Uttrakhand ke Himnad Archives | TheExamPillar

Uttrakhand ke Himnad

उत्तराखण्ड के ग्लेशियर (हिमनद) 

उत्तराखण्ड के हिमनद (ग्लेशियर) 

पर्वतीय ढालों पर हिम के सरकने से हिमनदियों की उत्पत्ति होती है। वृहत हिमालय में विशाल हिमनद (ग्लेशियर – Glacier) पाए जाते हैं, हिमनदों (Glaciers) को हिमानियाँ (Glaciers), बर्फ की नदियाँ व बमक कहा जाता है। उत्तराखण्ड हिमालय में कई प्रसिद्ध हिमानिया — गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बद्रीनाथ, सुन्दरदुंगा (बागेश्वर) नन्दादेवी, अरवा, पिण्डारी आदि अवस्थित हैं।

गंगोत्री ग्लेशियर (Gangotri Glacier)

  • उत्तरकाशी में गंगोत्री ग्लेशियर गढ़वाल हिमालय की चौखम्बा पर्वत चोटी के पश्चिमी ढाल पर स्थित। यह उत्तराखण्ड राज्य का सबसे बड़ा हिमनद है।
  • इसकी लम्बाई 30 किमी तथा औसत चौड़ाई 2 किमी है। यह हिमानी प्रतिवर्ष लगभग 22 मी पीछे खिसक रही है।
  • यह हिमनद चतुरंगी, स्वच्छन्द, कैलाश आदि हिमनदों से जुड़ा हुआ है।

चौराबाडी ग्लेशियर (Chorabari Glacier)

  • यह रुद्रप्रयाग में स्थित 14 किमी लम्बा व 500 मी चौड़ा ग्लेशियर है। यह हिमनद प्रसिद्ध केदारनाथ मन्दिर के पीछे स्थित भरतखुंटा और कीर्ति स्तम्भ के ढालों से प्रारम्भ होता है। 

भागीरथी खड़क सतोपन्थ ग्लेशियर (Bhagirathi Khadak Satopanth Glacier)

  • सतोपन्थ व भागीरथी ग्लेशियर नीलकण्ठ पर्वत के पूर्व में एक मुख की भाँति स्थित है। इस स्थान को अलकापुरी कहा जाता है। ग्लेशियर 13 किमी तथा भागीरथी ग्लेशियर 18 किमी लम्बा है। यह ग्लेशियर चमोली जनपद में है। 
  • यह दोनों मिलकर अलकनन्दा का उद्गम बनाते हैं। 

पिण्डारी ग्लेशियर (Pindari Glacier)

  • पिण्डारी ग्लेशियर की लम्बाई लगभग 30 किमी तथा औसत चौड़ाई 385 मी है।  यह बागेश्वर जिले में अवस्थित है। यह राज्य का दूसरा सबसे बड़ा हिमनद है। 
  • पिण्डारी ग्लेशियर पिथौरागढ़, चमोली और बागेश्वर में फेला हुआ है।
  • यह नन्दादेवी, त्रिशूल व नन्दकोट शिखरों के मध्य स्थित है।
  • अलकनन्दा की सहायक नदी पिण्डार इसी ग्लेशियर से निकलती है।
  • कस्तूरी मृग, मोनाल पक्षी, बह्मकमल व भोजपत्र के वृक्ष यहाँ देखे जा सकते हैं।

खतलिंग ग्लेशियर (Khatling Glacier)

  • केदारनाथ धाम के पश्चिम में 10 किमी की दूरी एवं 4,800 मी. की ऊँचाई पर यह ग्लेशियर स्थित है। 
  • कांठा, सतलिंग तथा दूध डोडी हिमनद में मिलने वाली तीन छोटी-छोटी हिमानियाँ हैं।  
  • यह टिहरी में स्थित है। 

मिलम ग्लेशियर (Milam Glacier)

  • मिलम ग्लेशियर त्रिशूल पर्वत के दक्षिण में स्थित है। इस हिमानी की कुल लम्बाई लगभग 16 किमी है। इस हिमानी में हिम की कुल मोटाई लगभग 100 मी आँकी गई है। यह कुमाऊँ मण्डल का सबसे बड़ा हिमनद है, जो पिथौरागढ़ में स्थित है।

कफनी ग्लेशियर (Kafani Glacier)

  • यह ग्लेशियर बागेश्वर जनपद में पिण्डर घाटी के बाईं ओर तथा नन्दाकोट शिखर के नीचे स्थित है।

बन्दरपूँछ ग्लेशियर (Bandarpunch Glacier)

  • यह ग्लेशियर बन्दरपूँछ शिखर के पश्चिम में तथा खतलिंग शिखर के उत्तरी ढाल पर दूनागिरि ग्लेशियर चमोली स्थित है।
  • इसकी लम्बाई 12 किमी है। यह उत्तरकाशी (गढ़वाल हिमालय) में अवस्थित है। 

राज्य के अन्य प्रमुख ग्लेशियर 

ग्लेशियर जनपद 
काली ग्लेशियर  पिथौरागढ़
नामिक ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
पिनौरा ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
रालम ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
पोण्टिग ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
हीरामणि ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
बाल्टी ग्लेशियर  पिथौरागढ़ 
सोना ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
कलाबलंद ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
नोर्थेर्ण ल्वान्ल ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
बामलास ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
लोअर ल्वान्ल ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
बलती ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
तेराहर ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
तल्कोट ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
रालामाग ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
संकल्पा मिडिल, लोव्लान्ल लोअर पोल्टिंग ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
लोअर धौली, धौली उपर, मिडिल धौली ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
कुटी के ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
बालिंग गोल्फु ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
सोबला तेजम ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
यांगती बेसिन ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
लास्सर ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
राल्माग  उपर ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
मेओला ग्लेशियर पिथौरागढ़ 
सुन्दरधुंगा ग्लेशियर बागेश्वर
सुखराम ग्लेशियर बागेश्वर
मैकतोली ग्लेशियर बागेश्वर
यमुनोत्री ग्लेशियर उत्तरकाशी
डोरियानी  ग्लेशियर उत्तरकाशी
चौराबाड़ी ग्लेशियर रुद्रप्रयाग और टिहरी 
केदारनाथ ग्लेशियर रुद्रप्रयाग
दूनागिरी ग्लेशियर चमोली
हिपराबमक ग्लेशियर चमोली
बद्रीनाथ ग्लेशियर चमोली
मैणादि ग्लेशियर  चमोली
स्वछन्द ग्लेशियर चमोली
चतुरंगी ग्लेशियर  चमोली
गनोहीम ग्लेशियर  चमोली
कीर्ति ग्लेशियर  चमोली
भ्रिगुपाथ ग्लेशियर  चमोली
मेरु (मेरो) ग्लेशियर  चमोली
रक्तावर्धन ग्लेशियर  चमोली
जंदधर ग्लेशियर  चमोली
सायर ग्लेशियर  चमोली
राहता ग्लेशियर  चमोली
चरन ग्लेशियर  चमोली
बरतिआखो ग्लेशियर  चमोली

 

Read Also :
error: Content is protected !!