राज्यों की स्टार्ट-अप रैंकिंग 2018

औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (DIPP – Department of Industrial Policy and Promotion) ने 20 दिसंबर, 2018 को नई दिल्ली में राज्यों की स्टार्ट-अप रैंकिंग 2018 के परिणाम घोषित कर दिए। पहली स्टार्टअप रैंकिंग में सौ फीसदी अंकों के साथ गुजरात बेस्ट परफॉर्मर घोषित किया गया। स्टार्ट-अप नीति नेतृत्व, नवाचार, नवाचार प्रगति, संचार, पूर्वोत्तर नेतृत्व, पर्वतीय राज्य नेतृत्व इत्यादि विभिन्न श्रेणियों में राज्यों का आकलन किया गया।

उद्देश्य

इसका उद्देश्य देश में उभरते उद्यमियों को प्रोत्साहन देना और योजना के तहत कर अवकाश और पूंजीगत लाभ कर की छूट दी जा रही है।

क्या है 

  1. इस पूरी प्रक्रिया में 27 राज्यों और तीन केन्द्रशासित प्रदेशों ने हिस्सा लिया। मूल्यांकन समिति में स्टार्ट-अप इको प्रणाली से संबंधित स्वतंत्र विशेषज्ञों को रखा गया था, जिन्होंने विभिन्न मानकों के ऊपर सभी राज्यों का मूल्यांकन किया। 
  2. कई मानक लाभार्थियों के फीडबैक से संबंधित भी थे। लाभार्थियों से बातचीत करने के लिए 9 विभिन्न भाषाओं में 40 हजार से अधिक टेलीफोन कॉल किए गए, ताकि मैदानी हकीकत जानी जा सके।
  3. इस अवसर पर डीआईपीपी के सचिव श्री रमेश अभिषेक ने कहा कि रोजगार सृजन के लिए स्टार्ट-अप देश में बहुत अहमियत रखते हैं। स्टार्ट-अप नए विचारों से लैस होते हैं और ये देश की सामाजिक, कृषि और सेवा क्षेत्र की समस्याएं हल करने में सक्षम होते हैं।

इन श्रेणियों में किए जाने वाले प्रदर्शन के आधार पर राज्यों को शानदार प्रदर्शन, बेहतरीन प्रदर्शन, मार्गदर्शक, आकांक्षी मार्गदर्शक, उभरते हुए राज्य और आरंभकर्ता के रूप में पहचान की गई है।

स्टार्ट-अप रैंकिंग

  • सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन (Best Performer) – गुजरात
  • बेहतरीन प्रदर्शन (Top Performers) कर्नाटक, केरल, ओडिशा और राजस्थान
  • मार्गदर्शक (Leaders) – आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और तेलंगाना
  • आकांक्षी मार्गदर्शक (Aspiring Leaders) – हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, उत्तर प्रदेश, और पश्चिम बंगाल
  • उदीयमान राज्य (Emerging States) – असम, दिल्ली, गोवा, जम्मू और कश्मीर, महाराष्ट्र, पंजाब, तमिलनाडु और उत्तराखंड
  • आरंभकर्ता (Beginners) – चंडीगढ़, मणिपुर, मिजोरम, नगालैंड, पुदुच्चेरी, सिक्किम और त्रिपुरा
Read Also ...  केन्‍द्रीय बजट 2019-20 (Union Budget 2019-20)

इस रैंकिंग से राज्यों को स्टार्ट-अप को प्रोत्साहन के लिए पारिस्थितिकी तंत्र को सुधारने में मदद मिलेगी.  इस रैंकिंग का आधार राज्यों द्वारा स्टार्ट-अप के लिए अनुकूल तंत्र विकसित करने के लिए किए गए प्रयास है।

Read Also … 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

close button
error: Content is protected !!