उन्नाव जनपद (Unnao District)

उन्नाव जनपद का परिचय (Introduction of Unnao District)

उन्नाव की स्थिति (Location of Unnao)

  • मुख्यालय – उन्नाव 
  • पुराना नाम व उपनाम – चंद्रशेखर आजाद नगर
  • मंडल  लखनऊ
  • क्षेत्रफल – 4,558 वर्ग किमी
  • सीमा रेखा
    • पूर्व में – रायबरेली
    • पश्चिम में – कानपूर नगर 
    • उत्तर में – हरदोई एवं लखनऊ
    • दक्षिण में – फतेहपुर एवं कानपूर नगर
  • राष्ट्रीय राजमार्ग – NH-232A, NH-025
  • नदियाँ – गंगा, साईं 
  • परियोजनाएँ – शारदा नहर 

उन्नाव  की प्रशासनिक परिचय (Administrative Introduction of Unnao)

  • विधानसभा क्षेत्र – 6 (बांगरमऊ, सफीपुर, मोहान, उन्नाव , भगवंत नगर,  पुरवा)
  • लोकसभा सीट – 1 (उन्नाव)
  • तहसील – 6 (उन्नाव, सफीपुर, हसनगंज, पुरवा, बीघापुर, बांगरमऊ)
  • विकासखंड (ब्लाक)  – 16 (असोहा, औरस, बांगरमऊ, बिछिया, बीघापुर, फतेहपुर चौरासी, गंज मुरादाबाद, हसनगंज, हिलौली, मियागंज, नवाबगंज, पुरवा, सफीपुर, सिकंदरपुर करन, सिकंदरपुर सरोसी, सुमेरपुर )
  • कुल ग्राम पंचायत – 1,044
  • नगर पालिका परिषद – 3 (उन्नाव, बंगारमाऊ, गंगाघाट)
  • नगर पंचायत – 15

उन्नाव  की जनसंख्या (Population of Unnao)

  • जनसंख्या – 31,08,367
    • पुरुष जनसंख्या – 16,30,087
    • महिला जनसंख्या – 14,78,280
  • शहरी जनसंख्या – 5,31,646 (17.10%)
  • ग्रामीण जनसंख्या – 25,76,721 (82.90 %)
  • साक्षरता दर – 66.37%
    • पुरुष साक्षरता – 75.05%
    • महिला साक्षरता – 56.76%
  • जनसंख्या घनत्व – 682
  • लिंगानुपात – 907
  • जनसंख्या वृद्धि दर – 15.11%
  • हिन्दू जनसंख्या – 27,32,016 (87.89%)
  • मुस्लिम जनसंख्या – 3,63,453 (11.69%)
  • इस्लाम जनसंख्या – 3,574 (0.11%)

Population Source – census2011.co.in

उन्नाव के संस्थान व प्रमुख स्थान (Institution & Prime Location of Unnao)

  • प्रसिद्ध स्थल – बड़ारका हरबंस, 
  • उद्योग – ज़री-जरदोज़ी हस्तशिल्प उद्योग, चमड़ा उद्योग, कपड़ा और होजरी आधारित उद्योग, मुद्रण और मरना, रासायनिक उद्योग, खाद्य / पेय पदार्थ आधारित
  • अभयारण्य – शहीद चंद्रशेखर आज़ाद पक्षी अभयारण्य (नवाबगंज पक्षी अभयारण्य)
Read Also ...  मथुरा जनपद (Mathura District)

Notes –

  • 1857-1858 के आजादी के संघर्ष के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी से ब्रिटिश क्राउन तक सत्ता का हस्तांतरण किया गया। जैसे ही आदेश बहाल किया गया था, नागरिक प्रशासन को जिले में फिर से स्थापित किया गया था जिसका नाम उन्नाव नाम था, उन्नाव में मुख्यालय के साथ। जिला का आकार 1869 तक छोटा था, जब इसे अपने मौजूदा स्वरूप में ग्रहण किया गया था। उसी वर्ष उन्नाव का शहर एक नगर पालिका का गठन किया गया था।
  • प्राचीन काल में उन्नाव के वर्तमान जिले द्वारा कवर क्षेत्र कोसाला के रूप में जाने वाले क्षेत्र का हिस्सा बन गया और बाद में अवध के सुभा या बस अवध में शामिल किया गया।

 

Read Also :

Related Post ….

 

close button
error: Content is protected !!