हैदराबाद
13 मध्य प्रदेश 2 जनवरी 1936 मध्य प्रदेश जबलपुर (खंडपीठ – इंदौर, ग्वालियर)
14 केरल 1958 केरल एवं लक्षद्वीप कोच्चि (खंडपीठ –  पोर्ट ब्लेयर)
15 गुजरात 1 मई 1960 गुजरात अहमदाबाद
16 दिल्ली 31 अक्टूबर 1966 दिल्ली दिल्ली
17 हिमाचल प्रदेश 1971 हिमाचल प्रदेश शिमला
18 सिक्किम 16 मई 1975 सिक्किम गंगटोक
19 उत्तराखंड 9 नवंबर 2000 उत्तराखंड नैनीताल
20 झारखण्ड   15 नवंबर 2000 झारखण्ड   रांची (खंडपीठ – धारवाड़, गुलबर्गा)
21 छत्तीसगढ़ 1 नवंबर 2000 छत्तीसगढ़ बिलासपुर
22 मेघालय 23 मार्च 2013 मेघालय शिलोंग (खंडपीठ- औरंगाबाद, नागपुर, पणजी)
23 त्रिपुरा 26 मार्च 2013 त्रिपुरा अगरतला
24 मणिपुर 25 मार्च 2013 मणिपुर इम्फाल
25 आंध्र प्रदेश 1 जनवरी 2019 आंध्र प्रदेश अमरावती
Read Also ...  भारत के प्रधानमंत्री (Prime Minister of India)
Read More :

Read More Polity Notes

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!